गोरखपुर: गीता प्रेस में 4 जून को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यक्रम स्थल तथा आने जाने वाले रूट का एडीजी जोन डीआईजी गोरखपुर परिक्षेत्र गोरखपुर कमिश्नर गोरखपुर एसपी सिटी /कार्यवाहक एसएसपी एसपी क्राइम गीता प्रेस कार्यक्रम स्थल राष्ट्रपति के आगमन रूट तथा सर्किट हाउस का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया इससे पूर्व जिलाधिकारी विजय किरन आनंद राष्ट्रपति के आने की सूचना पर सोमवार को सिटी मजिस्ट्रेट अभिनव रंजन श्रीवास्तव के साथ कार्यक्रम स्थल व अन्य संसाधनों की व्यवस्थाओं का जायजा ले चुके हैं आज मंगलवार को एडीजी जोन अखिल कुमार डीआईजी गोरखपुर परिक्षेत्र गोरखपुर जे रविंद्र गौड़ कमिश्नर गोरखपुर रवि कुमार एनजी एसपी सिटी/ कार्यवाहक एसएसपी कृष्ण बिश्नोई पुलिस अधीक्षक अपराध श्रीमती इंदु प्रभा सिंह क्षेत्राधिकारी कोतवाली विमल कुमार सिंह के साथ गीता प्रेस पहुंचकर कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर गीता प्रेस ट्रस्टी के साथ बैठक कर राष्ट्रपति के आने वाले रूट व सर्किट हाउस का निरीक्षण कर संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिया बैठक के दौरान राष्ट्रपति के सर्किट हाउस में रुकने और उनकी सुरक्षा को लेकर चर्चा की गई। इसके साथ ही राष्ट्रपति के सड़क मार्ग से आवागमन को लेकर भी चर्चा की गई। राष्ट्रपति किस मार्ग से जा सकते हैं। वैकल्पिक मार्ग किसे बनाया जाए। कार्यक्रम के मिनट टू मिनट और कार्यक्रम में पत्रकारों विशिष्ट अतिथियों के बैठने पार्किंग स्थलों तथा सुरक्षा व्यवस्था सुरक्षा का खाका खींचा गया बैठक के दौरान ट्रस्टी बैजनाथ अग्रवाल ट्रस्टी देवीदयाल ट्रस्टी माधव जलान व लाल मणि तिवारी के साथ गीता प्रेस कार्यालय में बैठक किया। कार्यक्रम के दौरान पार्किंग स्थल रूट डायवर्जन वीआईपी के आने का रूट एयरपोर्ट से सर्किट हाउस वहां से गीता प्रेस आने का रूट का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया जहां राष्ट्रपति के आगमन के दौरान परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रखी जाएगी जहां सुरक्षा व्यवस्था में आईजी रैंक के अधिकारी को लगाया जाएगा आने जाने वाले रूटों पर पढ़ने वाले मकानों के छतों पर फोर्स निगरानी के लिए लगाई जाएगी।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद चार जून को गोरखपुर आएंगे। दुनिया में श्रीमद्भगवद्गीता का प्रसार करने वाला गोरखपुर का गीता प्रेस इस समय अपने शताब्दी समारोह को संबोधित कर रहा है। यह समारोह 14 अप्रैल से शुरू है। इसी समारोह का हिस्सा बनने गोरखपुर आ रहे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शाम पांच बजे आयोजित संगोष्ठी का बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा बनेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वही इस कार्यक्रम में उनके स्वागत के लिए राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वयं उनके स्वागत के लिए मौजूद रहेंगे
शताब्दी समारोह की शुरुआत 14 अप्रैल से पूजन अर्चन के साथ शुरू हो चुका है। राष्ट्रपति के उपस्थिति में गोष्टी पहला बड़ा कार्यक्रम होगा। हालांकि गोष्टी का कोई विषय नहीं रखा गया है। राष्ट्रपति सबसे पहले लीला चित्र मंदिर का दर्शन करेंगे फिर स्वेच्छा से अपना उद्बोधन देंगे।
3 दिसंबर को गीता जयंती वह 3 मई 2023 को समापन अवसर पर बड़ा कार्यक्रम आयोजन किया जाएगा और गीता जयंती पर भी कथा आयोजित किया जाएगा। लेकिन कथा और कथा व्यास अभी तय नहीं हुआ है। वहीं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पहली बार आर्ट पेपर पर प्रकाशित विशिष्ट रामचरितमानस व गीताप्रेस के संस्थापक सेठजी जयदयाल गोयदका द्वारा लिखी गीता पर टीका तत्व विवेचनी के परिवर्धित संस्करण का लोकार्पण करेंगे। श्रीरामचरितमानस 305 रंगीन चित्रों के साथ प्रकाशित किया गया है।

Previous articleदिशा की बैठक में माननीय सांसद सारण- सह- अध्यक्ष के द्वारा दिये गये आवश्यक निर्देश
Next articleभखुरा भीठी स्थिति एसबीआई सीएसपी का लॉगिन नहीं होने से व्यवसाई हुए परेशान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here