Mumkin hai India

  • Gallery

    दंपति संपर्क पखवाड़ा के तहत आशा कार्यकर्ता घर-घर बांट रही परिवार नियोजन सामग्री

    2021-07-09

    अररिया, 09 जुलाई: जिले में 11 जुलाई से जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा का आयोजन किया जायेगा। इसकी सफलता को लेकर जरूरी तैयारी की जा रही है। फिलहाल इसकी सफलता को लेकर दंपति संपर्क पखवाड़ा का संचालन किया जा रहा है। 27 जून से 10 जुलाई तक संचालित होने वाले संपर्क पखवाड़ा के तहत आशा कार्यकर्ता के माध्यम से सर्वे के माध्यम से योग्य दंपतियों को चिह्नित किया जा रहा है। इसी क्रम में जिले के सभी पीएचसी में आशा कार्यकर्ताओं का उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वहीं विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई से 24 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा का आयोजन किया जाना है. इस वर्ष परिवार नियोजन पखवाड़ा का थीम आपदा में भी नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र एवं परिवार की पूरी जिम्मेदारी रखा गया है। 


    आशा कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन राशि देने का है प्रावधान: 
    जिले में संचालित दंपति संपर्क पखवाड़ा के दौरान योग्य दंपतियों को चिह्नित करने के लिये आशा कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन राशि के रूप में 300 रुपये का भुगतान किया जायेगा। साथ ही परिवार नियोजन के लिये प्री रजिस्ट्रेशन कराने पर आशा को प्रोत्साहन राशि के रूप में 100 देने का प्रावधान है। सर्वे कार्य के लिये सभी आशा को सीएनए फार्मेट उपलब्ध कराया गया है। इसमें सभी जरूरी जानकारियां होंगी। सर्वे के दौरान आशा कार्यकर्ताओं ने किन लोगों से संपर्क किया। उन्में योग्य दंपति के रूप में कितने का चिह्नित किया गया। कितने लोगों ने परिवार नियोजन को लेकर प्री रजिस्ट्रेशन कराया। सर्वे के दौरान क्षेत्र के कितने लोगों के बीच परिवार नियोजन सामग्री का वितरण किया गया। इन सभी चीजों का ब्योरा सीएनए फार्मेट में दर्ज होगा। 


    पखवाड़ा के दौरान होंगे कई कार्यक्रम आयोजित: 
    परिवार नियोजन पखवाड़ा से संबंधित जानकारी देते हुए केयर इंडिया की डीटीएल पर्णा चक्रवती ने बताया कि इस दौरान जगह-जगह अंतरा कैंप लगाये जायेंगे। साथ ही परिवार नियोजन उपायों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिये विशेष शिविर का आयोजन किया जायेगा। परिवार नियोजन कार्यक्रम के जिला समन्वयक केयर अय्याज असरफी ने बताया कि परिवार नियोजन पखवाड़ा के दौरान परिवार नियोजन के सुरक्षित उपायों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाना है। साथ इसे अपनाने के लिये उन्हें प्रेरित किया जाना है। साथ ही दो बच्चों के बीच कम से कम तीन साल का अंतर रखने के लिये भी दंपतियों को प्रेरित किया जायेगा। जो बच्चों के सर्वांगीण विकास व सेहतमंद जिन्दगी के लिहाज से महत्वपूर्ण है। बुधवार व शुक्रवार को आंगनबाड़ी केंद्रों पर संचालित नियमित टीकाकरण अभियान के दौरान संबंधित एएनएम क्षेत्र के लोगों की काउंसिलिंग करेंगी। उन्हें खुशहाल जीवन के लिये छोटे परिवार के महत्व से अवगत कराते हुए इसे अपनाने के लिये प्रेरित किया जायेगा।