Mumkin hai India

  • Gallery

    छपरा: प्रखंड का सरकारी दस्तावेज़ रजिस्टर -2 निज हाथो में कैसे- संजय

    2021-03-10

    छपरा: सरकार द्वारा बार बार किए जा रहे प्रयास के बावजूद सरकारी दफ्तरों में अनियमितताएं रुक नहीं रही है। छपरा सदर प्रखंड कार्यालय में भी आए दिन किसी न किसी लापरवाही कि घटना से आम जनों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सदर प्रखंड कार्यालय में कर्मचारियों की कमी के कारण एक कर्मचारी कई हल्का कर्मचारियों के चार्ज में है वह भी प्राइवेट आदमियों के देखरेख में रजिस्टर टू से कार्य कराया जा रहा है जो काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। युवा राजद जिला उपाध्यक्ष संजय कुमार ने कहा कि सारण जिले के सभी अंचलों में राजस्व कर्मचारियों की सरकार द्वारा भर्ती नहीं किया जा रहा है जिसके कारण एक राजस्व कर्मी कई कई हल्का कर्मचारी की चार्ज में है और उनके द्वारा अपने से कार्य नहीं किया जाता बल्कि प्राइवेट आदमियों को रखकर रिश्वतखोरी का काम किया जा रहा है और सरकारी अभिलेख प्राइवेट आदमी के हाथों में है यह बहुत ही बड़ा अशोभनीय बात है। सरकारी अभिलेख में प्राइवेट आदमी कभी भी लाभ में आकर अभिलेख को छेड़छाड़ कर सकते हैं जिसके कारण आम जन खातेदार और रैयतदार को बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पर सकता है। ऐसे में बिहार सरकार के भूमि सुधार मंत्री ने कहा कि अच्छा काम करने वाले को पसंद की पोस्टिंग खराब काम करने वाले को काला पानी। लेकिन मैं सरकार से पूछना चाहता हूं कि राजस्व कर्मी की बहाली नहीं की जा रही है और प्राइवेट आदमियों से कार्य कराया जा रहा है जो कभी भी कोई छेड़छाड़ भू अभिलेख में हो सकती है इसका जिम्मेदार कौन होगा! सरकार या पदाधिकारी?