छपरा: जिलेभर में मंगलवार को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया गया। इसे लेकर जागरूकता कार्यक्रम का आयोदन किया गया, जिसमें लोगों को तंबाकू के सेवन से होने वाली बीमारियों के बारे में बताया गया। इस दौरान सभी डॉक्टरों एवं स्वास्थ्यकर्मियों को तंबाकू का सेवन नहीं करने की शपथ दिलाई। साथ ही कहा कि जो लोग भी तंबाकू का सेवन करते हैं वे अभी से ही इसे छोड़ दीजिए। तंबाकू गंभीर बीमारी का कारण बनता है और एक दिन लोगों को अपनी जान तक गंवानी पड़ती है। इसलिए खुद तो तंबाकू का सेवन छोड़े ही दें, साथ में अगर घर या परिवार में भी कोई तंबाकू का सेवन करते हैं तो उन्हें भी इस लत से छुटकारा दिलवाइए।

देश में बीमारियों से होने वाली मौत में बहुत बड़ी संख्या तंबाकू के सेवन करने वालों की:

इस दौरान सिविल सर्जन डॉ. सागर दुलाल सिन्हा ने कहा कि आज देश में बीमारियों से होने वाली मौत में बहुत बड़ी संख्या तंबाकू के सेवन करने वालों की हैं। इसलिए इस बुरी लत को अभी से छोड़ें। साथ में अन्य लोगों को भी इसके बारे में बताएं। घर, परिवार और दोस्तों के साथ-साथ अन्य लोगों को भी तंबाकू के सेवन के प्रति आगाह करें। उन्हें बताएं कि तंबाकू का सेवन करना कितना नुकसानदायक होता है। कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन जाता है तंबाकू। साथ ही इसमें मौजूद निकोटिन लोगों की भूख व प्यास को मार देती है। इस कारण लोग अन्य गंभीर बीमारियों की भी चपेट में आ जाता है।

पर्यावरण की भी होगी सुरक्षाः

इस बार तंबाकू निषेध दिवस की थीम तंबाकू को छोड़कर पर्यावरण की सुरक्षा करना है। यदि हम तंबाकू का सेवन करना छोड़ देते हैं तो पर्यावरण की सुरक्षा अपने आप में हो जाती है। लोग खैनी, पान और गुटखा खाकर जहां-तहां थूकते हैं, जिससे गंदगी फैलती है। दूसरी तरफ बीड़ी, सिगरेट आदि पीकर धुआं छोड़ते रहते हैं। इससे भी पर्यावरण का नुकसान होता है। अगर लोग इन चीजों को छोड़ देंगे तो पर्यावरण की सुरक्षा खुद-ब-खुद हो जाएगी। साथ में सेहत को भी नुकसान नहीं पहुंचेगा। इसलिए तंबाकू का सेवन जितना जल्द हो सके, छोड़ ही दें। आपके साथ आपके परिवार का भी फायदा होगा।

Previous articleछपरा में उत्पाद विभाग की बड़ी करवाई, भारी मात्रा में विदेशी शराब जप्त
Next articleबाढ़ जैसे आपदा में कार्य के बकाया भुगतान हेतु जिलाधिकारी, सारण करेंगे जन सुनवाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here