Mumkin hai India

  • Gallery

    काली मंदिर के साधक नानू बाबा व सामाजिक कार्यकर्ता मोहसीन साहब ने एक साथ लगाया टीका

    2021-03-05

    काली मंदिर के साधक नानू बाबा व सामाजिक कार्यकर्ता मोहसीन साहब ने एक साथ लगाया टीका -कोरोना महामारी को हराने के लिये सामाजिक सद्भाव व एकजुटता जरूरी अररिया, 05 मार्च। जिले में कोरोना टीकाकारण अभियान धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ने लगा है। टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत होने के बाद हर वर्ग व हर तबका के लोगों में उत्साह दिख रहा है। इसी क्रम में शुक्रवार को जिले के मां खड़गेश्वरी काली मंदिर के साधक सरोजनानंद जी महाराज उर्फ नानू बाबा व सद्भावना मंच के संस्थापक सदस्य सह सचिव व आदर्श मध्य विद्यालय कोकड़वा के सेवानिवृत प्राचार्य मो मोहसीन कोरोना का टीका लगाने एक साथ सदर अस्पताल स्थित टीकाकरण सत्र स्थल पहुंचे। टीका लगाने के दौरान उन्होंने एक दूसरे का हाथ थामे रखा। एक साथ कोरोना का टीका लगा कर दोनों ने कोरोना महामारी के खिलाफ जारी लड़ाई में सामाजिक सौहार्द व एकजुटता का परिचय दिया। इसी क्रम में उपेंद्र झा, अरुण मिश्रा, शोभाकांत झा, राम जिनिस पासवान, मयानंद पासवान, शशिकांत दूबे, कृष्ण भगत सहित अन्य को कोरोना टीका का पहला डोज लगाया गया| मौके पर सिविल सर्जन डॉ रूपनारायाण कुमार, डीपीएम रेहान अशरफ, सीडीओ डॉ वाईपी सिंह, राहुल झा सहित अन्य स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मी मौजूद थे। टीकाकरण अभियान में बढ़-चढ़ कर लें भाग: टीका लगाने के उपरांत काली मंदिर के साधक सरोजानंद जी महाराज उर्फ नानू बाबा ने कहा कि कोरोना का टीका लगाना देश के हर नागरिक का कर्तव्य है। बीते एक साल से हम तमाम देशवासी कोरोना महामारी के भय में जी रहे हैं। कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में उन्होंने तमाम स्वास्थ्य कर्मियों के प्रति आभार व्यक्त किया। कहा कि कोरोना का टीका आने से लोगों के मन का भय दूर हुआ है। टीका लगाने के बाद वे इस महामारी से खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने आम लोगों से अपील करते हुए कहा कि तीसरे चरण में 45 साल से अधिक उम्र के गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों के साथ-साथ 60 वर्ष से अधिक उम्र के तमाम लोगों को टीका लगाने के लिये विशेष अभियान का संचालन किया जा रहा है। चिह्नित आयु वर्ग के अधिक से अधिक लोगों को इस अभियान का लाभ उठाने की अपील उन्होंने की। महामारी से बचाव को टीकाकरण जरूरी: सामाजिक कार्यकर्ता व सद्भावना मंच के संस्थापक सदस्य सह सचिव मो मोहसीन ने कहा कि बीते एक साल से पूरी दुनिया के साथ-साथ हमारा देश कोरोना महामारी की वजह से गंभीर संकटों का सामना कर रहा है। महामारी की वजह से अब तक कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। संकट के इस दौर में स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों को बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने परीक्षा की इस घड़ी में अपनी जान जोखिम में डाल कर आम लोगों की सेवा में तत्परता से लगे रहे। बहुत जल्द महामारी से बचाव के लिये टीका का इजाद करने वाले देश के वैज्ञानिक इस महान कार्य के लिये बधाई के पात्र हैं। कोरोना महामारी से बचाव के लिये टीकाकरण वक्त की मांग है। टीकाकरण अब तक कई महामारियों से हमारा बचाव करता आया है। इसलिये यह जरूरी है कि बढ़-चढ़ कर लोग इस अभियान से जुड़ कर टीका लगायें। साथ ही दूसरों लोगों को भी टीका लगाने के लिये प्रेरित करें। अभियान की सफलता में युवा निभायें अपनी जिम्मेदारी: सिविल सर्जन डॉ रूपनारायण कुमार ने कहा कि तीसरे चरण में 45 साल से अधिक उम्र के गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों के साथ-साथ 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को टीकाकृत किया जाना हैं। उन्होंने युवाओं से अपील करते हुए कहा कि अपने बुजुर्गों को टीका लगाने के कार्य में वे उनका जरूरी मदद करें। उन्हें नजदीकी अस्पताल पहुंचायें ताकि उनका टीकाकरण किया जा सके।