Mumkin hai India

  • Gallery

    संघ द्वारा प्रधानमंत्री को भेजी गई, 8 सूत्री मांग पत्र पर हुई विशेष चर्चा।

    2021-03-14

    14 मार्च,पटना: अखिल भारतीय पिछड़ा वर्ग संघ के केंद्रीय कार्यालय में कल देर रात तक संघ व इसके आंदोलन से जुड़े कई सामाजिक व बौद्धिक संगठनों की एक संयुक्त सभा में पिछड़ों के कल्याणार्थ कार्यक्रम अपनाने के लिए गत वर्ष संघ द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजी गई 8 सूत्री मांग पत्र पर विशेष चर्चा हुई।सभा के प्रस्ताव में इस विषय पर आम राय बनी कि जाति चेतना को वर्गीय चेतना में बदलने का आंदोलन , आज समय की मांग है।प्रस्ताव में न्यायपालिका, कार्यपालिका, विधायिका सहित सभी प्राइवेट सेक्टरों में भी जनसंख्या के अनुसार हर जाति व वर्ग को आरक्षण दिए जाने के लिए बड़ी लड़ाई शुरू करने की जोरदार हिमायत हुई। अध्यक्षीय संबोधन में संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष इन्द्र कु.सिंह चंदापुरी ने कहा कि एनडीए - 1 में केंद्र सरकार के तत्कालीन गृह मंत्री राजनाथ सिंह के आदेश के बाद भी 2021 की जनगणना में पिछड़ी जातियों की जाति आधारित जनगणना न होना घोर चिंता का विषय है।श्री चंदापुरी ने पीएम नरेंद्र मोदी से मांग की है कि देशोत्थान हेतु मंडल आयोग की सभी सिफारिशों को सन् 1931 के जातीय जनगणना के आधार पर पिछड़ों को उनके आबादी के अनुरूप तथा सरकारी व अर्धसरकारी क्षेत्रों के साथ - साथ निजी क्षेत्रों में भी आरक्षण शीघ्र लागू करने के लिए संविधान के अनुच्छेद 15(4) व 16(4) में आवश्यक संशोधन हेतु संविधान संशोधन बिल संसद के दोनो सदनो से शीघ्र पारित करावें तथा पारित अधिनियम को संविधान के नवीं अनुसूची में अंकित कराएं। मुख्य अतिथि डॉ दिलीप कुमार ने डॉ आंबेडकर, फुले,पेरियार व त्यागमूर्ति आर एल चंदापुरी द्वारा छेड़ी गई आंदोलनों के उद्देश्य को जन - जन तक पहुंचाने के लिए उसकी उपलब्धि,भविष्य में देश के पुनर्निमाण में संघ की भूमिका को सही ढंग से उठाने व उसके उद्देश्यों की पूर्ति के लिए समाज के सभी बुद्धिजीवियों को एक मंच पर आने का आह्वाहन किया। सभा में डॉ राममनोहर लोहिया के जन्म दिवस के अवसर पर आगामी 4 अप्रैल को संघ का कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित करने का सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित किया गया।सभा को संघ के प्रदेश अध्यक्ष रोहन भगत मालाकार उर्फ भंते जी,महासचिव डी पी साहू, डॉ रंजीत कुमार, डॉ दीपक कुमार मोहन, इंजि. बी बी सिंह, श्रीमती शांति शाह, श्रीमती देवयंती यादव,अशोक सिंह पटेल,संतोष कुमार पत्रकार,सुधीर कुमार पटेल,अधिवक्ता अरविंद कु सिंह,शशिभूषण पासवान, शैलेंद्र साहू,रविकांत सिंह,विश्वनाथ पासवान,गणेश रजक,विनीत चंद्रवंशी,विकास कु आदि गणमान्य लोगों ने संबोधित किया।