Mumkin hai India

  • Gallery

    कोविड-19 के संक्रमण से उबर चुके लोगों को अभी भी सावधानीपूर्वक रहने की है जरूरत

    2021-07-02

    पूर्णिया, 02 जुलाई: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का संक्रमण अब धीरे-धीरे कम हो रहा है। लेकिन अभी भी खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की ओर से टीका एक्सप्रेस द्वारा शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में डोर टू डोर भ्रमण कर बचे हुए लोगों को कोरोना टीकाकरण किया जा रहा है । ताकि शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा किया जा सके। कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोग ठीक भी हो रहे हैं। लेकिन अभी भी सावधान और सतर्क रहने की जरूरत इस दौर में स्वस्थ हो चुके मरीजों को अभी भी सचेत रहने की जरूरत है और इस बात की पुष्टि भी हो चुकी है कि किसी भी व्यक्ति को कोरोना संक्रमण दोबारा अपनी चपेट में ले सकता है। संक्रमण धीमी रफ़्तार को देखते हुए इस समय और ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि मौसम भी बदल रहा है। जिले के कई चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना की चपेट आ गए थे। जिस कारण वे अपनी सेवाएं देने में असमर्थ थे। लेकिन अब धीरे धीरे स्वास्थ्य विभाग पटरी पर लौट रहा है। ऐसे में हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि सावधानी पूर्वक रहते हुए अपने कार्यो को निबटाने का प्रयास करते रहें। कठिन परिस्थितियों में भी अपनी सुरक्षा के साथ अपनों का ख्याल रखना जरूरी हो गया है।

    -अनिवार्य रूप से घर में रहते हुए हल्का, सुपाच्य एवं प्रोटीनयुक्त भोजन का सेवन करना चाहिए: सिविल सर्जन 
    सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा ने बताया विगत वर्ष की भांति इस वर्ष कोरोना वायरस की चपेट में ज्यादा लोग आ गए थे। राज्य सरकार द्वारा दिये गए दिशा-निर्देश के आलोक में जिलाधिकारी के द्वारा ज़िले में लॉक डाउन लगाया गया है। लेकिन अब धीरे-धीरे आवश्यकता के अनुसार सरकार ने खोलने का निर्णय लिया है। लेकिन इस समय हम सभी को अपने-अपने घरों में रहकर और अनुशासित जीवनशैली अपनाकर स्वयं को कोरोना के संक्रमण से बचाया जा सकता है। अनिवार्य रूप से घर में रहते हुए हल्का, सुपाच्य एवं प्रोटीनयुक्त भोजन का सेवन करना चाहिए। इससे शरीर को रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। साथ ही कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों से भी सुरक्षा मिलती है।

    -कोरोना से संक्रमित व्यक्ति संक्रमण से मुक्त होने के तीन महीने बाद ले सकता है  टीका: सीएस 
    सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा ने बताया डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के आधार पर स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि कोरोना संक्रमण से एक बार ठीक हो चुके व्यक्ति को पुनः एक बार फिर अपनी गिरफ्त में ले सकता है। हालिया रिपोर्ट के अनुसार अभी ऐसा कोई साक्ष्य उपलब्ध नहीं हुआ है जो सत्यापित करे कि कोरोना संक्रमण से संक्रमित हो चुके व्यक्ति दुबारा संक्रमित नहीं हो सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक घर में रहते हुए पूरी तरह से अपने घरों या आसपास में सफाई पर ध्यान देने की जरूरत है। ताकि स्वयं को सुरक्षित रखते हुए कोरोना के संक्रमण से बचा जा सकता है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी निर्देश में यह बताया गया है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति संक्रमण से मुक्त होने के तीन महीने बाद कोरोना का टीका ले सकता है। अगर कोई व्यक्ति टीके का पहला डोज लेने के बाद संक्रमित होता है तो उस स्थिति में भी संक्रमण से उबरने के तीन महीने बाद ही  कोरोना का टीका ले सकता है। टीकाकरण के बाद भी कोविड सुरक्षा मानकों का पालन करना अनिवार्य होगा। क्योंकि कुछ वैसे भी मामले सामने आये हैं। जिसमें कोविड-19 से बचाव के लिए लिए जा रहे टीकाकरण  टीका का दोनों डोज लेने के बावजूद भी कुछ लोग संक्रमण की चपेट में आये।

     

    कोरोना वायरस के संक्रमण से दूर रहने के लिए करें इसका पालन: 
    -नियमित रूप से व्यायाम करें और पौष्टिक आहार ग्रहण करें।
    -घर से बाहर निकलते समय मास्क का उपयोग करें।
    -भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करें।
    -अल्कोहल युक्त हैंडवॉश से हाथों की नियमित रूप से करें सफाई।
    -नशीली पदार्थो का सेवन करने से बचें।