Mumkin hai India

  • ताजा खबरें

    मेडिफ्री डिजिटल मोबाईल एप हुआ लांच ! जाने क्या है खास

    सारण में बेटा नहीं जनने के कारण गई प्रमिला की जान

    छपरा: पचास हजार का ईनामी अपराधी को सारण पुलिस ने किया गिरफ्तार

    मांझी: चाकू का भय दिखा कर दिनदहाड़े बाइक और मोबाइल की लूट

    मांझी: चाकू मार किया जख्मी 18 हजार लूट फरार हुए अपराधी

    छपरा: सारण जिले में असामाजिक तत्व व अपराधी किस्म के लोगो की खैर नहीं - सारण पुलिस

    Covid-19 गाइडलाइन उल्लंघन मामले में गायिका निशा उपाध्याय पर प्राथमिकी दर्ज मैरिज हॉल हुआ सील

    यूएनएससी की खुली बहस में भारत ने दुनिया का ध्यान साइबर स्पेस के गलत इस्तेमाल की तरफ खींचा

    मुख्यमंत्री केजरीवाल का एलान, पंजाब में 'आप' की सरकार बानी तो 300 यूनिट बिजली होगी फ्री

    बालाजी श्रीवास्तव दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर होंगे। दिल्ली पुलिस कमिश्नर

    लक्ष्य हासिल करने के लिए दृढ़ संकल्प, लगन के साथ सही दिशा में प्रयास बेहद जरूरी- दीपक आनंद

    ठनका गिरने से युवती की मौत

    कोरोना की लड़ाई में विपक्षी दल बाधक, जनता को कर रही है गुमराह: जेपी नड्डा

    अगले सप्ताह 'अग्नि प्राइम' ​मिसाइल का होगा ​परीक्षण ​​​​, उड़ीसा के तट पर हो रहा है तैयारी

    बंगाल सरकार ने माध्यमिक और उच्च-माध्यमिक की परीक्षाएं की रद्द

    ना तो भाजपा का सक्रिय सदस्य हूं, ना ही किसी संगठन से जुड़ा व्यक्ति हूं: वसीम रिजवी

    लाहौर में आतंकी हाफिस सईद के घर के पास हुए धमाके में तीन लोगों की मौत, 23 घायल

    छपरा: तेज आंधी पानी के दौरान ठनका गिरने से एक युवक की मौत

    छपरा: बाबा रामदेव के द्वारा किए गए आपत्तिजनक टिप्पणी के विरोध में डॉक्टरों का आक्रोश

    SC ने12वीं की परीक्षाएं रद्द नहीं करने वाले राज्यों को भेजा नोटिस

    गृह मंत्रालय ने हटाई मुकुल रॉय की Z सिक्‍योरिटी

    राम मंदिर ट्रस्ट मामला:नोएडा से लेकर प्रयागराज तक कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन, हुई गिरफ्तारियां

    CBSE RESULT: अगले महीने जारी होगा 12वीं बोर्ड का रिजल्ट, इस आधार पर निर्धारित होंगे अंक

    दक्षिण सूडान में 135 भारतीय सैनिक संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मनित

    सुप्रीम कोर्ट ने इटली के दो नौसैनिकों पर भारत में चल रहे मुकदमे को बंद करने का दिया आदेश

    सीआईएसएफ ने संभाली भारत बायोटेक के परिसर की सुरक्षा की जिम्मेदारी

    अब गुजरात मे भी शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराना होगा अपराध, लव जिहाद कानून हुआ लागू

