Mumkin hai India

  • Gallery

    बदलते मौसम में अधिक सावधान रहने की जरूरत, बच्चों का रखें विशेष ख्याल

    2021-07-16

    मधेपुरा, 16 जुलाई: जिले में कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच लगातार बदल रहें मौसम के कारण तरह- तरह की मौसमी बीमारी के होने की संभावना भी काफी बढ़ गई है। इसीलिए कोरोना के साथ ही इससे भी बचने के लिए हमें और अधिक सावधान रहने की जरूरत है। इस दौरान बच्चों के साथ ही किशोर व युवाओं को भी कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए सही पोषण का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। क्योंकि सही पोषण से ही लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है जो कोरोना संक्रमण से बचने के साथ ही मौसमी बीमारियों से हमें बचाने में भी संजीवनी साबित होगी। इसके साथ ही अभी भी लोगों को मास्क और शारीरिक दूरी के नियम का पूरी सावधानी के साथ पालन करना आवश्यक है।

    इम्युनिटी बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहार का करें सेवन:
    सदर अस्पताल मधेपुरा के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ डी पी गुप्ता के ने बताया, बदलते मौसम में कई तरह की मौसमी बीमारियों के होने की भी संभावना काफी बढ़ जाती है। जैसे कि एलर्जी, सर्दी-खाँसी, बुखार सहित अन्य वायरल टाइप की बीमारियों की भी चपेट में लोग आ जाते हैं। इसलिए इससे बचाव के लिए हरी सब्जी, दाल, साग समेत अन्य पौष्टिक आहार का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें। बच्चों का सही पोषण का उनके माता-पिता व परिवार के अन्य सदस्यों को विशेष ख्याल रखना चाहिए और ससमय खाना खिलाना चाहिए।


    कोरोना सहित अन्य मौसमी बीमारियों के संक्रमण से बचने के लिए सभी लोग समय पर खाएं खाना:
    उन्होने बताया कि मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए प्रत्येक दिन समय पर खाना खाएं और पर्याप्त मात्रा में उचित व शुद्ध पानी का सेवन करें। हरी सब्जी व साग का ज्यादा उपयोग करें, इससे हमारे शरीर में पोषक तत्व बढ़ता है और हमें बीमारी से लड़ने में सहयोग करता है।


    बीमारियों के संक्रमण से बचने के लिए साफ -सफाई का भी रखें विशेष ख्याल:
    उन्होंने बताया कि सभी तरह की बीमारियों के संक्रमण से बचने के लिए सभी लोग साफ-सफाई का भी विशेष ख्याल रखें और घर से लेकर आसपास के जगहों पर भी साफ-सफाई का विशेष ध्यान दें। ब्लीचिंग पाउडर का नियमित रूप से छिड़काव कराएँ। साथ ही आसपास के लोगों को भी साफ- सफाई के प्रति जागरूक करें। इसके अलावा रहन-सहन के तरीके में भी बदलाव लायें। जो हमें बीमारी के दायरे से बचाये एवं हम अस्पताल जाने से बचें।

    शरीर में पानी की नहीं होने दें कमी:
    उन्होंने बताया कि शरीर में पानी की कमी होने के कारण भी तरह- तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए शरीर में पानी की कमी नहीं होने दें। इसके लिए लगातार शुद्ध पानी पीयें और बाहर निकलने यानी यात्रा के दौरान पानी साथ लेकर चलें।

    सभी लोग अनिवार्य रूप से करें कोरोना गाइड लाइन का पालन:
    सभी लोग घर से बाहर निकलने कि स्थिति में मास्क, गमछा, रुमाल या अन्य कपड़े से अपने नाक और मुंह को ढकें ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को कम से कमतर किया जा सके।
    सभी लोग भीड़ भाड़ वाले स्थान पर जाने की स्थिति में शारीरिक दूरी के नियम के तहत कम से कम दो गज या छह फीट के नियम का पालन करें। सभी लोग कुछ भी छूने कि स्थिति में साबुन या हैंड सैनिटाइजर से अपने हाथों को एक निश्चित अंतराल के बाद साफ करें ताकि हाथों के जरिये कोरोना वायरस का संक्रमण न फैलने पाए।

    संक्रमण वाली जगहों या जहां पर पर साफ -सफाई नहीं हो वहाँ खाना खाने से बचना चाहिए।
    घर के आसपास गंदगी जमा नहीं होने दें।
    संक्रमण वाले स्थानों से दूर रहें।