• कालाजार उन्मूलन की ओर अग्रसर है सीवान
• जिले में चल रहा छिड़काव अभियान
• जनप्रतिनिधियों को भी किया गया शामिल

सीवान: जिले में कालाजार उन्मूलन को लेकर स्वास्थ्य विभाग संकल्पित है। इसको लेकर लगातार विभिन्न स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। इसी कड़ी में गोरेयाकोठी प्रखंड के सिसई गांव में में जीविका दीदीयों के द्वारा जन-जागरूकता के लिए रैली निकाली गयी। रैली को जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. एमआर रंजन ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली के माध्यम से जीविका दीदीयों के द्वारा कालाजार से बचाव तथा उपचार की जानकारी दी गयी। गांव के लोगों से छिड़काव कार्य में सहयोग करने की अपील की गयी। डीएमओ डॉ. एमआर रंजन ने कहा कि छिड़काव कार्य योजना के अनुसार सभी कालाजार प्रभावित गांवों के सभी घरों, गौशालाओं में दवा का छिड़काव कराया जाना है। गुणवत्तापूर्ण छिड़काव की दृष्टि से पर्यवेक्षण अत्यंत आवश्यक है। प्रखंडस्तर पर विभिन्न स्तर के पदाधिकारियों के द्वारा पर्यवेक्षण सुनिश्चित की जाएगी। इस मौके पर केयर इंडिया के डीपीओ ओमप्रकाश नायक, भीबीडीसीओ राजेश कुमार, भीबीडीसी मुकेश कुमार उपाध्याय, पीसीआई के आरएमसी जुलेखा फातमा समेत अन्य मौजूद थे।

बैनर पोस्टर के माध्यम से किया जा रहा है जागरूक:
पीसीआई के आरएमसी जुलेखा फातमा ने बताया कि कालाजार से बचाव के उपाय, लक्षण तथा उपचार के बारे में जन-जागरूकता फैलाया जा रहा है। आशा कार्यकर्ता, जीविका दीदी और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित कर जागरूक किया जा रहा है। इसके साथ शहर के कई प्रमुख स्थानों पर होर्डिंग लगाया गया है। ताकि अधिक से अधिक लोगों को जागरूक किया जा सके। पोस्टर का वितरण किया जा रहा है।


6 प्रखंडों में चल रहा छिड़काव कार्य
जिले के कालाजार प्रभावित 6 प्रखंडों में घर-घर जाकर सिथेटिक पैराथैराइड का छिड़काव किया जा रहा है। इस दौरान छिड़काव कर्मी संदिग्ध कालाजार मरीजों की खोज की जा रही है। अभियान को सफल बनाने के लिए जिला एवं प्रखंड स्तर पर पदाधिकारियों और सहयोगी संस्थाओं के अनुश्रवण किया जा रहा है। सिंथेटिक पैराथाराइड का घोल प्रति 7.5 लीटर पानी में 125 ग्राम सिंथेटिक पैराथाराइड पाउडर मिलाकर तैयार की जाएगी। दवा छिड़काव से दो दिन पहले आशा गांव के लोगों को सूचना देगी। इसके लिए प्रोत्साहन राशि के रूप में आशा को 200 रुपए अश्विन पोर्टल के माध्यम से भुगतान किए जाएंगे।

Previous articleकृमि से बचाव के लिए बच्चों को खिलायी गयी अल्बेंडाजोल की दवा, 23,70,177 बच्चों को दवा खिलाने का लक्ष्य
Next articleफाइलेरिया मरीजों के बीच कीट का हुआ वितरण, बचाव के बारे में दी गयी जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here