गया, 21 अप्रैल: बीते दिनों देश की राजधानी दिल्ली सहित अन्य कुछ राज्यों में कोविड संक्रमण के नये मामले दर्ज किये गये हैं। संक्रमण के मामलों में एक बार फिर इजाफा देखा जा रहा है। 50 से अधिक म्यूटेशन वाला ओमिक्रॉन वैरिएंट दुनिया के कई हिस्सों में संक्रमण की ताज़ा लहर ला रहा है। इसलिए बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सतर्क रहने की जरूरत है। महामारी विशेषज्ञों का मानना है कि अलग अलग राज्यों में संक्रमण के मामले देखने को मिल रहे हैं। इसलिए चौथी लहर को लेकर तैयार रहना है। जिला में भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड जांच बढ़ाने पर ​बल दिया गया है। विभिन्न प्रखंडों में आयोजित स्वास्थ्य मेलाओं में कोविड जांच तथा टीकाकरण सेंटर बनाये गये हैं। संचारी रोग पदाअधिकारी डॉ पंकज कुमार सिंह ने बताया कि कोविड संक्रमण को देखते हुए जांच तथा टीकाकरण कार्य किया जा रहा है।

कोविड संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए अपनी रोजमर्रा के जीवन में इन पांच बातों का ख्याल रखना जरूरी है:

मास्क लगाने की रखें आदत:
कोविड संक्रमित व्यक्ति के छींकने या खांसने आदि से को​विड संक्रमण फैलता है। इसकी रोकथाम का सबसे पहला उपाय नियमित तौर पर मास्क लगाना है। घर से बाहर निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें। भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे रेलवे स्टेशन, बाजार, बस स्टैंड, कॉलेज, पर्यटन स्थल या ऐसी अन्य जगहों पर मास्क जरूर लगायें। मास्क लगाने के साथ शारीरिक दूरी का भी ध्यान रखें। यदि संभव हो तो सभी भीड़भाड़ वाली जगहो ंपर शारीरिक दूरी का ध्यान रखें।

हाथों को धोने की आदत बनायें:
कोविड संक्रमण के फैलने का एक बड़ा कारण गंदी सतहों का हाथ के संपर्क में आना है। गंदे हाथ फिर चेहरा, आंख, नाक आदि के संपर्क में आते हैं। ऐसे में अपने हाथों को नियमित तौर पर साफ करते रहें। अस्पताल, बाजार में या यात्रा के दौरान बस या ट्रेन में हैंडल या अन्य सतहों को कई लोगों द्वारा छुआ जाता है। इसलिए अपने साथ अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर रखें या फिर हाथों को धोने के लिए साबुन पानी का इस्तेमाल करें। बाहर से घर आने पर हाथों व चेहरा को साबुन पानी से धोने की आदत बनायें।

सर्दी खांसी होने पर करायें कोविड जांच:
अमूमन मौसम में बदलाव होने पर लोग सर्दी जुकाम के शिकार हो जाते हैं लेकिन कई बार इसे आम सर्दी जुकाम समझ कर नजरअंदाज कर दिया जाता है। ऐसे में जब संक्रमण की खबरें आ रही हैं, इससे बचाव के लिए जरूरी है कि सर्दी खांसी होने पर कोविड की जांच करा ली जाये।

कोविड टीकाकरण है महत्वपूर्ण:
कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए सबसे महत्वपूर्ण है कोविड टीकाकरण। कोविड टीकाकरण 12 वर्ष आयुवर्ग के लोगों सहित 60 या इससे अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए जरूरी है। वहीं बुजुर्गों के लिए कोविड की बूस्टर डोज भी उपलब्ध है।. इसलिए इस आयुवर्ग में आने वाले सभी लोग कोविड टीकाकरण जरूर करायें

अच्छा खानपान व नियमित व्यायाम:
कोविड संक्रमण विशेष तौर पर श्वसन तंत्र को बुरी तरह प्रभावित करता है। संक्रमण से बचाव के लिए मजबूत रोग प्रतिरोधी क्षमता हो यह जरूरी है।. इसके लिए अपने भोजन में हरी सब्जी, दूध, दही, मौसमी फल की मात्रा बढ़ाये. तले भुने खाद्य पदार्थ व फास्ट फूड से दूरी रखें।. श्वसन तंत्र को मजबूत बनाने वाले व्यायाम करें।

Previous articleएक दिवसीय स्वास्थ्य मेले का विधायक ने किया उद्घाटन
Next articleसंघर्षो से कभी हार नहीं मानने वाले पत्रकार थे दिवंगत गुड्डू राय: विधायक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here