सारण, छपरा 26 जुलाई : जिलाधिकारी सारण श्री राजेश मीणा की अध्यक्षता में जिलास्तरीय उर्वरक निगरानी समिति की बैठक सारण समाहरणालय के कार्यालय कक्ष में आहूत की गयी। बैठक में सर्वप्रथम गत बैठक की कार्यवाही के अनुपालन की समीक्षा की गयी।

जिला कृषि पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि सभी खाद विक्रेता उर्वरकों की बिक्री पी.ओ.एस. मशीन के जरिये ही कर रहे है। इसकी निगरानी विभागीय स्तर से की जा रही है। टीम गठित कर नियमित रुप से उर्वरकों के भंडारों की जाँच तथा खुदरा विक्रेताओं के दुकानों की भी जाँच भी कियेे जाने की बात बताई गयी। अनियमितता पाये जाने पर 16 खुदरा उर्वरक विक्रेताओं की अनुज्ञप्ति रद्द किये जाने की जानकारी दी गयी। सभी प्रखंडों में गठित प्रखंड स्तरीय उर्वरक निगरानी समिति की बैठक करा लिये जाने से संबंधित जानकारी जिलाधिकारी महोदय को दी गयी।

जिलाधिकारी महोदय के द्वारा गठित जाँच दल के द्वारा अनियमितता पाये जाने के कारण 14 विक्रेताओं की अनुज्ञप्ति रद्द किये जाने की भी जानकारी दी गयी। खाद बिक्री से संबंधित सभी तरह की षिकायतों के लिए हेल्प लाईन नंबर 06152-248042 जारी किया गया है। इन नंबर पर खाद के बिक्री एवं उपलब्धता से संबंधित सभी तरह की शिकायतों को दर्ज करवाया जा सकता है। पूरे जिला में कुल 693 खुदरा उर्वरक विक्रेताओं की संख्या होने की जानकारी दी गयी।

बैठक में जिलाधिकारी महोदय ने स्पष्ट शब्दों में सख्त निर्देश देते हुए कहा कि किसानों को प्रर्याप्त मात्रा में आवश्यकतानुसार खाद की आपूर्ति हेतु व्यवस्था सुदृढ़ बनावें। इसमें किसी भी तरह की कोेेेताही बर्दाश्त नही की जाएगी। खाद के कालाबाजारी की षिकायत पर सख्त कानूनी कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया।

बैठक में जिलाधिकारी के साथ निदेशक, डी.आर.डी.ए, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं कृषि विभाग के अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Previous articleआजादी के अमृत महोत्सव: सारण में 25 जुलाई से 30 जुलाई तक बिजली महोत्सव का आयोजन
Next articleदवा सेवन में लापरवाही के कारण होती है एमडीआर और एक्सडीआर टीबी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here