Mumkin hai India

  • Gallery

    कोविड-19 टीका लगवाने के लिए घर-घर जाकर लोगों को कर रहे हैं प्रेरित

    2021-07-20

    सहरसा, 20 जुलाई: आज पूरा जिला वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर की परेशानियों से उबरने के कागार पर है। इस महामारी कितने अपनों को हमसे छीन लिया। वहीं इसकी तीसरी लहर आने की भी संभावना व्यक्त की जा रही है। ऐसे में इस वैश्विक महामारी कोरोना की रोक थाम के लिए सरकार द्वारा चलाया जा रहा कोविड- 19 टीकाकरण ही एक मात्र जरिया है जिससे हम कोरोना की संभावित तीसरी लहर के आने को दूर और उसकी तीव्रता को कम कर पाने में सफल हो पायेंगे। उक्त बातें सहरसा नगर परिषद् वार्ड न0- 31 के वार्ड पार्षद प्रतिनिधि मो0 हारूण ने कही। मो0 हारूण एक जाने-माने सामाजिक कार्यकर्त्ता के साथ साथ वार्ड पार्षद प्रतिनिधि भी हैं। जब भी समाज के लोगों के सामने किसी प्रकार की परेशानी आती है तो वे बढ़-चढ़कर इसमें हिस्सा लेते हैं। इसी प्रकार जब सरकार द्वारा कोविड- 19 का टीका लगवाने की बात आयी तो वे  इस कार्यक्रम को सफल बनाने में जुट गये।

    अफवाहों को दूर करना जरूरी था:
    मो0 हारूण ने कहा जैसे ही कोविड- 19 टीकाकरण के बारे में लोगों को जानकारी मिली, वैसे ही इसके बारे में सामाजिक एवं धार्मिक दोनों स्तरों से अफवाहों का भी बाजार गर्म होने लगा। ऐसे में सरकार द्वारा चलाये जा रहे कोविड- 19 टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए बहुत जरूरी था कि सबसे पहले इन अफवाहों को दूर किया जाय। इसके लिए सामाजिक एवं धार्मिक स्तर पर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग एवं स्थानीय जानकारों के साथ मिल लोगों में फैले अफवाहों, भ्रांतियों एवं अन्य प्रकार की गलत जानकारियों को संयम के साथ सुना एवं उन सभी को इसके प्रति उचित जानकारी दी। जब भी मुझे अपने आस-पास इस प्रकार की जानकारी की सूचना मिली मैं स्वयं वहाँ जाकर उनसे मिलकर उनकी भ्रांतियों को दूर किया। 

    अपने दरवाजे पर चलवा रहे हैं कोविड- 19 टीकाकरण सत्र
    उन्होंने कहा जैसे ही उन्हें राज्य सरकार की इस पहल की जानकारी मिली त्तत्पर होकर इसे अपनाया और अपने दरवाजे पर कोविड- 19 टीकाकरण सत्र स्थल चलाया जाना सहर्ष स्वीकार किया। स्वास्थ्य विभाग के टीकाकर्मी भी इनके इस व्यवहार से काफी खुश नजर आ रहे हैं। सरकार की इस पहल से कोविड- 19 टीकाकरण में जहाँ महिलाओं की भागदारी बढ़ी है वहीं सरकार की पहुन्च लोगों के दरवाजे तक भी बनी है। सरकार के इस प्रकार की पहल का ही नतीजा है कि आज जिले में कोविड- 19 टीकाकृत महिलाओं की संख्या पुरूषों के लगभग बराबर है। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड- 19 का टीका लेने स्वास्थ्य केन्द्रों पर जाने से लोगों में संक्रमण फैलने का भय बना रहता था ऐसे में सरकार द्वारा किये गये सार्थक प्रयास आज सफल हो रहे हैं। 

    संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए जरूरी है कोविड- 19 टीकाकारण
    वार्ड पार्षद् प्रतिनिधि मो0 हारूण ने कहा विशेषज्ञों द्वारा कोविड- 19 की तीसरी लहर आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। संभावित तीसरी लहर हम तक कब पहुँचेगी और इसकी तीव्रता कैसी होगी यह हम पर निर्भर करता है। इसके लिए जनभागीदारी आवश्यक है। 18 प्लस के सभी लोगों को चाहिए कि वे निर्भीक वो निडर होकर कोरोना का टीका लगवायें, इसके लगवाने से किसी प्रकार की हानि नहीं होती है। यह टीका हमें कोविड की संभावित तीसरी लहर से तो बचाएगा ही साथ ही अन्य कई अन्य प्रकार की बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करेगा।