Mumkin hai India

  • Gallery

    छपरा: जलालपुर के बंगरा में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कराटे प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ आयोजन

    2021-03-08

    अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला आत्मरक्षा कार्यक्रम के तहत जलालपुर के बंगरा स्थित माँ यूथ ऑर्गेनाईजेशन में सोमवार से कराटे का निःशुल्क प्रशिक्षण शुरू हुआ। कार्यक्रम का उद्घाटन संस्था की सचिव जया सोनल ने मंजू सिंह, नीलम सिंह, रीना सिंह, लालमती देवी आदि के साथ दीप प्रज्ज्वलित करके किया। संगठन सचिव जया सोनल ने कहा कि मौजूदा समय में महिलाओं को आत्म सुरक्षा के लिए स्वावलंबी होना काफी आवश्यक है। भारत में बलात्कार विरोधी कानून बनने के बाद महिलाओं के खिलाफ यौन अपराधों पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। हमारा मकसद इन महिलाओं को आत्मरक्षा का प्राथमिक प्रशिक्षण देना है ताकि आपातस्थिति में वह खुद अपनी रक्षा कर सकें। देश और समाज के विकास में महिलाओं की भूमिका काफी अहम है। आज की नारी जब किसी बात के लिए दूसरों पर निर्भर नहीं हैं तो अपनी सुरक्षा के लिए दूसरों का मुंह क्यों देखे। महिलाओं को अपनी सुरक्षा खुद करनी होगी। ऐसे में उनके खिलाफ बढ़ रहे अपराधों पर अंकुश लगाया जा सकता है। इस कार्यक्रम में लगभग 100 से अधिक बालिकाओं को निरन्तर प्रशिक्षण दिया जाएगा। माँ यूथ ऑर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष अमित सिंह ने कहा कि कराटा के शिक्षण के द्वारा शारीरिक व मानसिक सुरक्षा के लिए यह कार्यक्रम लाभदायक होगा। पूर्व में चल रहे प्रशिक्षण में बच्चियां काफी उत्साह के साथ भाग ले रही थी, मगर कोरोना के चलते यह स्थगित हो गया था। महिला सशक्तिकरण के दौर में छात्राओं को स्कूली शिक्षा के साथ-साथ कराटा की शिक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इसमें प्रशिक्षक के द्वारा के बालिकाओं को सप्ताह में दो दिन नियमित रूप से पूरे वर्ष प्रशिक्षित किया जाएगा। यह एक शिविर की भाँति न होकर निरन्तर चलनेवाला निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम रहेगा। वर्तमान में लगभग 250 बालिकाओं को रोजाना निःशुल्क कोचिंग भी प्रदान किया जाता है। आत्मसुरक्षा प्रशिक्षण ले रही वेदिका और अंशु ने कहा कि कराटे के प्रशिक्षण से मेरा आत्मविश्वास बढ़ेगा। हमें विद्यालय आते-जाते मनचलों की छेड़छाड़ का शिकार होना पड़ सकता है। लेकिन कराटे सीखने के बाद हम जरूरत पड़ने पर उनको सबक सिखा सकते हैं। प्रशिक्षण पा रही शहाना और रुकसाना ने कहा कि किसी भी मनचले को जब यह पता चलेगा कि अमुक युवती कराटे जानती है तो वह कुछ भी करने से पहले सौ बार सोचेगा। इस प्रशिक्षण की जानकारी मोहल्ले के अलावा क्षेत्र के सभी मनचलों को भी है। लिहाजा वहां के युवक कोई ऐसी-वैसी हरकत नहीं करेंगे। इस प्रशिक्षण के दौरान आत्मसुरक्षा हेतु कराटे के अलावे युवतियों को छेड़छाड़ और हमले की स्थिति में निपटने के फौरी तरीके बताए जायेंगे। संगठन के सदस्य सुबोध सिंह ने बताया कि इस प्रशिक्षण के तहत युवतियों को सड़कों खासकर सूनान इलाकों में अकेले चलते समय सतर्क रहने के तरीके बताए जाएंगे। इसके अलावा उनको छेड़छाड़ करने वालों पर तेजी से वार करने के तरीकों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। युवतियों को सिखाया जायेगा कि वह कलम को भी हथियार के तौर पर कैसे इस्तेमाल कर सकती हैं। इस अवसर पर संगठन के कृष्णा सिंह, राठौर श्रीमान्त, सुबोध सिंह, नितान्त राठौर, बजरंगी सिंह, दीपक कुमार आदि समेत अन्य लोग मौजूद रहे।