सारण, छपरा 04 जुलाई : आयुक्त सारण प्रमंडल श्रीमती पूनम की अध्यक्षता में तथा सचिव ग्रामीण विकास विभाग, बिहार श्री बालामुरुगन डी की उपस्थिति में आज दिनांक 04.07.2022 को प्रधानमंत्री आवास योजना, ग्रामीण, लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान, जल-जीवन-हरियाली अभियान एवं मनरेगा योजना के प्रगति से संबंधित प्रमंडल स्तरीय समीक्षात्मक बैठक आयुक्त सारण प्रमंडल के कार्यालय कक्ष में आहूत की गयी। समीक्षा बैठक में सारण, सीवान एवं गोपालगंज के जिला पदाधिकारी उपस्थित थे।
बैठक को संबोधित करते हुए सचिव, ग्रामीण विकास विभाग, बिहार, श्री बालामुरुगन डी ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, आवास प्लस एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना में प्रमंडल के तीनों जिला में प्रगति की आवष्यकता है। सभी जिला पदाधिकारीगणों को सतत अनुश्रवण करते हुए 15 अगस्त 2022 के पूर्व अपेक्षित प्रगति लाने का निर्देश सचिव महोदय के द्वारा दिया गया। वैसे गैरजिम्मेवार आवास सहायकों को पदच्चूत करने की भी कहा गया जो लगातार खराब प्रदर्शन कर रहे है। आवास सहायकों के प्रतिदिन के कार्यो की भी समीक्षा करने का निर्देश दिया गया। सचिव महोदय के द्वारा समीक्षा के क्रम में जानकारी देते हुए बताया गया कि पूरे भारत में सबसे ज्यादा आवास बनाने का लक्ष्य बिहार को दिया गया है। अतएव कार्य में तेजी नही लाने की स्थिति में राज्य के रैकिंग पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। सचिव महोदय के द्वारा आवास योजनाओं के बारे में अधिक से अधिक जानकारी लाभुकों तक पहूॅचाने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करवाने की भी निदेष दिया गया। उन्होंने कहा कि इस कार्य मे जीविका दीदीओं से मदद लेने की आवश्यकता है।
आवास योजनाओं की समीक्षा के पश्चात मनरेगा की समीक्षा की गयी। मनरेगा आयुक्त श्री राहुल कुमार (भा.प्र.से.) ने बताया गया कि मनरेगा सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक है। इसके तहत जॉबकार्ड के माध्यम से श्रमिकों को जीविकोपार्जन हेतु कार्य दिया जाता है। मनरेगा के तहत किये जा रहे कार्यों का भी अनुश्रवण करने का निर्देश जिला पदाधिकारीगणों को दिया गया। सचिव महोदय के द्वारा जल-जीवन-हरियाली योजनाओं की समीक्षा में बताया गया कि राज्य सरकार के द्वारा लिये गये निर्णय के आलोक में सभी सरकारी तालाबों से शत-प्रतिशत अतिक्रमण हटाया जाना है। तत्पश्चात सौन्दर्यीकरण का कार्य किया जाना है। अतएव किये जा रहे कार्यों का सतत अनुश्रवण करते रहें। उन्होंने कहा कि जल्द ही जल-जीवन-हरियाली द्वितीय चरण प्रारंभ होने की भी जानकारी दी गयी। इसके तहत आगामी पाँच वर्षाे में पाँच करोड़ वृक्ष लगाने का लक्ष्य रखे जाने की जानकारी दी गयी।
लोहिया स्वच्छ अभियान के तहत सामुदायिक शौचालयों के निर्माण कार्य मे तेजी लानेे का निदेष दिया गया। सभी पंचायतों को जेम पोर्टल पर रजिस्टर्ड करवाने का निर्देश उपस्थित जिला पंचायती राज पदाधिकारीगणों को दिया गया। ताकि भविष्य में इसका प्रयोग किया जा सके। प्रत्येक पंचायत में कचड़ा को निष्पादित करने हेतु पहल प्रारंभ करने को कहा गया। शराब बंदी कानून को प्रभावी ढंग से लागू करने में इस पेशे से पूर्व से जुड़े परिवार के जीविकोपार्जन हेतु सरकार के द्वारा चलाई जा रही सतत जीविकोपार्जन योजना के लाभ की जानकारी शराब के धंधे में लगे परिवार को दी जानी चाहिए ताकि इस धंधे से व्यापार विहीन लोग सरकार की सतत जीविकोपार्जन योजना का लाभ उठा सके। ताकि वे पुनः पुराने धंधे पर नही लौटे।
सचिव महोदय के द्वारा जल्द ही पुनः दिये गये निर्देशों के आलोक में पुनर्समीक्षा करने की बात बतायी गयी। बैठक में सारण, सीवान एवं गोपालगंज के जिला पदाधिकारी, मुख्यालय पटना से आये संबंधित विभाग के पदाधिकारीगण, तीनों जिला के पंचायत राज पदाधिकारी एवं उप निदेशक, सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग उपस्थित थे।

Previous articleजन अधिकार छात्र परिषद ने कुलपति को सौपा ज्ञापन
Next articleशांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न होगी CET-B.Ed-2022 की परीक्षा- जिलाधिकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here