छपरा: छपरा शहर के नगर थाना अंतर्गत सलेमपुर स्थित वीणा पुस्तक संचालक सहित चार के खिलाफ नगर थाने में 307 का मुकदमा दर्ज कराया गया है। यह मुकदमा पत्रकार शशि भूषण सिंह के द्वारा दर्ज कराया गया है। दर्ज प्राथमिकी में शशि भूषण सिंह के द्वारा बताया गया है कि वह 18 जून की रात्रि खबर चलाने के बाद घर जा रहे थे। उसी बीच कचहरी रेलवे स्टेशन के सामने कुछ सामान खरीदने के लिए रुके थे। उसी बीच वीणा पुस्तक संचालक स्वर्गीय रामचंद्र सिंह के पुत्र नगेंद्र सिंह अपने पुत्र किंशू एवं गुड्डू सिंह तथा आदित्य के साथ वहां पहुंचे और बोले कि तुम हमारे खिलाफ खबर चलाकर हमारे इज्जत को बर्बाद कर रहा है। इसलिए तुम को छोड़ेंगे नहीं। जिसके बाद उनके द्वारा जान से मारने का आदेश किंशू को दिया गया। उस दौरान सभी लोग उसके साथ मारपीट करने लगे। वहीं किंशू ने शशि भूषण सिंह के उपर चाकू से वार कर दिया। जिससे वह वह जख्मी हालत में चीखने चिल्लाने लगे। जिसके बाद वे लोग उसे छोड़कर भाग गए और वह जैसे तैसे छपरा सदर अस्पताल पहुंचाया, जहां ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक के द्वारा उपचार किया गया। इस मामले में उसके द्वारा सदर अस्पताल में मौजूद भगवान बाजार थाना पुलिस के समक्ष दिए बयान में उक्त चारों को नामजद करते हुए पांच अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। वही प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। बताते चलें कि इस प्राथमिकी में उनके द्वारा यह भी आरोप लगाया गया है कि सभी लोग शराब के नशे में थे।

बताते चलें कि बीते दिन छपरा कचहरी रेलवे स्टेशन के समीप नगर थाना अंतर्गत कुलदीप नगर निवासी अशोक सिंह के 25 वर्षीय पुत्र शशि भूषण सिंह उर्फ सावन को 9 बदमाशों ने अचानक रोक कर उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। जिसमें एक युवक ने उस पत्रकार के द्वारा चलाए गए एक खबर को लेकर नाराजगी जताते हुए उसके ऊपर चाकू से हमला कर दिया गया। उस दौरान बचने बचाने के क्रम में चाकू उसके सिर पर लग गया जिसके कारण वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया था।

Previous articleसारण में सभी कोचिंग संस्थान को 22 जून तक बंद रखने का दिया गया निदेश- जिलाधिकारी
Next articleContact us

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here