छपरा : जिला स्तरीय विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) के दूसरे दिन भी बैठक माननीय सांसद सारण, श्री राजीव प्रताप रूड़ी की अध्यक्षता में सारण समाहरणालय सभागार में जारी रही। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार दिशा की बैठक ससमय सभागार में प्रारंभ हुई।

सर्वप्रथम प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जिले में अद्यतन स्थिति की जानकारी लीड बैंक के प्रबंधक से ली गयी। जिले में सी.आर.आर. की स्थिति को चिंताजनक बताते हुए माननीय अध्यक्ष महोदय के द्वारा जिलेे के सरकारी बैंकों के कार्यकलाप पर असंतोष जाहिर किया गया। पुनः विस्तृत प्रतिवेदन की मॉग करते हुए दोषी बैंकों को चिन्हित करने का निर्देश दिया गया। जिला में बालू के अवैध खनन, परिवहन के साथ ओवरलाडिंग वाहनों के परिचालन पर गंभीर चिंता व्यक्त की गयी। सभी माननीय सदस्यगणों के द्वारा इससे सड़क के जर्जर हो जाने एवं दुर्घटना घटित होने का प्रमुख कारण बताया गया।
इस संबंध में जिलाधिकारी सारण राजेश मीणा के द्वारा जानकारी दी गयी कि बालू के अवैध खनन एवं परिवहन तथा ओवरलोडेड वाहनों पर रोक लगाने हेतु दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल का संयुक्त धावा दल गठित किया गया है। सभी अनुमंडलों में धावा दलों के द्वारा लगातार चेकिंग एवं छापामारी की कार्रवाई की जा रही है। फाईन के रुप में अबतक करोड़ों रुपये की वसूली के साथ-साथ जप्त बालू के नीलामी से करोड़ों रुपये राजस्व की प्राप्ति की जा रही है। दोषियों पर प्राथमिकी दर्ज करने की भी कार्रवाई की जा रही है। आने वाले समय में धावा दल के द्वारा छापामारी लगातार की जाएगी।

माननीय अध्यक्ष महोदय के द्वारा जिले के विकास के लिए कई नयी सड़कों के बनाने हेतु भारत सरकार से स्वीकृति मिल जाने की जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि इससे छपरा का चतुर्दिक विकास संभव हो सकेगा। निर्माणाधीन डबल डेकर सड़क एवं खनुआ नाला के निर्माण कार्य की भी समीक्षा की गयी। बैठक में दिये गये निर्देशों के अनुपालन के साथ ही जल्द ही पुनः बैठक बुलाये जाने की घोषणा के साथ सदस्यगणों को धन्यवाद ज्ञापित करने के साथ ही बैठक की कार्यवाही समाप्त की गयी।
बैठक में माननीय विधायक, विधान पार्षद, महापौर नगर निगम छपरा, अध्यक्ष, जिला परिषद, तथा जिलाधिकारी सारण एवं पुलिस अधीक्षक सारण सहित सभी जिलास्तरीय तथा क्षेत्रीय पदाधिकारियों द्वारा भाग लिया गया।

Previous articleस्वास्थ्य सेवाओं की रैंकिंग में टॉप-13 में शामिल हुआ सारण जिला
Next articleप्रदोष व्रत कब और क्यो रखा जाता है? जानिए प्रदोष व्रत करने का महत्व और पूजा विधि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here