वैशाली: महुआ के जवाहर चौक के पास जहरीली शराब पीने से कई लोगों की हालत नाजुक, सभी को पीएमसीएच पटना "/> 

Mumkin hai India

  • Gallery

    जहरीली शराब पीने से 1 की मौत 1 पीएमसीएच में हालत गंभीर , महुआ जवाहर च्वॉक की घटना

    2021-08-08

    वैशाली: महुआ के जवाहर चौक के पास जहरीली शराब पीने से कई लोगों की हालत नाजुक, सभी को पीएमसीएच पटना रेफर किया गया है, बिहार में शराबबंदी के सख्त कानून के बावजूद जहरीली शराब का कारोबार फल फूल रहा है, इसकी सबसे मुख्य कारण क्या है? इसके रोकथाम की जिम्मेवारी किनको दी गई है, बताते चलें कि वैशाली जिला में सबसे सक्रिय थाना  सराय है, जहां आए दिन कहीं ना कहीं शराब  पकड़ी जाती है, इसकी अपेक्षा शायद ही किसी थाने क्षेत्र में शराब की बड़ी खेप    पकड़ी गई हो, जिले के और थानों की जवाबदेही नहीं है  क्या? हमारा मानना है कि सभी पंचायतों  से चौकीदार की नियुक्ति होती है, थाना अध्यक्ष द्वारा अगर चौकीदार पर दबाव  देकर यह कहा जाए कि पता करो कौन-कौन इस शराब के कारोबार में जुड़े हैं, उनकी गतिविधि को पता कर लगातार छापामारी करने से  निश्चित रूप से  शराब कारोबारियों को, शराब पीने वालों को अंकुश लगाया जा सकता है, सराय थाना अध्यक्ष अनिल कुमार जी के लगातार शराब कारोबारियों पर नकेल कसना, उनके कार्य शैली और विकास पुरुष नीतीश कुमार जी  के शराबबंदी को सही तरह से लागू कराने में बहुत हद तक सफलता हासिल   उन्होंने किया है, सभी थानाध्यक्षों से  आग्रह है कि  जिस तरह से वाहनों की चेकिंग कर जुर्माना वसूला जाता है, ठीक उसी प्रकार से कभी-कभी नाकाबंदी  कर   शराब मापने की मशीन( ब्रेथ एनआइजर) लोगों को लगा कर चेक किया जाए ताकि शराब पीने वालों में दहशत हो सके