Mumkin hai India

  • ताजा खबरें

    मेडिफ्री डिजिटल मोबाईल एप हुआ लांच ! जाने क्या है खास

    सारण में बेटा नहीं जनने के कारण गई प्रमिला की जान

    छपरा: पचास हजार का ईनामी अपराधी को सारण पुलिस ने किया गिरफ्तार

    मांझी: चाकू का भय दिखा कर दिनदहाड़े बाइक और मोबाइल की लूट

    मांझी: चाकू मार किया जख्मी 18 हजार लूट फरार हुए अपराधी

    छपरा: सारण जिले में असामाजिक तत्व व अपराधी किस्म के लोगो की खैर नहीं - सारण पुलिस

    Covid-19 गाइडलाइन उल्लंघन मामले में गायिका निशा उपाध्याय पर प्राथमिकी दर्ज मैरिज हॉल हुआ सील

    यूएनएससी की खुली बहस में भारत ने दुनिया का ध्यान साइबर स्पेस के गलत इस्तेमाल की तरफ खींचा

    मुख्यमंत्री केजरीवाल का एलान, पंजाब में 'आप' की सरकार बानी तो 300 यूनिट बिजली होगी फ्री

    बालाजी श्रीवास्तव दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर होंगे। दिल्ली पुलिस कमिश्नर

    लक्ष्य हासिल करने के लिए दृढ़ संकल्प, लगन के साथ सही दिशा में प्रयास बेहद जरूरी- दीपक आनंद

    ठनका गिरने से युवती की मौत

    कोरोना की लड़ाई में विपक्षी दल बाधक, जनता को कर रही है गुमराह: जेपी नड्डा

    अगले सप्ताह 'अग्नि प्राइम' ​मिसाइल का होगा ​परीक्षण ​​​​, उड़ीसा के तट पर हो रहा है तैयारी

    बंगाल सरकार ने माध्यमिक और उच्च-माध्यमिक की परीक्षाएं की रद्द

    ना तो भाजपा का सक्रिय सदस्य हूं, ना ही किसी संगठन से जुड़ा व्यक्ति हूं: वसीम रिजवी

    लाहौर में आतंकी हाफिस सईद के घर के पास हुए धमाके में तीन लोगों की मौत, 23 घायल

    छपरा: तेज आंधी पानी के दौरान ठनका गिरने से एक युवक की मौत

    छपरा: बाबा रामदेव के द्वारा किए गए आपत्तिजनक टिप्पणी के विरोध में डॉक्टरों का आक्रोश

    SC ने12वीं की परीक्षाएं रद्द नहीं करने वाले राज्यों को भेजा नोटिस

    गृह मंत्रालय ने हटाई मुकुल रॉय की Z सिक्‍योरिटी

    राम मंदिर ट्रस्ट मामला:नोएडा से लेकर प्रयागराज तक कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन, हुई गिरफ्तारियां

    CBSE RESULT: अगले महीने जारी होगा 12वीं बोर्ड का रिजल्ट, इस आधार पर निर्धारित होंगे अंक

    दक्षिण सूडान में 135 भारतीय सैनिक संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मनित

    सुप्रीम कोर्ट ने इटली के दो नौसैनिकों पर भारत में चल रहे मुकदमे को बंद करने का दिया आदेश

    सीआईएसएफ ने संभाली भारत बायोटेक के परिसर की सुरक्षा की जिम्मेदारी

    अब गुजरात मे भी शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराना होगा अपराध, लव जिहाद कानून हुआ लागू

    Gallery

    बदलते मौसम में बच्चों का रखे खास ख्याल: डा. डी. पी. गुप्ता घरों के आस-पास रखें साफ-सफाई

    2021-08-21

    मधेपुरा, 21 अगस्त: जिले में लगातार हो रही बारिश  अब थम सी गई है। हमारे घरों के आस-पास बने छोटे-छोटे गढ़ों में बरसात का पानी जाम है। जिसमें परजीवी पनपते हैं। ऐसे में हमारे घरों से दूर रहने वाले ये परजीवी हमारे घरों के आस-पास आ जाते हैं। खासकर मच्छरों  का प्रकोप काफी बढ़ जाता है। जिनके काटने से डेंगू , मलेरिया, कालाजार सहित अन्य कई प्रकार की बीमारियाँ बच्चों को हो सकती है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि इस बदलते मौसम में बच्चों का खास ख्याल रखा जाय। 

    उचित वस्त्रों का चयन कर बचा सकते हैं बच्चों को: डॉ डीपी गुप्ता 
    जिले के वरीय शिशु रोग विशेषज्ञ डा. डी. पी. गुप्ता ने बदलते मौसम में बच्चों का खास ख्याल रखने संबंधी जानकारी साझा करते हुए कहा अभी के समय में खासकर जब हमारे घरों के आस-पास बरसाती पानी जमा हो जाते  हैं। जिनके सूखने से पहले बरसात हो जाती है और वे पुनः जलमग्न हो जाते हैं। इनमें परजीवियों का बसेरा हो जाता है। इस प्रकार ये परजीवी जो हमारे आस-पास अमूमन नहीं पाये जाते हैं वे भी हमारे घरों के आस-पास मौजूद हो जाते हैं। इनमें से सबसे अधिक परजीवी जो कि बच्चों को ज्यादा प्रभावित कर सकता है वह है मच्छर। ऐसे समय में मच्छर के काटने से होने वाली बीमारियों से बच्चों को बचाना जरूरी है। इसके लिए बच्चों को सुबह शाम घर से बाहर न जाने दें। इस समय मच्छरों का प्रकोप सबसे ज्यादा रहता है। यदि बच्चे बाहर जायें भी तो उनकों पूरी बांह एवं पैरों को सही प्रकार से ढ़कने वाले वस्त्र पहनायें ताकि मच्छर उन्हें काटने न पाये।

    गोद में पल रहे शिशुओं की समुचित देखभाल जरूरी: सिविल सर्जन
    डा. डी. पी. गुप्ता ने कहा वैसे बच्चे जो अभी मां की  गोद में हैं यानि शून्य से 18 माह तक के बच्चे इनकी देखभाल में किसी प्रकार की लापरवाही उचित नहीं हैं। उनके लिए जरूरी है कि घरों में मच्छरों  के प्रकोप को कम करने के लिए मच्छरदानी का उपयोग करें। अच्छी तरह से धूप में सूखे कपड़े ही उन्हें पहनायें एवं स्वयं मां भी पहनें। ये बच्चे तो बाहर खेलने नहीं जाते किन्तु मच्छर  इनके पास आ सकते हैं। इसके लिए अपने घरों के आस-पास पानी न जमने दें। अभी के समय में गोद में पल रहे शिशुओं के आहार पर ध्यान देना जरूरी है। स्तनपान कराने से पहले अपने हाथों को अच्छी तरह साबुन पानी से धोयें। बच्चों द्वारा गीले किये गये कपड़ों को बार-बार बदलते रहें। बच्चों के प्रयोग में आने वाले कपड़ों को अच्छी तरह धूप में सुखाकर ही दुबारा उपयोग में लायें। घरों को हमेशा हवादार रखने की कोशिश करें आदि।