Mumkin hai India

  • Gallery

    आयुष्मान भारत के अधिकारियों ने लाभार्थियों से की मुलाकात

    2021-07-14

    गया, 14 जूलाई: जिला में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना कार्यक्रम के तहत लोगों को अधिकाधिक लाभ दिलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा सजगता से काम किया जा रहा है। साथ ही ऐसे लोग जिन्होंने आयुष्मान भारत के तहत हेल्थ कार्ड बना रखा है और स्वास्थ्य लाभ अथवा इलाज में आ रही बाधा का सामना कर रहे हैं, इसके लिए भी आयुष्मान भारत कार्यक्रम के अधिकारियों द्वारा भी लाभुकों से व्यक्तिगत तौर पर मुलाकात कर इस समस्या का समाधान किया जा रहा है। इस क्रम में बुधवार को आयुष्मान भारत कार्यक्रम के संबंधित अधिकारियों ने शेरघाटी अनुमंडल के विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण कर पीड़ितों से मुलाकात की और आवश्यक जानकारी देते हुए उनकी समस्या का समाधान किया।

    अखबार में प्रकाशित खबर से मिली जानकारी: 
    आयुष्मान भारत के तहत हेल्थ कार्ड रखने वाले लाभार्थियों को उनके इलाज में हो रही असुविधा के संबंध में स्थानीय अखबार में प्रकाशित एक खबर पर संज्ञान लेते हुए आयुष्मान भारत के अधिकारियों ने त्वरित प्रक्रिया देकर लाभार्थियों के घर पहुंच उनसे मुलाकात की और मामले को समझा। साथ ही उन्हें उन अस्पतालों की जानकारी दी जहां वे संबंधित रोग का निशुल्क इलाज करा सकते हैं।

    लाभार्थियों से अधिकारियों ने की मुलाकात: 
    भ्रमण के दौरान आयुष्मान भारत के जिला कार्यक्रम समन्वयक नलीन मौर्य तथा पार्टनर एंजेंसी एशियन डेवलपमेंट रिसर्च इंस्टीच्यूट के प्रोजेक्ट अधिकारी अभिषेक कुमार की टीम ने शेरघाटी के गोपालपुर व हमजापुर गांवों का भ्रमण कर लाभार्थी मिथिलेश कुमार तथा सिंकदर से मुलाकात की और उनका हालचाल जाना। हेल्थ कार्ड बनाने के पश्चात इलाज में आ रही बाधा को समझते हुए लाभार्थियों को आवश्यक परामर्श भी दिया। आयुष्मान भारत के जिला कार्यक्रम समन्वयक नलीन मौर्य ने बताया कई बार लोग हेल्थ कार्ड बने होने के बावजूद उन अस्पतालों तक नहीं पहुंच पाते जहां उन्हें नि:शुल्क इलाज की सुविधा प्राप्त होती है। जिला में आयुष्मान भारत के तहत 19 अस्पतालों को सूचीबद्ध किया गया है जहां विभिन्न रोगों का इलाज कराया जा सकता है। अस्पताल की जानकारी 14555 टॉल फ्री नंबर से भी ली जा सकती है। अस्पतालों में आरोग्य मित्र मौजूद होते हैं जिनसे मुलाकात कर समस्या की जानकारी दी जा सकती है।

    अनुमंडल के निजी अस्पताल भी होंगे सूचीबद्ध: 
    वहीं अधिकारियों की टीम ने शेरघाटी के निजी अस्पतालों का भी भ्रमण किया ताकि भविष्य में यहां के अस्पतालों को आयुष्मान भारत के तहत सूचीबद्ध किया जा सके। स्थानीय निजी अस्पतालों को आयुष्मान भारत के तहत सूचीबद्ध किये जाने से यहां के लाभार्थियों को इलाज की जरूरी सुविधाएं प्राप्त हो सकेंगी।