रेलवे ने प्रीमियम ट्रेनों में उन सभी खाने-पीने के वस्तुओं पर सर्विस टैक्स हटा दिया है, जिनका ऑर्डर पहले नहीं दिया गया हो। लेकिन, स्नैक्स, लंच और डिनर की कीमतों में सेवा शुल्क 50 रुपये जोड़ दिया गया है। इन ट्रेनों में अब चाय और कॉफी की कीमतें उन सभी यात्रियों के लिए बराबर होंगी, जिन्होंने इसका पहले ऑर्डर दिया हो या ट्रेन में ऑर्डर दिया हो। इनकी दरों में कोई वृद्धि नहीं होगी।

IRCTC के पिछले नियमों के अनुसार यदि व्यक्ति ने ट्रेन टिकट के साथ अपना भोजन बुक नहीं किया हो तो उसे यात्रा के दौरान खाना ऑर्डर करते समय अतिरिक्त 50 रुपये का भुगतान करना पड़ता था। भले ही वह सिर्फ 20 रुपये की चाय या कॉफी मंगवाए तो भी उसे 70 रुपये देना होते थे।

प्रीमियम ट्रेनों में शताब्दी, राजधानी, वंदे भारत, तेजस और दुरंतो एक्सप्रेस शामिल हैं। रेलवे बोर्ड ने 15 जुलाई को जारी आदेश के साथ खाने-पीने की चीजों को लेकर एक चार्ट भी जारी किया है। अधिसूचना में कहा गया है कि उन यात्रियों से 50 रुपये अतिरिक्त शुल्क वसूला जाएगा, जो ट्रेन में भोजन का विकल्प चुनते हैं और ट्रेन टिकट बुक करते समय इसे पहले से बुक नहीं किया था।
पहले नाश्ते, दोपहर के भोजन और शाम के नाश्ते की दरें क्रमशः 105 रुपये, 185 रुपये और 90 रुपये थी। यात्रियों को अब इनके लिए क्रमश: 155 रुपये, 235 रुपये और 140 रुपये का भुगतान करना होगा। भोजन की लागत में सर्विस टैक्स भी जोड़ा जाएगा।

Previous articleAGNIPATH: जाति प्रमाण पत्र मांगे जाने पर सरकार ने क्या कहा?
Next articleखाद्य पदार्थों को खुले में बेचने पर GST नहीं, वित मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here