Mumkin hai India

  • Gallery

    किशनगंज जिले में दिसम्बर तक 18+ सभी लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित

    2021-06-14

    किशनगंज, 14 जून: जिले में स्वास्थ्य विभाग मरीजों को गुणवत्तापूर्ण तथा सुलभ स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए निरंतर प्रयासरत है। स्वाथ्य विभाग के तमाम अधिकारी एवं कर्मचारियों के साथ हीं नर्स, पारा मेडिकल स्टाफ, आशा, आदि स्वास्थ्य सुविधा बेहतर बनाने के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं। शहर के रचना भवन के सभागार में सोमवार को जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग एवं सामेकित बाल विकास कार्यक्रम की समीक्षात्मक बैठक आयोजित की गई। मासिक बैठक में सिविल सर्जन डॉ श्रीनंदन ने कहा कि प्रखंडवार  कोविड टीकाकरण, मातृत्व स्वस्थ्य, शिशु स्वास्थ्य परिवार कल्याण, किशोर-किशोरी कार्यक्रम, वेक्टर जनित रोग, टीबी नियत्रंण, अंधापन, गैर संचारी रोग, एएनसी जांच, टीकाकरण, संस्थागत प्रसव,अस्पताल में प्रसव से जुड़ी सेवाओं को सुदृढ़ करने का प्रयास किया जा रहा है बैठक में कोरोना टेस्टिंग, ट्रीटमेंट, वैक्सीनेशन के कार्यों पर मुख्य रूप से समीक्षा हुई तथा लक्ष्य अनुरूप टेस्टिंग तथा कोविड वैक्सीनेशन व मानक अनुसार ट्रीटमेंट का निर्देश दिया गया। इसके अतिरिक्त, स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना संक्रमित मरीजों के होम आइसोलेशन में टेलीमेडिसिन समेत चिकित्सकीय सुविधा, मेडिकल किट व जांच, अवेयरनेस, सामुदायिक रसोई से भर्ती कोविड मरीजों के अटेंडेंट को खाना उपलब्ध करवाने आदि बिन्दुओं पर भी विस्तृत समीक्षा  हुई। जिलाधिकारी के द्वारा जिले में दिसम्बर माह तक 18+ सभी व्यक्तियों का सम्पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिले में स्वास्थ्य विभाग की ओर से चलाई जा रही विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों को हर हाल में मिलना चाहिए। उन्होंने बताया कि  इसी क्रम में सदर अस्पताल में डायलिसिस यूनिट, डिजिटल एक्सरे, अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस  ब्लड बैंक, डिलीवरी रूम, सिटी स्कैन एवं 10 शय्या वाले बच्चा वार्ड की सुविधा दी जा रही है।

    कोरोना टीकाकरण को बढ़ावा देने पर जोर:
    जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश ने कहा बैठक का मुख्य उद्देश्य कोविड टीकाकरण की रफ्तार को बढाना है। कुल लक्ष्य को  दिसम्बर माह तक पूर्ण करना है।  टीकाकरण को लेकर आम जन में भ्रम, भ्रांति एवं अफवाह आदि गलत संदेश को दूर करना हम सभी का कर्त्तव्य है। इसे दूर करते हुए टीकाकरण की गति को बढ़ाना है। विगत दिनों धार्मिक गुरु, महादलित समुदाय के गण्यमान्य व्यक्तियों एवं अन्य गण्यमान्य व्यक्तियों के साथ आमजन में टीकाकरण को लेकर फैली भ्रांति को दूर करने तथा लोगों को जागरूक करने एवं उन्हें प्रेरित करने के लिए सकारात्मक बैठक की गई है। जिले में कुल 10 टीका एक्सप्रेस के द्वारा प्रतिदिन शहर एवं ग्रामीण इलाकों के 02 वार्डो में 45+ व्यक्तियों को टीका एक्सप्रेस के द्वारा टीकाकरण किया जायेगा। इसके अलावा बुनियाद केंद्र के वाहन के द्वारा शहर के 18+ के सभी व्यक्तियों  का टीकाकरण किया जा रहा है तथा  टीकाकरण के साथ आमजन को जागरूक भी किया जा रहा है। आमजनों को प्रेरित करने के लिए प्रत्येक वार्ड से 04 शिक्षक एव आंगनबाडी सेविका, सहायिका का सहयोग लिया जाने का निर्देश दिया गया है। टीका एक्सप्रेस के द्वारा केयर के डी टी एल प्रशान्जित विश्वास के मार्गदर्शन में शहर के कुल 34 वार्डो में टीका  एक्सप्रेस चलायी जा रही है। टीका एक्सप्रेस के माध्यम से टीकाकरण की गति को बढाने एवं अधिक से अधिक टीकाकरण हेतु कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश दिया गया है।

    जिले में कुल 195 संक्रमित व्यक्ति हैं, अन्य प्रदेश से आने वाले सभी व्यक्तियों की जांच आवश्यक: 
    सिविल सर्जन डॉ श्रीनंदन ने बताया जिले की रिकवरी रेट अभी भी 97.01 है। उन्होंने कोविड-19 टीकाकरण की  दूसरी रे डोज की प्रगति में तेजी लाने का निर्देश दिया। जिले में प्रतिदिन 8920 योग्य व्यक्ति के टीकाकरण कराने का लक्ष्य के अनुसार सभी सत्र स्थलों पर कार्य करने का निदेश स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य पदाधिकारियों को दिया। जिले में कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए  टीकाकरण केन्द्रों में टीकाकरण अभियान जोर शोर से चल रहा है। वर्तमान में जिले में कुल 130522 लोगों को प्रथम डोज एवं 29010 व्यक्ति को दूसरी डोज़ दी जा चुकी है।

    संक्रमण की तीसरे वेब की पूर्व तैयारी को लेकर निर्देश  
    जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश ने कहा आने वाले समय में संक्रमण के तीसरे वेब की आने की सम्भावना है। उसके लिए जिले में स्वास्थ्य सुविधा को सुचारु रूप से क्रियान्वयन करने हेतु जिले के सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन एवं सभी प्राथमिक चिकित्सा पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किया। जिसमें सातों  प्रखंडों के सभी स्वास्थ्य उपकेन्द्र, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य उपकेंद्रों में कम से कम 10 बच्चो वाला बेड तथा आवश्यक सुविधा उपलब्ध करने का दिशा निर्देश दिया गया है। बैठक में उप विकाश आयुक्त मनन राम, सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन, जिला कार्यक्रम प्रबंन्धक डॉ. मुनाज़िम, जिला समन्वयक विश्वजीत  कुमार, इपिडेमियोलॉजिस्ट रीना प्रवीण, यूनिसेफ के एसएमसी एजाज अफजल, डब्लूएचओ के एसएमओ डॉ.अमित कुमार,केयर के प्रशुनजीत प्रमाणिक, सी -फार के जिला समन्वयक, सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सभी सामेकित बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, सभी महिला पर्यवेक्षिका, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंन्धक, लेखापाल आदि उपस्थित रहे।