Mumkin hai India

  • Gallery

    सरकारी कर्मियों के लिए अच्‍छी खबर! LTC स्‍पेशल कैश पैकेज स्‍कीम की डेडलाइन बढ़ी

    2021-05-13

    नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने एक बार फिर एलटीसी स्पेशल कैश पैकेज स्कीम के तहत बेनेफिट्स के लिए बिल्स/क्लेम्स के सबमिशन की डेडलाइन बढ़ा दिया है. इससे पहले केंद्र सरकार ने एलटीसी स्कीम के तहत बिल/क्लेम्स के सबमिशन और मिनिस्ट्री/डिपार्टमेंट्स द्वारा सेटल्ड करने की डेडलाइन 30 अप्रैल 2021 तय की थी. हालांकि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चलते इसे बढ़ाकर अब 31 मई 2021 कर दिया गया है.

    डिपार्टमेंट ऑफ एक्सपेंडिचर (DoE) ने इसका ऑफिस मेमोरेंडम जारी किया है. इसके मुताबिक बिल्स/क्लेम्स के सबमिशन और सेटलमेंट की डेडलाइन को बढ़ाने को लेकर क्वेरीज थीं. देश भर में कोरोना महामारी की स्थिति को लेकर डेडलाइन बढ़ाने का फैसला किया गया. हालांकि जिस भी खरीदारी को लेकर बिल जमा करना है या सेटल करना है, वह 31 मार्च 2021 से पहले का होना चाहिए.

    कोरोना महामारी के चलते लाई गई थी योजना
    पिछले वर्ष 2020 में कोरोना महामारी के चलते यात्रा करना संभव नहीं था तो केंद्र सरकार ने एलटीसी के बदले में वर्तमान ब्लॉक 2018-2021 के लिए एक खास योजना एलटीसी कैश वाउचर स्कीम पेश किया था. आयकर अधिनियम, 1961 के तहत कर्मियों को चार कैलेंडर वर्ष (जनवरी से दिसंबर) के बीच दो यात्राओं के आने-जाने के खर्च पर लीव ट्रैवल कंसेसन (एलटीसी) के रूप में टैक्स फायदा मिलता है. हालांकि पिछले वर्ष यह संभव नहीं हो सका था तो सरकार ने एलटीसी कैश वाउचर स्कीम पेश किया जिसकी कुछ शर्तें भी निर्धारित की थीं जिन्हें पूरा करना जरूरी है.

    • एलटीसी का फायदा उठाने के लिए इसके तीन गुने के बराबर राशि खर्च करनी होगी.
    • यह खर्च उन वस्तुओं या सेवाओं के लिए करना होगा जो 12 फीसदी या उससे अधिक की जीएसटी स्लैब में आते हों.
    • भुगतान डिजिटल मोड में होना चाहिए.
    • इनवॉइस पर उसका ही नाम होना चाहिए जिसे एलटीसी कैश वाउचर स्कीम का फायदा उठाना है. हालांकि यह परिवार के उन सदस्यों के नाम पर भी ले सकते हैं जो एलटीसी के योग्य हैं.खर्च 12 अक्टूबर 2020 से 31 मार्च 2021 के बीच होना चाहिए.