Mumkin hai India

  • Gallery

    मॉनसून में रहें सावधान, मच्छरों से होने वाले रोगों की संभावना बढ़ी

    2021-07-06

    गया, 6 जूलाई : मौसम में बदलाव होने के कारण मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है|. कोविड काल में मलेरिया व डेंगू से निबटने के लिए स्वास्थ्य विभाग लोगों को मच्छर जनित रोगों के बारे में जागरूक कर रहा है| जगह जगह पर पोस्टर व होर्डिंग्स के माध्यम से मच्छर जनित रोगों की रोकथाम व मलेरिया व डेंगू जैसे रोगों के लक्षण की जानकारी दी जा रही है| मच्छरजनित रोगों की रोकथाम के लिए अपनाये जाने वाले विभिन्न उपायों जैसे फॉगिंग आदि के साथ मलेरिया प्रभावित क्षेत्रों को चिह्नित  किया जा रहा है| 

    लक्षणों की पहचान कर इलाज जरूरी: 
    जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ एमई हक ने बताया लोगों को मलेरिया या मच्छरों से होने वाले दूसरी बीमारियों से बचने की जानकारी दी जा रही है| मलेरिया की जांच एवं उपचार की सुविधा सभी सरकारी अस्पतालों तथा स्वास्थ्य केंद्रों पर मुफ्त उपलब्ध है| उन्होंने बताया मलेरिया होने के विभिन्न लक्षणों को ध्यान में रखना जरूरी है| ठंड लगना, कंपकपी, सिरदर्द, उल्टी एवं चक्कर आना, तेज बुखार एवं अत्यधिक पसीने के साथ बुखार कम होना मलेरिया के लक्षण हैं|  यदि ऐसा प्रतिदिन या एक दिन अथवा निश्चित अंतराल के बाद होता है तो ये मलेरिया के गंभीर लक्षण की ओर इशारा करते हैं| ऐसे लक्षण दिखने पर बिना देरी नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर मरीज को ले जाकर जांच करवाने की आवश्यकता होती है| लक्षणों की लापरवाही और इलाज में देरी से रोगी के मृत्यु की भी संभावना होती है|

    मलेरिया से सुरक्षित रहने के करें उपाय: 
    मलेरिया व मच्छर जनित अन्य रोगों से बचाव के लिए घरों में पानी का जमाव नहीं होने दें| छत, कूलर, गमला व ऐसे किसी हिस्से में जलजमाव नहीं होने दें| ऐसी जगहों पर मच्छर के लार्वा पनपते हैं| घर के नाली व ऐसे किसी हिस्से की नियमित सफाई करें| उसमें किरासन तेल अथवा मच्छरों के मारने वाले रसायनों का छिड़काव करें| सोते समय मच्छरदानी का उपयोग अवश्य करें| खिड़की और दरवाजों पर जाल लगवायें| विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक मलेरिया का जोखिम पांच साल के छोटे बच्चों को बहुत अधिक होता है| वर्ष 2019 में विश्वे में मलेरिया से हुए कुल मृत्यु का 67 फीसदी बच्चे थे| छोटे बच्चों को हल्के व पूरे आस्तीन वाले कपड़े पहनायें| गर्भवती महिलाएं व छोटे बच्चों को मच्छरों से बचाने के हरसंभव उपाय अपनायें|