Mumkin hai India

  • Gallery

    गया: शहरी प्रखंड क्षेत्र में आज 26 जगहों पर कोविड टीकाकरण

    2021-07-12

    गया, 12 जूलाई: कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग तथा जिला प्रशासन द्वारा टीकाकरण कार्य युद्धस्तर पर चलाया जा रहा है। 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लोगों का अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण हो सके, इसके लिए मंगलवार को टीकाकरण अभियान चलाया जायेगा। शहरी क्षेत्र प्रखंड के 26 चिह्नित स्थानों पर टीकाकरण कार्य किया जायेगा। टीकाकरण कार्य के अनुश्रवण व मूल्यांकन के लिए जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी सह कोविड नोडल अधिकारी डॉ एमई हक को जिम्मेदारी सौंपी गयी है। टीकाकरण कार्य संबंधी सहायता प्राप्त करने के लिए आमजन कोविड नोडल पदाधिकारी डॉ एमई हक से संपर्क कर सकते हैं।

    इन 26 जगहों पर किया जायेगा कोविड टीकाकरण:
    खरखुरा महावीर स्थान कम्युनिटी हॉल, डेल्हा मध्य विद्यालय, मंदराज बिगहा, बागेश्वरी मंदिर, गोविंदपुरी प्राथमिक स्कूल, कम्युनिटी हॉल बम बाबा,
    डायट, गया पंचायती अखाड़ा, वार्ड कांउसेलर हाउस, महारानी रोड, देवी स्थान मंदिर शंकर मिडिल स्कूल,
    डाक स्थान रैन बसेरा, जनता मिडिल स्कूल, रामरूचि स्कूल, वैष्णवी हॉस्पिटल, राजकीय मध्य विद्यालय, पंचायती अखाड़ा, गुरुद्वारा रोड अखाड़ा, गुरुनानक मिडिल स्कूल, लक्ष्मण सहाय लेन, अनुग्रह मिडिल स्कूल, महावीर हाई स्कूल, बारी रोड, हनुमान नगर शिव मंदिर, मुरारपुर मिडिल स्कूल, कासमी हाई स्कूल, जैन धर्मशाला, कासमी मिडिल स्कूल, मिल्लत हॉस्पिटल, करीमगंज कब्रिस्तान, बुलंद मैरिज हॉल, न्यू करीमगंज।

     

    भ्रांतियों में नहीं आयें, टीकाकरण सुरक्षित और असरदार: नोडल पदाधिकारी
    डॉ एमई हक ने बताया कोविड टीकाकरण के लिए सघन रूप से समुदाय के लोगों को जागरूक कर टीका लेने के लिए प्रेरित किया गया है। टीकाकरण से जुड़ी भ्रांतियों को दूर करते हुए लोगों से डोर टू डोर जागरूकता अभियान के लिए भी कई जगहों पर काम किया गया है। इसी प्रकार की रणनीति अपनाते हुए अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करा कर उन्हें सुरक्षित रखने का काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया टीकाकरण सुरक्षित और असरदार है। 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोग, गंभीर रोग से ग्रसित लोगों सहित रक्तचाप व शुगर के लोगों को टीकाकरण जरूर कराया जाना चाहिए। वहीं स्तनपान करा रही महिलाएं भी टीकाकरण करायें। रक्तचाप व शुगर सहित किडनी व गंभीर लोगों को आवश्यक रूप से यह टीका लेना है। टीकाकरण के बाद बुखार आने की भी लोग बात कहते हैं। टीकाकरण की यह सामान्य प्रक्रिया है। बुखार आने पर परेशान नहीं हों। यह दवाई के सही तरीके से काम करने की ओर इशारा करता है। टीकाकरण के बाद शरीर में एंटीबॉडी बनने की प्रक्रिया प्रारंभ होने लगती है।