छपरा: माननीय कुलपति महोदय की अध्यक्षता में ऑफलाइन और ऑन लाइन दोनो मोड पर एक स्पेशल लैक्चर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में एन.एस.एस की स्वयंसेविकाओ के द्वारा कुलगीत और स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया।कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए माननीय कुलपति महोदय प्रोफेसर फारूक अली ने कहा कि अग्निवीर योजना से मुझे बहुत खुशी हुई है।राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 जो कि 2025 से पूरे देश में लागू होना है,के विषय मे भी अपने विचार को व्यक्त किया।

अग्निपथ योजना और रिक्रूटमेंट प्राशेस के अन्तर्गत अग्निपथ बन सकता है अवसर पथ: कर्नल तेजिंदर सिंह

आर्मी ऐक्ट 1950 के अन्तर्गत यह योजना है। “कतरा कतरा देश के नाम” और आदर्श और कुशल नागरिक नामक कार्यक्रम को प्रोजेक्टर पर कर्नल तेजिंदर सिंह ने सबको दिखलाया। जो एन.सी.सी, (सी )सर्टिफिकेट और आर.डी परेड किया है ,उसे परीक्षा देने की जरूरत नही है।लङकियों का प्रतिशत के आधार पर सेलेक्शन होगा।सारे डिजिटल सर्टिफिकेट लगाने हैं।किसी भी बिचौलिए के बहकावे मे नहीं आना है। मंच संचालन डाक्टर विश्वामित्र पांडेय और धन्यवाद ज्ञापन प्रोफेसर हरिश्चंद्र समायोजक महाविद्यालय विकास परिषद ने किया।

इस अवसर पर प्रोफेसर नवी अध्यक्ष स्नातकोत्तर उर्दू विभाग, प्रोफेसर राम नाथ प्रसाद अध्यक्ष स्नातकोत्तर दर्शन शास्त्र विभाग, प्रोफेसर अनीता अध्यक्ष स्नातकोत्तर हिन्दी विभाग, डॉक्टर दिवांशू पी ओ पी जी यूनिट ,डॉक्टर विनय मोहन वीनू जी ने कुलगीत और स्वागत गीत की तैयारी करवाकर बेहतरीन प्रस्तुति दिये
IQAC के संयुक्त निदेशक डॉक्टर राजेश नायक ने स्वागत भाषण किया।IQAC के निर्देशक प्रोफेसर उदय शंकर ओझा भी इस अवसर पर माननीय कुलपति महोदय के साथ कार्यक्रम में उपस्थित थे।

आपको बता दे:

भारत सरकार द्वारा अग्निपथ योजना launch की गई है। इस योजना के माध्यम से वह सभी देश के युवा जो भारतीय सेना में हिस्सा लेना चाहते हैं वह अपना सपना पूरा कर सकते हैं। Agneepath Yojana के माध्यम से भारतीय सेना की तीनों शाखाओं जो कि थलसेना, नौसेना और वायु सेना है, मैं बड़ी संख्या में भर्ती की जाएगी। यह भर्ती Agniveer Bharti के अंतर्गत की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत सैनिकों की भर्ती 4 साल के लिए की जाएगी। इस योजना को आरंभ करने की घोषणा defence minister राजनाथ सिंह एवं सेना के तीनों अंगों के प्रमुख द्वारा की गई है। इस योजना के अंतर्गत भर्ती किए गए नौजवानों को अग्निवीर कहा जाएगा।

Agneepath Yojana को मंजूरी सूक्ष्म मामलों की मंत्रिमंडल समिति की बैठक में प्रदान की गई है। सरकार द्वारा इस योजना को launch करने का निर्णय 14 June 2022 को लिया गया। यह योजना रोजगार के अवसर को बढ़ाने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा देश की सुरक्षा को भी इस योजना के संचालन से मजबूत बनाया जा सकेगा। सेना के तीनों chief द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को इस योजना को आरंभ करने से पहले योजना का projection भी प्रदान किया गया था।

Previous articleआजादी के अमृत महोत्सव: बच्चों से रूबरू हुए आरपीएफ अधिकारी
Next articleटीबी के खिलाफ लड़ाई में नियमित दवा सेवन हीं मजबूत हथियार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here