• बुजुर्गों को कोविड संक्रमण का खतरा अधिक

• अपने घरों में ही व्यतित करें अधिकतर समय

गया, 27 अप्रैल: ओमीक्रॉन संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर जरूरी है कि कोविड नियमों का पालन किया जाये। साथ ही समय पर कोविड टीकाकरण की दोनों डोज ली जाये। साठ वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोविड संक्रमण का अधिक खतरा होता है। कई लोग श्वसन संबंधी जैसे अस्थमा या दूसरी फेफड़े संबंधी रोग सहित किडनी, ह्रदय रोग, लिवर की समस्याएं, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, कैंसर आदि की समस्याओं से ग्रसित होते हैं। उनके लिए कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन करना जरूरी है।

हमेशा हाथों की सफाई का करें:
कोविड नोडल पदाधिकारी डॉ एहतेशामुल हक ने बताया संक्रमण काल में बुजुर्ग अधिकांश समय अपने घरों में ही रहें। घरों में बाहर से आने वाले लोगों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर बातचीत करें। घरों के अंदर हल्के व्यायाम तथा योग करें तथा स्वयं को सक्रिय रखें। साबुन पानी से कम से कम 20 सेकेंड तक हाथों को नियमित धोयें। खांसते या छींकते समय साफ रूमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल जरूर करें।

ताजा भोजन व मौसमी फल का करें सेवन:
उन्होंने बताया बुजुर्ग पोषणयुक्त आहार लेना सुनिश्चित करें। हमेशा ताजा और गर्म भोजन लें। नियमित रूप से पानी पीते रहें ताकि शरीर में पानी की मात्रा बनी रहे। ताजे मौसमी फल का सेवन करें। डॉक्टरों द्वारा अनुशंसित दवाओं का समय पर सेवन करते रहें। यदि बुखार, कफ, सांस लेने में तकलीफ या दूसरी स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क कर चिकित्सीय परामर्श प्राप्त करें।

बुजुर्ग इन बातों से रहें सचेत:
कोरोना संक्रमण के लक्षण सहित बुखार, कफ, सांस लेने में तकलीफ आदि लक्षणों वाले रोगियों के नजदीक आने से परहेज करें। हाथ मिलाने या गले लगने से परहेज करें। धार्मिक स्थलों, बाजार या पार्क में जाने से बचें। गंदे हाथों से आंख, चेहरा या नाक नहीं छूयें। अपने इलाज स्वयं नहीं करें। रूटीन चेकअप के लिए अस्पताल जाने के दौरान पूरी सर्तकता बरतें।

Previous articleआजादी के 75 वें अमृत महोत्सव को लेकर स्वास्थ्य मेला का आयोजन
Next articleसंस्थागत प्रसव को दें प्राथमिकता, सुरक्षित और सामान्य प्रसव को मिलेगा बढ़ावा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here