झारखण्ड/राँची: केन्द्रीय विश्वविद्यालय राँची के कुलपति प्रो.आर० के०डे ने धरती फाउंडेशन के भार"/> 

Mumkin hai India

  • Gallery

    राँची: कुलपति ने पौधे लगाकर दिये हरियाली का संदेश।

    2021-07-10

    झारखण्ड/राँची: केन्द्रीय विश्वविद्यालय राँची के कुलपति प्रो.आर० के०डे ने धरती फाउंडेशन के भारत नदी अभियान 500 करोड़ वृक्षारोपण अभियान को सफल बनाने के लिए शुक्रवार को राँची के होचर गाँव में आयोजित पौधरोपण कार्यक्रम में शामिल होकर पौधरोण किया और कहा कि पर्यावरण को बचाना हम सब का दायित्व है। पर्यावरण साफ -स्वच्छ एवं आने वाली पीढ़ी के लिए सुरक्षित बना रहे इसके लिए हम सब को पौधा रोपण करना चाहिए। इस अवसर पर पीपल तथा निम के वृहद् मात्रा में पौधे रोपे गए। जिसमें केंद्रीय विश्वविद्यालय राँची के कुलपति के साथ डिप्टी रजिस्ट्रार लौटिनेंट कैडर उज्जवल कुमार एवं बिरसा कृषि विश्वविद्यालय राँची के कुलपति ने एक एक वृक्ष का रोपण करके आयोजित कार्यक्रम को सफल बनाया तथा धरती फाउंडेशन द्वारा चलाये जा रहे 500 करोड़ वृक्षारोपण अभियान को सफल बनाने के लिए एक सकारात्मक मुहीम दिया।
    इस अवसर पर बिरसा कृषि विश्वविद्यालय राँची के कुलपति प्रो० ओंकार नाथ सिंह ने कहा कि पीपल के पौधे पर्यावरण में अन्य पौधों की अपेक्षा ज्यादा आक्सीजन छोड़ते हैं। पीपल की पत्तियां हमेशा हिलती रहती हैं। धार्मिक दृष्टि से भी इसका बहुत महत्व है। ऐसे में पीपल का पौधा बहुत उपयोगी माना गया है। पर्यावरण को स्वच्छ बनाना बहुत आवश्यक है। हम सभी को पौधा रोपण करना चाहिए। अन्य लोगों को भी प्रेरित करना चाहिए। पीपल का पेड़ 24 घंटे आक्सीजन देता है। इसके लिए शैक्षणिक संस्थानों में पौधा रोपण का कार्यक्रम बहुत ही सराहनीय है। 
    आयोजित कार्यक्रम में पधारे अतिथि के रूप में आये केंद्रीय विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार प्रो0 उज्जवल ने कहा कि ‘विकास एवं उद्योगों की वजह से अंधाधुंध पेड़ों की कटाई हो रही है। ऐसे में लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरुक होना अत्यंत आवश्यक है। विश्वविद्यालय में तथा अन्य सावर्जनिक एवं शैक्षणिक संस्थानों पर पौधारापण इसी का एक प्रयास है। पौधे लगाने के बाद उसकी सुरक्षा एवं देखभाल ज्यादा जिम्मेदारी भरा काम है।‘
    आज सभी शैक्षणिक संस्थाओं में पीपल के पौधे लगाए जा रहे हैं। धरती फाउंडेशन द्वारा चलाये जा रहे 500 करोड़ वृक्षारोपण अभियान के संकल्प में बड़ी संख्या में लोग भागीदार बने। जिसमें शैक्षणिक अमले सहित, कर्मचारी एवं राष्ट्र के प्रत्येक नागरिक पर्यावरण के प्रति उत्तरदायित्यव को समझे एवं निभाए।
    चिरंजीवी कांसेप्ट स्कूल के डाइरेक्टर डॉ0 माया कुमार ने पौधा रोपण करके लोगों के बीच एक सुंदर संदेश देते हुए कहा कि यह धरती फाउंडेशन द्वारा 500 करोड़ वृक्षारोपण अभियान अपने आप में एक बहुत ही महत्वपूर्ण एवं अभिनव पहल है। उन्होंने कहा कि आज इस धरती फाउंडेशन द्वारा आयोजित पौधरोपण कार्यक्रम में आये केंद्रीय विश्वविद्यालय राँची के कुलपति एवं डिप्टी रजिस्ट्रार तथा बिरसा कृषि विश्वविद्यालय राँची के कुलपति का आभार करते हुए कहा कि आप भविष्य में भी इस तरह के कार्यक्रम में सहयोगी बन कर इस अभियान को सफल बनायें तथा प्राकृतिक के प्रति अपने उत्तरदायित्यव को समझे एवं निभाए और हमारा प्रयास यही रहे  कि लगाए गए पौधे में से अधिक से अधिक पौधों को बचाया जा सके। संवाददाता बिट्टू कुमार सिंह से बातचीत के दौरान धरती फाउंडेशन के सदस्यों ने बताया कि इस मुहीम से सभी वर्ग सामूहिक सहयोग कर रहे।