वाराणसी 01जुलाई: रेलवे सुरक्षा बल, पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा रेल सम्पत्ति की सुरक्षा एवं अवैध सामानों की धर-पकड़ सहित यात्रियों को सुरक्षा प्रदान करने का निरन्तर प्रयास किया जाता है। इसी क्रम में वाराणसी मंडल की रेलवे सुरक्षा बल टीम को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है। अग्निवीर योजना का विरोध कर रहे छात्रों एवं प्रदर्शनकारियों द्वारा गोपालगंज जिले के सिधवलिया स्टेशन पर 16 जून को खड़ी ट्रेन के कोच में आग लगा दिया गया था । जिसके मुख्य आरोपी पप्पू कुमार सिंह उर्फ रवि रंजन को आरपीएफ ने जीआरपी के सहयोग से कल 01 जुलाई शुक्रवार की शाम गिरफ्तार कर लिया । सीवान के रेलवे सुरक्षा बल के निरीक्षक अजय कुमार यादव के नेतृत्व में आरपीएफ सीवान, थावे, जीआरपी थावे एवं जीआरपी सीवान की संयुक्त टीम ने गोपालगंज के मोहम्मदपुर गांव में छापेमारी कर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया ।
निरीक्षक अजय कुमार यादव के अनुसार 16 जून को अग्निपथ योजना के खिलाफ सेना अभ्यर्थियों एवं उपद्रवियों द्वारा विरोध प्रदर्शन के दौरान सिधवलिया रेलवे स्टेशन पर खड़ी गाड़ी संख्या 15080 के कोच नम्बर-073499 एनई में आग लगा कर कोच को जला दिया गया था । इस घटना के संबंध में स्टेशन अधीक्षक सिधवलिया प्रभाशंकर प्रसाद दीपक की शिकायत पर 100 से 150 अज्ञात प्रदर्शनकारियों के विरुद्ध राजकीय रेलवे पुलिस थाना थावे में मामला दर्ज किया गया था।
मामले की जांच कर रहे थावे के प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार यादव द्वारा मुखबिर एवं उपलब्ध तकनीकी साक्ष्य के आधार पर घटना के मुख्य आरोपी एवं सूत्रधार 24 वर्षीय पप्पू कुमार सिंह उर्फ रवि रंजन की पहचान की गई । उसके बाद आरपीएफ एवं जीआरपी की संयुक्त टीम मोहम्मदपुर थाने के सुपौली पंचायत भवन के सामने से शुक्रवार की शाम में पप्पू कुमार सिंह को गिरफ्तार किया ।
आरोपी ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर उक्त कोच में आग लगाने की बात को स्वीकार किया है। जीआरपी थावे ने गिरफ्तार आरोपी को मामले में रेल मजिस्ट्रेट सोनपुर के सामने शनिवार को प्रस्तुत किया गया।

Previous articleमुख्यमंत्री बाल हृदय योजना- दिल में छेद वाले बच्चों के लिए है वरदान
Next articleचिकित्सक दिवस के अवसर पर युवा क्रांति रोटी बैंक ने किया पौधा रोपण, भोजन व वस्त्र का वितरण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here