Mumkin hai India

  • Gallery

    "योग के साथ रहें, घर पर रहें" थीम के साथ 21 जून को मनाया जाएगा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

    2021-06-19

    मधेपुरा, 19 जून : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का 7वां उत्सव भारत के साथ-साथ दुनिया भर के अधिकांश देशों में 21 जून को नई थीम- “योग के साथ रहें, घर पर रहें” के तहत मनाया जाएगा। वर्तमान कोविड-19 महामारी के चलते अपने अंदर सकारात्मक ऊर्जा और बेहतर रोग प्रतिशोधक क्षमता विकसित करने के लिए योग की महता  और भी अधिक हो गई  है। कोरोना काल में आयुर्वेद के डॉक्टर सहित एलोपैथ एवम् होम्योपैथी आदि के चिकित्सक  भी अपने मरीजों को दवा के सेवन के साथ - साथ योग करने की सलाह दे रहे हैं।  

    योग स्वस्थ  जीवनशैली का अहम हिस्सा : सिविल सर्जन

    जिले के सिविल सर्जन डॉ अमरेन्द्र नारायण शाही कहते हैं कि कोरोना वायरस से बचने के लिए इम्युनिटी  को बढ़ाना बहुत जरूरी है। योग की मदद से इम्युनिटी  को बढ़ाया जा सकता है। रोजाना योग करने से शरीर स्वस्थ रहता है और बीमारियां कोसों दूर रहती हैं । वे कहते हैं कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति चिकित्सीय परामर्श के साथ - साथ उचित मार्गदर्शन में योगासन भी करे तो यह कोरोना के खिलाफ कारगर साबित हो सकता है। वे कहते हैं कि आमजन भी इस कोरोनाकाल में योग को अपनाने पर जोर दे रहे हैं। मनुष्य को अब आंतरिक रूप से मजबूत होने की आवश्यकता है। देखा जा रहा है कि आक्सीजन की कमी को योग क्रियाओं के माध्यम से बढ़ाना कारगर सिद्ध हो रहा है। हालांकि, योग क्रियाएं उचित एवम् सही निर्देशन में हों तो अच्छा साबित होगा। किसी भी परिस्थिति में कोरोना के मरीजों को सबसे पहले साहस बनाकर रखना चाहिए।

    स्वस्थ व्यक्ति भी योग को करें दिनचर्या में शामिल, बढ़ेगी रोग प्रतिरोधक क्षमता -

    सिविल सर्जन कहते हैं कि स्वस्थ्य व्यक्ति को भी अपने दिनचर्या में योग को शामिल करना चाहिए। ताकि, वह आंतरिक और शारीरिक रूप से भी मजबूत बना रहे। सजगता के साथ-साथ शारीरिक मजबूती के जरिए कोरोना से बचा जा सकता है। वे आगे कहते हैं कि योग शरीर को स्वस्थ रखने में बहुत मदद करता है। आजकल की व्यस्त दिनचर्या में जरूरी है कि थोड़ा वक्त खुद के लिए निकाला  जाए। सुबह के समय अगर रोजाना केवल आधे घंटे का समय शारीरिक गतिविधियों पर खर्च किया जाए। बहुत सारी बीमारियों से बड़े ही आसानी से बचा जा सकता है।

    योग के प्रयोग से कोरोना को दें मात, बढ़ाएं रोग प्रतिरोधक क्षमता -

    आजकल सम्पूर्ण विश्व कोरोना जैसी भीषण महामारी का सामना कर रहा है। इस समय शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत रहना अत्यंत जरूरी है क्योंकि यह जितनी ज्यादा मजबूत होगी शरीर को संक्रमित रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है। योग के अभ्यास से इम्युनिटी  को आसानी से बढ़ाया जा सकता है और इन्फेक्शन और वायरस वाले रोगों से लड़ने हेतु तैयार रखा जा सकता है। ऐसे बहुत से आसन, योगासन हैं  जिनसे हम रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा  सकते हैं |