छपरा, 09 जून: देश का पहला छात्र संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) बिहार राज्य सह सचिव राहुल कुमार यादव को पिछले 17 जून को गरखा में नई सेना भर्ती प्रक्रिया (अग्निपथ) के खिलाफ संगठन के सैकड़ों छात्र-युवाओं, सेना अभ्यर्थियों के साथ उग्र प्रदर्शन करते हुए गिरफ्तार किया गया था. गरखा पुलिस ने प्रदर्शन स्थल गरखा इंद्रदेव चौक से छात्र नेता राहुल कुमार यादव समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर चार नामजद समेत 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 353 समेत अन्य सात धाराओं में मामला दर्ज कर छात्र नेता राहुल कुमार यादव समेत चार लोगों को जेल भेज दिया था. इस मामले में डिस्ट्रिक्ट जज के पास से छात्र नेता राहुल कुमार यादव, पुरन कुमार, शशि कुमार, समेत अन्य सभी अभियुक्तों को बेल मिलने के बाद शनिवार को 21 दिनों बाद जेल से रिहा कर दिया गया. जेल से बाहर निकलते हीं जेल गेट पर एआईएसएफ संगठन व सीपीआई के नेताओं, समर्थकों ने छात्र नेता राहुल कुमार यादव का फूल-मालाओं के साथ जोरदार स्वागत कर उनके समर्थन में नारेबाजी किया. जेल गेट से बाहर निकलते ही स्वागत के बाद प्रफुल्लित छात्र नेता राहुल कुमार यादव ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार देश के छात्र-युवाओं की भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है और जब देश के नागरिक अपने संवैधानिक अधिकारों के तहत सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ सड़क पर शांतिपूर्वक विरोध जता रहे तो उनके ऊपर झूठे मुकदमें दर्ज कर आर्थिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रही है, जिसे लोकतंत्र में कतई बर्दाश्त नहीं जा सकता. उन्होंने कहा कि एआईएसएफ संगठन का जन्म हीं आजादी के संघर्षों के बीच हुआ था और उस समय से लेकर आज तक संगठन छात्र-युवाओं, किसान-मजदूरों के हक और अधिकार के लिए शिक्षा और रोजगार के लिए संघर्षरत है.
छात्र नेता ने कहा कि हम केंद्र व राज्य सरकार की दमनकारी नीतियों, झुठे मुकदमे दर्ज कर जेल में डालने से डरने वाले नहीं हैं. आगे-आने वाले दिनों में और मजबूती के साथ छात्र-युवाओं को एकजुट कर लोकतांत्रिक तरीके से सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ सड़क पर संघर्ष तेज करेंगे.
जेल से रिहा होने पर छात्र नेताओं का स्वागत कर हर्ष व्यक्त करने वालों में मुख्य रूप से सीपीएम विधायक सतेन्द्र यादव, एआईएसएफ राज्य अध्यक्ष आमीन हमजा, एसएफआई राज्य अध्यक्ष शैलेंद्र यादव, सीपीआई जिला सचिव रामबाबू सिंह, सुरेंद्र सौरभ, चुल्हन प्रसाद सिंह, वरीय अधिवक्ता सुरेंद्र नाथ त्रिपाठी, महात्मा प्रसाद गुप्ता, डाॅ. केएन सिंह, डॉ रविंद्र प्रसाद, मुखिया प्रतिनिधि गुलामे गौस, शिक्षक सोहैल अख्तर, शिक्षक शब्बीर खान, जिलाध्यक्ष रूपेश कुमार यादव, सद्दाब मजहरी, विश्वजीत कुमार, गुड्डू यादव, नवजीवन कुशवाहा, रंधीर यादव, सहित सैकड़ों लोगों ने हर्ष जताया है.

Previous articleलायन नम्रता सिंह के जन्मदिन पर छपरा ब्लड बैंक में रक्तवीरों हेतु कराई गई एनर्जी ड्रिंक उपलब्ध
Next articleसमन्वय स्थापित कर करें कार्यों का संपादन – जिलाधिकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here