Mumkin hai India

  • Gallery

    संभावित तीसरी लहर की संभावना को देखते स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार पर टिकी विभाग की निगाहें

    2021-07-01

    अररिया, 01 जुलाई: जिले में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अब दम तोड़ने लगी है। बीते एक सप्ताह के दौरान संक्रमण के महज 12 नये मामले सामने आये हैं। जो यह दर्शाता है कि जिले में संक्रमण की चेन टूटने लगी है। इधर स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा संक्रमण की तीसरे लहर की संभावना व्यक्त की जा रही है। इसे देखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग की निगाहें सतही स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार पर टिकी हैं। इसमें हेल्थ वेलनेस सेंटर की भूमिका को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। हेल्थ वेलनेस सेंटर पर गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग, गर्भवती महिलाओं की एएनसी की सेवाएं, डिलवरी प्वाइंट सहित अन्य जरूरी जांच की सुविधा उपलब्ध है। हेल्थ वेलनेस सेंटर पर स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार जिला व प्रखंड स्तरीय चिकित्सकीय संस्थानों पर मरीजों के दबाव को कम करने के लिहाज से भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। 

    हेल्थ वेलनेस सेंटरों पर होगा स्वास्थ्य सुविधाओं का विकास: सिविल सर्जन
    जिले में 65 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर संचालित हैं। सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने कहा कि महीने में कम से कम दो दिन सभी एचडब्ल्यूसी में विशेष स्वास्थ्य शिविर के आयोजन की तैयारियां चल रही हैं। इसमें वृहत पैमाने पर कोरोना जांच का आयोजन किया जायेगा। इससे कोविड के छिपे मामलों का पता लगाना आसान होगा। ताकि कोरोना रोगियों की समय पर पहचान कर उन्हें बेहतर चिकित्सीय सेवा उपलब्ध करायी जा सके। इससे संभावित तीसरी लहर की संभावना को कम करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से एचडब्ल्यूसी का संचालन प्रभावित हुआ है। इसका संचालन फिर से शुरू होने पर डायबिटीज, हाइपरटेंशन व टीबी जैसे रोगों की ससमय जांच कर इसका समुचित इलाज संभव हो सकेगा। 

    ई संजीवनी के माध्यम से चिकित्सीय सुविधा होगा उपलब्ध: सीएस 
    सिविल सर्जन ने कहा कि हेल्थ वैलनेस सेंटरों पर चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिये ई संजीवनी के माध्यम से ओपीडी सेवाएं उपलब्ध करायी जायेगा। इसमें प्रमुख चिकित्सकीय संस्थानों में बैठे चिकित्सक वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से रोगियों से सीधे जुड़ेंगे। उनकी समस्याओं को सुनेंगे और उचित चिकित्सकीय परामर्श देंगे। 

    कोरोना टीकाकरण के साथ नियमित टीकाकरण पर होगा जोर: डीपीएम 
    डीपीएम रेहान अशरफ ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान नियमित टीकाकरण से जुड़ी हमारी सेवाएं प्रभावित हुई हैं। हालांकि नियमित टीकाकरण के मामले में अभी भी हमारा औसत राज्य के औसत से अधिक है। नियमित टीकाकरण के शतप्रतिशत आच्छादन पर जोर दिया जायेगा। डीपीएम ने कहा हर सप्ताह बुधवार व शुक्रवार सघन नियमित टीकाकरण अभियान व एएनसी जांच का कार्यक्रम संचालित किया जाना है। सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शनिवार को वृहत पैमाने पर कोरोना टीकाकरण का कार्य संचालित किया जायेगा। ताकि टीकाकरण के निर्धारित लक्ष्य को हासिल किया जा सके। 

    अस्थायी परिवार नियोजन उपायों को बढ़ावा देने का होगा प्रयास: 
    विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर 11 जुलाई को सभी हेल्थ वे लनेस सेंटरों पर जागरूकता संबंधी विशेष कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। दो चरणों में संचालित जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा के तहत फिलहाल दंपति संपर्क पखवाड़ा संचालित किया जा रहा है। इसी तरह 11 से 24 जुलाई तक संचालित संचालित जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा के तहत योग्य दंपतियों को परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों को अपनाने के लिये प्रेरित करते हुए इन सेवाओं की पहुंच उन तक सुलभ कराने के लिये विशेष प्रयास किये जायेंगे।