Mumkin hai India

  • Gallery

    अल्पसंख्यक समुदाय में जागरूकता के लिए कोविड टीकाकरण रथ रवाना

    2021-07-09

    किशनगंज, 09 जुलाई: जिले में टीकाकरण के प्रति अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से अपर समाहर्ता ब्रजेश कुमार, अब्दुल क्यूम अंसारी-अध्यक्ष, बिहार राज्य मदरसा  शिक्षा बोर्ड के द्वारा बिहार राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड पटना द्वारा कोविड टीकाकरण जागरूकता अभियान रथ को समाहरणालय परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। जागरूकता रथ जिले के सभी प्रखंडों, अनुमंडलीय क्षेत्रों के साथ बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों व अल्पसंख्यक समुदाय के बीच जाकर टीकाकरण को लेकर लोगों को जागरूक करेगा। अपर समाहर्ता ब्रजेश कुमार ने कहा कि प्रखंडों के मौलवी, मौलाना व जनप्रतिनिधियों से अपील की जा रही है कि वे लोग भी जागरूकता में शामिल हो क्षेत्र के लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक करें। मौके पर सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने कहा चलंत टीकाकरण दल द्वारा कोरोना की जाँच, 18 वर्ष एवं 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीका दिया जा रहा है। वैन द्वारा टीकाकरण को गति देने में और प्रचार प्रसार करने में सहयोग मिलेगा है। उक्त रथ द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के बीच जाकर टीकाकरण को लेकर लोगों को जागरूक करेगा। उक्त मौके पर सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन, जिला उप विकास आयुक्त मनन राम, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी, जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी सहित अन्य प्रशासनिक पदाधिकारी मौजूद थे।

    टीकाकरण के लिए जागरूकता है जरूरी: अध्यक्ष
    अब्दुल क्यूम अंसारी-अध्यक्ष, बिहार राज्य मदरसा  शिक्षा बोर्ड ने बताया टीकाकरण का लक्ष्य बढ़ाने के उद्देश्य से ग्रामीण क्षेत्रों विशेष कर महादलित टोले के लोगों को जागरूक करना एवं सूझबूझ के साथ टीकाकरण करवाना जरूरी है। क्योंकि अल्पसंख्यक एवं महादलित टोला में ग्रामीणों के द्वारा टीका लेने पर भ्रम की स्थितियों के उत्पन्न होने के कारण कुछेक क्षेत्रों में टीकाकरण में बाधाएं हो रहीं हैं। समाज को सुरक्षित रखने का दायित्व सभी पर है इसलिए आज शुक्रवार को विशेष तौर पर अंजुमन इस्लामिया व उर्दू शिक्षा बोर्ड द्वारा कोविड 19 टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए प्रचार प्रसार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों के बीच जाकर मौलवी, मौलाना व जनप्रतिनिधि ये संदेश दे कि टीका लगवाने से किसी भी प्रकार का कोई समस्या नहीं है। हमलोगों ने टीका लगवाया है औऱ हमलोग पूरी तरह सुरक्षित हैं। आपलोग भी टीकाकरण कराएं औऱ अपने साथ अपने परिवार को भी सुरक्षित करें। साथ ही जनप्रतिनिधियों, मौलाना, मौलवियों, समाजसेवियों को क्षेत्रों में जाकर उन्हें लोगों को जागरूक करने की जरूरत है। 
     
    टीकाकरण के बाद भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन है जरूरी:
    लोगों से अपील करते हुए अंजुमन इस्लामिया व बिहार राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड के सदस्यों ने कहा कि टीकाकरण के बाद भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना आवश्यक है। संक्रमण अभी पूरी तरह से टला नहीं है, थोड़ी सी भी लापरवाही पर सकती है भारी। जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार काफी कम हुई है। ऐसा प्रशासन की सक्रियता व लोगों में आई जागरूकता के कारण संभव हो सका है। जरूरत है सरकार और स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करने की। कहा ऐसे में शहर में तभी निकलें जब बेहद जरूरी काम हो या फिर नौकरी-पेशा हैं  और दफ्तर जाना जरूरी है। बेवजह भीड़ का हिस्सा बनना, परिवार व समाज के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। भीड़ में इस बात का अंदाजा लगा पाना कि कौन कोरोना संक्रमित है और कौन स्वस्थ यह मुमकिन नहीं है। सावधानी है सबसे सरल उपाय है। क्योंकि कोरोना संक्रमण अदृश्य है। बताया कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण  ज़रूर कराएं।