वाराणसी: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा कोविड लडाई में सामूहिक एकजुटता की भावना के तहत काशी "/> 

Mumkin hai India

  • Gallery

    वाराणसी: कोविड में छात्रों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता - यूजीसी अध्यक्ष प्रो. डी.पी.सिंह

    2021-06-12

    वाराणसी: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा कोविड लडाई में सामूहिक एकजुटता की भावना के तहत काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में प्राप्त दिशानिर्देशों के तारतम्य में माननीय कुलपति महोदय द्वारा मानसिक स्वास्थ्य, मनोसामाजिक चिंता एवं कल्याण पर पुर्नगठित कोविड टास्क फोर्स कमेटी द्वारा विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा लिए गए अहम फैसले के तहत स्वंय विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया।
    मुख्य अतिथि यूजीसी अध्यक्ष प्रो. डी.पी.सिंह ने इस अवसर पर कहा कि कोविड में छात्रों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। उनका पठन पाठन सुचारू रूप से चलता रहे इसके लिए बेहद जरूरी है उनका मानसिक स्वास्थ्य, ताकि वे प्रतिकूल परिस्थितियों में भी अपना मनोबल बनाये रखे ताकि उनकी चिंता दूर हो सके। आपने कहा कि  यूजीसी ने यूजी और पीजी के करीब 123 कोर्सेज को ओपन ऑनलाइन मोड के माध्यम से ऑफर किया है। जिसके मुताबिक अंडर ग्रेजुएट के 83 और पोस्ट ग्रेजुएट के 40 कोर्सस में दाखिला दिया जायेगा। इसके चलते स्वंय की उपयोगिता बढ गई है।
    काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. वी.के.शुक्ला ने कहा कि कोविड काल में हमें बेहद सावधानी बरतनी चाहिए ताकि हम स्वस्थ रह सके । इस दौरान मानसिक स्वास्थ का विशेष ध्यान रखना जरूरी है ताकि हम पर प्रतिकूल स्थितियां हावी न हो सके और हम प्रसन्न रह सके। उन्होनें छात्रों का आव्हान करते हुए कहा कि वे अपने आप को मनोसामाजिक चिंताओं से मुक्त रखे और कोविड काल में स्वंय को एवं अपने समाज एवं देश की उन्नति में अपना योगदान प्रदान करें।
    तनाव प्रबंधन एवं परामर्श केन्द्र के समन्वयक एवं कमेटी के अध्यक्ष मनोचिकित्सा विभाग के प्रो. संजय गुप्ता ने वेबीनार की अध्यक्षता करते हुए कहा कि जीवन में बहुत उतार चढाव आते है परन्तु समय के साथ सब कुछ अच्छा होता है। कोविड जैसी बीमारी लंबे समय तक चलने वाली नही है, इस दौरान हमें अपने स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्थितियों को भी सकारात्कता के साथ सही रखना होगा ताकि चिंता हम पर हावी न हो सके। आपने कहा कि कमेटी का प्रयास है कि विभिन्न कार्यक्रमों से छात्र लाभान्वित हो सके, इसी क्रम में स्वंय प्लेटफार्म पर बेवीनार छात्रों के लिए उपयोगी होगा।
    मुख्य वक्ता कप्यूटर विभागाध्यक्ष एवं काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के स्वंय कोर्डिनेटर प्रो. विवेक कुमार सिंह ने स्वंय प्लेटफार्म की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुए, उपयोगी शोध पत्रिकाओं की जानकारी भी प्रदान की। इसके अलावा आपने एच इंडेक्स, इंपेक्ट फैक्टर जैसे जटिल विषयों पर भी सरल भाषा में प्रतिभागियों को समझाया एवं उनकी जिज्ञासाओं को शांत किया।
    संचालन डा. संजीव सराफ ने किया, आभार प्रो. के.के.सिंह ने किया।
    इस अवसर चीफ प्राक्टर प्रो. आनंद चैधरी, प्रो. तारा सिंह, प्रो. अखिल मिश्रा, डा. पुष्पा कुमारी मालवीय, डा. अमीता, डा. कृष्ण कुमार सिंह एवं डा. हर्षा सिंह का विशेष योगदान रहा।