सहरसा, 23 अप्रैल: बीते कुछ दिनों से देश के कई हिस्सों खासकर देश की राजधानी दिल्ली से कोरोना संक्रमण के नये मामलों के मिलने एवं प्रत्येक दिन इसके बढ़ने की खबरें आ रहीं हैं। ऐसे में एक बार फिर हम लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। कई प्रकार के परिवर्त्तन कर चुका कोरोना वायरस देश ही नहीं अपितु विश्व के कई हिस्सों में नये मामले प्रतिवेदित करने में सफल हो रहा है। इसलिए देश के कई हिस्सों से कोरोना के नये मामलों के प्रतिवेदित होने के बीच हम लोगों को सतर्क व सचेत रहना बहुत जरूरी है। सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देश के आलोक में जिले में जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा कोविड जांच बढ़ाने पर जोर दिया गया है। वर्त्तमान समय में जिले में प्रखंड स्तर पर आयोजित किये जा रहे मेले के दौरान भी कोविड जांच की सुविधा प्रदान करते हुए लोगों का कोविड जांच की गयी है। वहीं कोविड जांच के कई केन्द्र भी स्थापित किये गये हैं। वैसे हालिया आंकड़ों को मानें तो राज्य में देश के औसत से अधिक कोविड जांच किये गये हैं ,जो सरकार एवं लोगों में कोरोना के प्रति सजगता को दर्शाता है।

कोरोना संक्रमण की स्थिति का पता लगाने को जारी है कोरोना टेस्ट-
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. कुमार विवेकानंद ने बताया जिले में बीते बुधवार से ही रैपिड एंटीजेन टेस्ट करने के निर्देश जारी किये गये हैं। जिसमें जिले के सभी प्रखंडों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, शहरी क्षेत्र के दोनों प्राथमिक केन्द्रों एवं सदर अस्पताल सहरसा में रैपिड एंटीजेन टेस्ट किये जा रहे हैं । ताकि जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति का पता चल सके। वहीं इस बीच जिले में आरटीपीसीआर टेस्ट सुविधा भी यथाशीघ्र आरंभ होने जा रही है। जिससे जिलेवासियों को आरटीपीसीआर जांच की सुविधा मिल सकेगी। पहले इसके लिए जिले में एकत्रित किये गये नमूने जांच के लिए जिले से बाहर भेजे जाते थे, जिनका परिणाम आने में एक से दो दिन लगा जाता था। इस बीच कोरोना संक्रमण के प्रसार की आशंका बनी रहती थी। लेकिन जिले के सदर अस्पताल में आरटीपीसीआर जांच की सुविधा हो जाने से लोगों को दो से तीन घंटे में उनका आरटीपीसीआर परीक्षण के के परिणाम मिल पायेंगे।

बचाव का बेहतर उपाय टीकाकरण-
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने बताया अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग, बिहार, पटना द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से प्राप्त निदेश के आलोक में सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देश के आलोक में पूर्व में जिले में संचालित सभी 9 टू 9 सत्रों एवं मॉडल इम्युनाइजेशन सेन्टर/कॉर्नर पर कोविड- 19 टीकाकरण करवाना सुनिश्चित किया जा रहा है। जहाँ योग्य लाभार्थियों को पहला, दूसरा एवं प्रीकॉशन डोज लगाना सुनिश्चित किया जाना है। पंचायतवार उक्त लाभार्थियों के टीकाकरण हेतु कार्ययोजना भी उपलब्ध कराने के निदेश जारी किये गये हैं। उन्होने बताया सरकार द्वारा लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के टीके मुफ्त दिये जा रहे हैं लेकिन यदि किसी कारणवश 12 से अधिक आयु के कोई भी लाभार्थी कोविड- 19 टीकाकरण से वंचित रह गये हैं तो या अपना दूसरा या प्रीकॉशन डोज नहीं ले पाये हैं नजदीकी कोविड- 19 टीककारण सत्र स्थलों पर जाकर अपना टीका अवश्य लगायें। कोविड- 19 टीकाकरण की अनेदेखी न करें। समय पर अपना टीका न लगाकर वे न केवल अपने आपको बल्कि अपने आस-पास रहने वालों के लिए भी कोरोना संक्रमण प्रसार का कारण बन सकते हैं। कोरोना संक्रमण का शिकार होने से बेहतर होगा कि बचाव के टीके लगवाये जायें।

Previous articleवीर कुंवर सिंह विजयोत्सव : जगदीशपुर में बनेगा भव्य स्मारक
Next articleमेरा इस्तीफा स्थायी रूप से कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया ग़ांधी के पास अशोक गहलोत

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here