Mumkin hai India

  • Gallery

    लोगों तक परिवार नियोजन की जानकारी पहुँचाने को दम्पति संपर्क पखवाड़ा का आयोजन

    2021-07-01

    पूर्णिया, 01 जुलाई:प्रतिवर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इसके तहत लोगों को परिवार नियोजन की जानकारी देने के लिए  दो चरण में 27 जून से 10 जुलाई तक दम्पति संपर्क व 11 जुलाई से 24 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़े का आयोजन किया गया है। पहले चरण के दम्पति संपर्क पखवाड़ा के तहत स्वास्थ्य कर्मी द्वारा लोगों को घर-घर जाकर परिवार नियोजन की जानकारी दी जा रही है। परिवार नियोजन के प्रति लोगों को जागरूक करने एवं सरकार द्वारा चलायी जा रही सुविधाओं का लोगों को लाभ दिलाने के लिए प्रखंड स्तर पर बैठक का आयोजन कर सभी स्वास्थ्य कर्मियों को ग्रामीण क्षेत्रों तक लोगों को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक करने का निर्देश अधिकारियों द्वारा दिया गया। 

    लोगों को अस्थायी परिवार नियोजन की जानकारी जरूरी: बीडीओ 
    दम्पति संपर्क पखवाड़े के क्रियान्वयन के लिए के.नगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रखंड स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए बीडीओ सतेन्द्र सिंह ने कहा सभी स्वास्थ्य कर्मियों को इस पखवाड़े के दौरान अपने क्षेत्र के योग्य दम्पतियों को परिवार नियोजन के सभी स्थायी व अस्थायी विधियों की जानकारी दी जानी है। ग्रामीण स्तर पर अधिकतर लोगों को परिवार नियोजन के केवल स्थायी विधि महिला बंध्याकरण की जानकारी है। स्वास्थ्य कर्मी द्वारा लोगों को घर-घर जाकर परिवार नियोजन के अन्य साधनों की जानकारी देना जरूरी है। परिवार नियोजन के स्थायी साधनों में पुरुष नसबंदी ज्यादा आसान और प्रभावी है। पुरुष नसबंदी कराने से लोगों की पौरुषता पर कोई फर्क नहीं पड़ता है। इसका लाभ उठाने वाले लोगों को सरकार द्वारा सहयोग राशि भी दी जाती है। इसके अलावा लोग परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों जैसे माला-एन, छाया, ईजी पिल्स, अंतरा, कंडोम आदि का इस्तेमाल बच्चों के बीच अंतर रखने के लिए कर सकते हैं। बीडीओ सतेंद्र सिंह ने कहा लोगों को छोटा परिवार का रखना ही उनके सुखी रहने का बेहतर जरिया हो सकता है। इसलिए लोगों को परिवार नियोजन के साधनों का इस्तेमाल कर जनसंख्या स्थिरीकरण में देश का सहयोग करना चाहिए। 

    चिह्नित  लोगों को जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़े में दिया जाएगा परिवार नियोजन का लाभ: एमओआईसी 
    के.नगर प्रखंड के चिकित्सा प्रभारी डॉ. एस. सी. झा ने कहा ग्रामीण क्षेत्रों में आशा, आंगनबाड़ी, जीविका द्वारा दम्पति संपर्क पखवाड़े मेंचिह्नित दम्पतियों को 11 जुलाई से शुरू हो रहे जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़े में जरूरी लाभ दिया जाएगा। ऐसे लोग जिन्हें परिवार नियोजन के स्थायी साधन या लम्बे समय तक के लिए उपलब्ध अस्थायी साधन का इस्तेमाल करना है उन्हें स्वास्थ्य केंद्र में इसकी सुविधा दी जाएगी। उस दौरान लोग महिला बंध्याकरण, पुरुष नसबंदी, कॉपर-टी जैसी  सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। कोविड-19 संक्रमण से सुरक्षा के लिए स्वास्थ्य केंद्र में अलग-अलग पंचायतों के लिए अलग-अलग दिन निर्धारित किया जाएगा। लोग निर्धारित तिथि पर अपने परिवार नियोजन सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।

    आंगनबाड़ी सेविका करेंगी लोगों को जागरूक: सीडीपीओं 
    क्रियान्वयन बैठक में आईसीडीएस सीडीपीओ रजनी सहाय ने बताया आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा नियमित रूप से लोगों को परिवार नियोजन के लिए जागरूक किया जाता है। जरूरत के अनुसार सेविकाएँ अपने क्षेत्र के लोगों को परिवार नियोजन के साधन भी उपलब्ध कराती हैं। पखवाड़े के दौरान भी सेविकाओं द्वारा घर-घर जाकर लोगों को परिवार नियोजन के लिए जागरूक किया जाएगा और जरूरी साधनों के लिए इच्छुक दंपतियों को सुविधाएं मुहैया कराने में सहयोग किया जाएगा।

    छोटा परिवार रहता है सुखी व सुरक्षित: सनत 
    केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक सनत गुहा ने कहा सरकार द्वारा लोगों को अपने परिवार को व्यवस्थित व नियंत्रित रखने के लिए सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर बास्केट ऑफ़ चॉइस की सुविधा दी गई है। लोग वहां से अपने सुविधा अनुसार परिवार नियोजन सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। इसके अलावा लोग अपने स्थानीय क्षेत्र में सेविका, आशा की भी मदद लेकर इन सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। छोटा परिवार बिल्कुल सुरक्षित व सुखी रहता है। इसलिए सभी को परिवार नियोजन के सुविधाओं का लाभ उठाना चाहिए।

    प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के.नगर में परिवार नियोजन दम्पति संपर्क पखवाड़े के क्रियान्वयन बैठक में बीडीओ, एमओआईसी के साथ सीडीपीओ रजनी सहाय, बीएचएम शकील अंसारी, बीसीएम कंचन कुमारी, केयर इंडिया बीएम शुभम श्रीवास्तव, एचई संजय सिंह आदि उपस्थित रहे।