Mumkin hai India

  • Gallery

    टीका को लेकर नगर निगम क्षेत्र में आईसीडीएस कर्मियों द्वारा शत प्रतिशत पूरा किया जाता है लक्ष्य

    2021-06-18

    पूर्णिया, 18 जून: कोविड-19 वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए ज़िले में कोरोना जांच एवं टीकाकरण कार्य लगातार चल रहा है। जिसमें स्वास्थ्य विभाग के द्वारा आईसीडीएस के कर्मियों का सहयोग लिया जा रहा है। जिसको लेकर जिले के सभी प्रखंडों में कार्यरत सीडीपीओ  के द्वारा क्षेत्र में भ्रमण कर महिला पर्यवेक्षिकाओं को अलग-अलग लक्ष्य दिया गया है। जो अपने-अपने पोषक क्षेत्रों की आंगनबाड़ी सेविकाओं से डोर टू डोर जाकर महिला व पुरुषों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रही हैं। जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के द्वारा संयुक्त रूप से आईसीडीएस कर्मियों को प्रतिदिन लक्ष्य निर्धारित कर लाभुकों को टीकाकृत करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है  जिसको लेकर स्थानीय स्तर पर शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा भी किया जा रहा है। सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा के अनुसार आईसीडीएस कर्मियों का पूरा सहयोग मिल रहा है। ज़िले में 45 वर्ष से ऊपर के लाभुकों को टीकाकृत करने के मामले में पूर्णिया जिला को राज्य में पहला स्थान आया है। जबकि 18 वर्ष से लेकर 44 वर्ष तक के लाभार्थियों के मामले में चौथा स्थान प्राप्त हुआ है। नगर निगम क्षेत्र के वार्ड संख्या 17, 18, 19, 20 व 21 में डीपीओ शोभा रानी, पोषण अभियान की जिला समन्वयक निधि प्रिया, सीडीपीओ राजेश रंजन, सेक्टर-02 की महिला पर्यवेक्षिका मनीषा कुमारी एवं ज्योत्सना कुमारी, विजेता रानी, बुलबुल रानी, गुंजन कुमारी सहित कई आंगनबाड़ी सेविकाएं मौजूद थी।

    आईसीडीएस कार्यकर्ताओं के द्वारा स्वास्थ्य विभाग को हर संभव की जा रही है मदद: डीपीओ 
    आईसीडीएस की डीपीओ शोभा रानी ने बताया 18 वर्ष से लेकर 44 वर्ष तक के लोगों को कोविड-19 टीकाकरण कार्य की शुरुआत ज़िले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों के अधीन चयनित स्कूलों में की गई है। ज़िला प्रशासन द्वारा नगर निगम क्षेत्रों में पांच वार्ड को मिलाकर एक नोडल अधिकारी बनाया गया है। ताकि टीकाकरण के दौरान किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं हो। ज़िले के वरीय अधिकारी या नोडल पदाधिकारियों के द्वारा कोरोना टीकाकरण के लिए बनाए गए सत्र स्थलों पर औचक निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया जाता है। जनवरी महीने से ही आईसीडीएस कार्यकर्ताओं के द्वारा स्वास्थ्य विभाग को हर संभव मदद की जा रही है। कोरोना जांच एवं टीकाकरण के लिए सेविकाओं के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। कुछ वैसे भी लोग हैं  जिन्हें किसी तरह से भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो गई है। लेकिन महिला पर्यवेक्षिका व सेविकाओं के द्वारा चिह्नित परिवार के पास जाकर उन्हें समझाया जा रहा है, उसके बाद वे लोग टीकाकरण के लिए तैयार भी हो रहे हैं।

    टीकाकरण कार्य को लेकर सेविकाओं द्वारा लोगों को किया जा रहा है जागरूक: सीडीपीओ
    वहीं पूर्णिया पूर्व प्रखंड के सीडीपीओ राजेश रंजन ने बताया नगर निगम क्षेत्र के सभी वार्डो में 18 वर्ष से लेकर 44 आयुवर्ग के सभी व्यक्तियों को विभिन्न सत्र स्थलों पर कोविड-19 का टीका दिया जा रहा है। इस कार्य में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व कर्मियों को आईसीडीएस के कर्मियों द्वारा शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति के लिए सत्र स्थल पर आवश्यक रूप से सहयोग किया जा रहा है। नगर निगम क्षेत्र में 45 वर्ष से ऊपर के लाभुकों को प्रतिदिन टीकाकरण कार्य सुचारू रूप से डोर टू डोर भ्रमण कर किया जा रहा है। क्षेत्र के कई चयनित स्थलों पर वैश्विक महामारी से बचाव को लेकर सुबह से दोपहर तक कोरोना जांच की जा रही है। 

    टीका लेने से कतरा रही थी लेकिन अब टीका लगाने के बाद दूसरे को कर रही हैं प्रेरित: मनीषा
    पूर्णिया पूर्व प्रखंड की महिला पर्यवेक्षिका मनीषा कुमारी ने बताया नगर निगम क्षेत्र संख्या 19 के निवासी दीपक कुमार की 40 वर्षीय पत्नी रंजू कुमारी कोविड-19 टीकाकरण कराने से डर रही थी। क्योंकि उनको डर था कि टीका लगाने से शरीर को हानि होने के साथ ही और कई तरह की बातें इनके मन में चल रही थी। टीकाकरण के लिए कई बार इनको बुलाया गया था लेकिन हर बार कोई न कोई कारण बताकर टीका नहीं ले रही थीं लेकिन इस बार उन्होंने कोविड टीका ले ली है। हालांकि टीका लगाने के बाद पूरी तरह से स्वस्थ व सुरक्षित हैं। अब दूसरों को भी टीका लेने के लिए प्रेरित कर रही हैं।

    कोविड-19 से बचने के लिए रखना होगा विशेष ध्यान:
    -मास्क का प्रयोग प्रयोग, अपने हाथों को हर आधे घंटे के अंतराल पर साबुन या सैनिटाइजर से करें।
    -सामाजिक दूरी बनाकर करें अपने कार्यो का निष्पादन।
    -अपनी बारी आने पर टीकाकरण अवश्य कराएं।
    -बहुत ज़्यादा जरूरी होने पर ही घर बाहर निकलें।
    -बाहर निकलते समय अपने चेहरे को पूरी तरह ढंक कर ही जाएं।
    -कार्य के दौरान अति आवश्यक वस्तु को ही छूने का करें प्रयास।
    -घर में रहें अनावश्यक रूप से बाहर न निकलें।