Mumkin hai India

  • Gallery

    पूर्णिया के दीवानगंज एवं सिकंदरपुर में टीका एक्सप्रेस से 350 लाभार्थियों को किया गया टीकाकृत

    2021-08-27

    पूर्णिया, 27 अगस्त: कोरोना संक्रमण से सुरक्षित एवं बचाव के लिए कोविड-19 टीकाकरण ही एक मात्र विकल्प है। जिसको लेकर पूरे देश में हर वर्ग के लोगों को टीकाकृत किया जा रहा है। शहरी क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग एवं ज़िला प्रशासन के सहयोग से केयर इंडिया के द्वारा दो टीका एक्सप्रेस के माध्यम से लाभार्थियों के दरवाजे पर जाकर कोरोना का टीकाकरण किया जा रहा है। शुक्रवार को  नगर निगम क्षेत्र के दीवानगंज में दीप सेन के नेतृत्व में 200 सौ लाभार्थियों का टीकाकरण किया गया जबकिं सिकंदरपुर में नितय कुमार सरकार के नेतृत्व में लगभग 150 लाभुकों को टीकाकृत किया गया है। केयर इंडिया के डीटीएल आलोक पटनायक ने बताया विगत 4 जून से शहरी क्षेत्रों में दो टीका एक्सप्रेस वैन के द्वारा नगर निगम के सभी 46 वार्डो के चौक चौराहों, सार्वजनिक स्थलों, स्कूल, कॉलेजों, सामुदायिक भवन या आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से 12,035 लाभार्थियों को टीकाकृत किया जा चुका है। 


    दो टीका एक्सप्रेस के माध्यम से 18 आयुवर्ग से लेकर वरिष्ठ नागरिकों को किया जा रहा है टीकाकृत: सीएस 
    सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा ने बताया नगर निगम क्षेत्र में राज्य केयर इंडिया के द्वारा दो टीका एक्सप्रेस के माध्यम से 18 प्लस आयुवर्ग से लेकर वरिष्ठ नागरिकों को टीकाकृत किया जा रहा है। उन्होंने बताया सिविल सर्जन के द्वारा गठित मेडिकल टीम में केयर इंडिया के डीटीएल आलोक पटनायक चंदन के नेतृत्व में एक टीका एक्सप्रेस वैन में एक एएनएम सहित तीन स्वास्थ्य कर्मी, आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका, आशा कार्यकर्ता मुस्तैद रहती हैं। नगर निगम द्वारा एक कर संग्रहकर्ता सहित केयर इंडिया की ओर से आईसीटी द्वारा कोरोना टीकाकरण कर शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा किया जा रहा है। हालांकि इसमें नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी, महापौर सहित विभिन्न वार्ड के वार्ड सदस्यों का सहयोग भी लिया जा रहा है। 


    कोरोना टीकाकरण के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने के लिए बनाई गई हैं कमिटी: डीपीएम 
    जिला कार्यक्रम प्रबंधक ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया शहरी क्षेत्रों में अधिक से अधिक टीकाकरण हो। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर विभिन्न प्रकार से जागरूकता अभियान चलाया जाता है। जागरूकता अभियान की सफ़लता के लिए स्वास्थ्य विभाग, आईसीडीएस, केयर इंडिया, यूनिसेफ एवं डब्ल्यूएचओ के कर्मियों की सहभागिता सुनिश्चित होती है। हर तरह के आयोजनों में शामिल होकर इन लोगों के द्वारा शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए महती भूमिका निभायी जा रही है। वहीं टीकाकरण की शत प्रतिशत सफलता के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीकाकरण कमेटी भी बनायी गयी है। जिसके माध्यम से कोरोना टीकाकरण के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने की रणनीति बनायी गई हैं। किसी भी समुदाय या निवासियों के द्वारा भ्रांतियां फैलाई जाती हैं तो उस स्थल पर स्वास्थ्य विभाग की टीम जाकर उस समस्या का निदान करती है ।

    शत प्रतिशत लक्ष्य को पाने के लिए सभी का सहयोग जरूरी: डीटीएल
    केयर इंडिया के डीटीएल आलोक पटनायक ने बताया टीका एक्सप्रेस के माध्यम से शहरी क्षेत्रों में कराये जा रहे टीकाकरण से पहले माइक्रो प्लान बनाया जाता है। उसके आधार पर उसी क्षेत्रों में टीका एक्सप्रेस को भेजा जाता है। ताकि वहां के स्थानीय लाभुकों को टीकाकृत किया जा सके। हालांकि चयनित स्थलों पर टीका एक्सप्रेस के द्वारा लाभुकों को टीकाकरण करने के बाद दूसरें स्थलों पर भी टीकाकरण किया जाता है। चयनित सत्र स्थलों पर जाने से एक दिन पहले उसी पोषक क्षेत्र की आंगनबाड़ी सेविका, आशा, नगर निगम के वार्ड पार्षद, विभिन्न समुदायों से जुड़े सदस्यों के साथ समन्वय स्थापित कर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाता है। ताकि टीकाकरण के लक्ष्य को ससमय पूरा किया जा सके।