    Gallery

    बच्चों के सर्वांगीण मानसिक व शारीरिक विकास के लिये स्तनपान जरूरी

    2021-08-02

    अररिया, 2 अगस्त: बच्चों के बेहतर शारीरिक व मानसिक विकास के साथ-साथ नवजात शिशु मृत्यु दर के मामलों में कमी लाने व उन्हें कुपोषण की समस्या से निजात दिलाने के लिये हर साल की तरह इस बार भी 1 से 7 अगस्त के बीच विश्व स्तनपान सप्ताह का आयोजन किया जायेगा। इस दौरान स्तनपान को बढ़ावा देने व माताओं का ध्यान इसके आकर्षित करने को लेकर विभिन्न स्तरों पर कार्यक्रम आयोजित किये जाने हैं। राज्य स्वास्थ्य समिति ने इसे लेकर विस्तृत दिशा निर्देश सिविल सर्जन सहित संबंधित अधिकारियों को दिया है। स्तनपान के महत्व से लोगों को अवगत कराने के लिये इस विशेष सप्ताह के दौरान जिला से लेकर पंचायत स्तर पर जागरूकता संबंधी कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। इसके साथ ही विशेष गतिविधियों के माध्यम से स्तनपान के महत्व से लोगों को अवगत कराया जायेगा। कार्यक्रम के सफल संचालन की जिम्मेदारी स्वास्थ्य व आईसीडीएस विभाग को सौंपी गयी है। 
     
     
    शिशु के सर्वांगीण विकास के लिये स्तनपान जरूरी: 
    स्तनपान के महत्व की जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने कहा कि नवजात शिशुओं के सर्वांगीण विकास के लिये स्तनपान खासा महत्वपूर्ण है। जन्म के पहले घंटे से ही शिशुओं को स्तनपान कराना चाहिये। इससे नवजात के मृत्यु की संभावना 20 फीसदी तक कम हो जाती है। पहले 06 माह तक केवल स्तनपान करने वाले शिशुओं में डायरिया की 11 प्रतिशत व निमोनिया की संभावना 15 गुणा तक कम हो जाती है। स्तनपान से शिशुओं का समुचित ढंग से शारीरिक व मानसिक विकास होता है। इससे शिशु के व्यस्क होने के बाद गैर संचारी रोगों की संभावना भी कम होती है। इतना ही नहीं स्तनपान कराने वाली महिलाओं में स्तन व ओवरी कैंसर की संभावना काफी कम होती है। उन्होंने कहा कि इस विशेष सप्ताह के दौरान कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जाने हैं। ताकि आम लोगों को इसके महत्व से अवगत कराया जा सके। 
     
     
    विभिन्न स्तरों पर होगा जागरूकता संबंधी कार्यक्रम का आयोजन: 
    विश्व स्तनपान सप्ताह के दौरान जिला से लेकर ग्रामीण स्तर पर जागरूकता संबंधी कार्यशाला का आयोजन किया जाना है। इसमें स्तनपान के महत्व, जन्म के तुरंत बाद स्तनपान शुरू कराने के फायदे, कंगारू मदर केयर तकनीक के विषय पर विस्तृत चर्चा किया जाना है। इस क्रम में सदर अस्पताल व रेफरल इकाई को दूध बोतल मुक्त परिसर घोषित किया जायेगा। प्रसव वार्ड में कार्यरत ममता को स्तनपान से होने वाले लाभ से अवगत कराया जायेगा। प्रसव वार्ड इंचार्ज को स्तनपान के लिये उस संस्थान का नोडल घोषित किया जायेगा। प्रत्येक स्वास्थ्य संस्थानों में अलग स्तनपान कक्ष की स्थापना की जायेगी। कक्ष के निर्माण में यूनिसेफ जरूरी मदद उपलब्ध करायेगा। 
     
     
    हर स्तर पर होगा अनुश्रवण का इंतजाम: 
    स्तनपान सप्ताह के दौरान सभी आशा, आंगनबाड़ी सेविका, एएनएम अधिक से अधिक माताओं को जन्म के पहले घंटे में शिशु का स्तनपान शुरू कराने में जरूरी मदद करेगी। वीएचएसएनडी साइट पर दो वर्ष तक के बच्चों की माताओं को आमंत्रित कर उन्हें बच्चों के पोषण स्तर पर सुधार सहित पोषाहार के बारे में जानकारी देंगी। आशा कार्यकर्ता ग्रामीण स्तर पर धात्री व गर्भवती महिलाओं के साथ बैठक कर स्तनपान से होने वाले लाभ व इसके सही तकनीक की जानकारी देंगी। इन सभी आयोजनों के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का शतप्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा। जिला स्वास्थ्य समिति व आईसीडीएस विभाग द्वारा संयुक्त रूप से इन सभी कार्यक्रमों का सतत अनुश्रवण किया जायेगा। प्रखंड स्तर पर अनुश्रवण का जिम्मा एमओआईसी सीडीपीओ, बीएचएम, बीसीएम व आईसीडीएस की एलएस के माध्यम से किया जायेगा।