COAL CRISIS: बिजली घरों में कोयले की कमी (Coal Crisis) न हो इसके लिए रेलवे पूरी तरह कमर कस चुका है. कोयले की आपूर्ति पूरी करने के लिए ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा रही है. ट्रैक पर ट्रैफिक कम हो इसके लिए यात्री ट्रेनों को रद्द किया जा रहा है।
बिजली संकट का मुकाबला करने के लिए रेलवे ने देश के अलग-अलग बिजली संयंत्रों में कोयले के परिवहन के लिए 86 फीसदी तक ओपन बैगन को तैनात किया है. अपने बेड़े में 1,31,403 बॉक्सएन (BOXN) या ओपन बैगन में से रेलवे कोयला और बिजली मंत्रालयों के परामर्श से राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर द्वारा तैयार की गई योजना के तहत कोयला परिवहन के लिए 1,13,880 ओपन बैगन का इस्तेमाल कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक कोयला ले जाने के लिए रेलवे बोगियों की मरम्मत देरी से करा रहा है।

Previous articleमिशन इंद्रधनुष: 609 सत्र आयोजित कर 8630 बच्चों व 1249 गर्भवतियों को लगाया जा रहा टीका
Next articleAISF सारण ने मनाईं सर्वहारा जगत के प्रणेता कार्ल मार्क्स की 204 वी जयंती

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here