Mumkin hai India

  • Gallery

    मिशन एक लाख अभियान के दौरान सत्र स्थलों में मामूली बदलाव संभव

    2021-06-29

    अररिया, 29 जून: जिलाधिकारी प्रशांत कुमार सीएच के निर्देश पर जुलाई माह के पहले सप्ताह में जिले में आयोजित होने वाले मिशन एक लाख अभियान की सफलता की तैयारी जोरों पर है। विशेष टीकाकरण अभियान के तहत एक दिन में एक लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है।जिलाधिकारी के मुताबिक राज्य सरकार ने छह माह में छह करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगाने का लक्ष्य रखा है। निर्धारित लक्ष्य की सफलता को लेकर प्रत्येक माह जिले में कम से कम दो लाख लोगों को टीकाकृत किया जाना है। इसी क्रम में जुलाई माह के पहले सप्ताह में मिशन एक लाख अभियान का आयोजन किया जाना है। इसकी सफलता को लेकर स्वास्थ्य अधिकारी सहित संबंधित विभागीय अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिये गये हैं। इसे लेकर चल रही तैयारियों की नियमित समीक्षा की जा रही है। साथ ही अभियान की सफलता को लेकर प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं। 

    अभियान के दौरान सत्र स्थलों में मामूली बदलाव संभव: जिलाधिकारी 
    जिलाधिकारी प्रशांत कुमार के मुताबिक मिशन 30 हजार अभियान की अप्रत्याशित सफलता से कर्मियों का मनोबल बढ़ा है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के प्रति आम लोगों में उत्साह व्याप्त है। अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित कराना जिला प्रशासन की प्राथमिकताओं में शुमार है। बहरहाल मिशन एक लाख अभियान की सफलता को लेकर सत्र संचालन से जुड़े मामलों की गहन समीक्षा का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया गया है। ताकि अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण संभव हो सके। इसके लिये पूर्व से चिह्नित सत्र स्थलों में मामूली बदलाव संभव है। 

    सभी सत्र स्थल पर दो सत्र प्रभारी होंगे बहाल: सिविल सर्जन
    सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता के मुताबिक मिशन एक लाख अभियान की सफलता को विस्तृत रणनीति तैयार की जा रही है। सत्र स्थलों पर प्रतिनियुक्त एएनएम को जरूरी मदद उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस बार दो सत्र प्रभारी सभी सत्रों पर बहाल करने का निर्णय लिया गया है। संबंधित क्षेत्र के दो योग्य शिक्षकों को सत्र प्रभारी का जिम्मा सौंपा जायेगा। ताकि सत्र का सफल संचालन किया जा सके। 

    ऑन साइट रजिस्ट्रेशन का होगा इंतजाम: डीपीएम 
    अभियान की सफलता को लेकर चल रही तैयारियों के संबंध में डीपीएम रेहान अशरफ ने बताया कि सत्रों के चयन को लेकर संबंधित बीडीओ, एमओआईसी व सीडीपीओ सहित संबंधित अन्य अधिकारियों के साथ नियमित समीक्षा की जा रही है। उन्होंने बताया कि सभी सत्रों पर लाभुकों के ऑन साइट रजिस्ट्रेशन का इंतजाम सुनिश्चित कराने की कवायद चल रही है। साथ ही डेटा इंट्री ऑपरेटर व सत्र प्रभारियों के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करने के उद्देश्य से जरूरी प्रशिक्षण व कोर्डिनेशन बैठक के आयोजन को लेकर विचार चल रहा है। ताकि जिलाधिकारी के आह्वान पर संचालित विशेष टीकाकरण अभियान को पूरी तरह सफल बनाया जा सके।