Mumkin hai India

  • Gallery

    पूर्णिया: लॉकडाउन अनलॉक के बाद न करें लापरवाही, बिना वजह बाहर निकलने से करें परहेज

    2021-06-11

    पूर्णिया ,11 जून: राज्य सरकार द्वारा लंबे लॉकडाउन के बाद कोविड-19 संक्रमण में पाई जा रही कमी को देखते हुए अनलॉक-1 की शुरुआत कर दी गई है। अब बाजारों में सभी दुकानें एवं प्रतिष्ठान अल्टरनेट दिन के अनुसार सुबह 06 बजे से शाम 05 बजे तक खुल सकती हैं जबकि सभी सरकारी व गैर सरकारी कार्यालय भी 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुल सकती है। सरकारी कार्यालयों में बाहरी आगंतुकों का प्रवेश भी वर्जित रखा गया है। सरकार द्वारा जारी अनलॉक के बाद भी लोगों को अपने बचाव का ध्यान रखना जरूरी है। क्योंकि अभी संक्रमण पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। अगर कोई व्यक्ति अनलॉक की स्थिति में लापरवाही करेंगे तो वह संक्रमण के शिकार हो सकते हैं और खुद के साथ अपने परिवार को भी जोखिम में डाल सकते हैं। अतः लोगों को अनलॉक के बाद भी लापरवाही बरतने से परहेज करते हुए संक्रमण से बचाव का पूरा ध्यान रखना चाहिए। 

    बिना वजह बाहर निकलने से करें परहेज :
    जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित अनलॉक प्रक्रिया में भी संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक गाइडलाइंस जारी की गई है। इसमें दुकानों के अल्टरनेट दिन में खोलने, सार्वजनिक परिवहन में निर्धारित क्षमता से 50 प्रतिशत कम सवारियों के बैठने, रेस्टोरेंट्स या खाने की दुकानों पर लोगों के प्रवेश वर्जित होने के साथ प्रातः 09 बजे से रात्री 09 बजे तक होम डिलीवरी सुविधा देने, विवाह कार्यक्रम, अंतिम संस्कार/श्राद्ध आदि में अधिकतम 20 लोगों के उपस्थित रहने जैसी छूट दी गई है। लोगों को सरकार द्वारा जारी उक्त नियमों को मानते हुए अपने बचाव का ध्यान रखना जरूरी है। लोगों को अनावश्यक बाहर निकलने से परहेज करना चाहिए। किसी विशेष कारणवश बाहर निकलने की स्थिति में भीड़भाड़ वाले स्थलों से दूर रहने, बाहरी वस्तुओं को छूने या लोगों से हाथ मिलाने से परहेज करना चाहिए। विवाह या अंतिम संस्कार जैसे कार्यक्रमों में लोगों से जरूरी दूरी बनाए रखना भी संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी है। जिले में वर्तमान में 167 एक्टिव केस हैं जबकि कोविड-19 संक्रमण से जिले के 126 लोगों की मृत्यु हुई है।

    हमेशा मास्क का प्रयोग जरूरी, करते रहें खुद को सैनिटाइज :
    सिविल सर्जन डॉ. एस. के. वर्मा ने बताया सरकार द्वारा जारी अनलॉक की स्थिति में भी लोगों को कोविड संक्रमण से बचाव का पूरी तरह ध्यान रखना चाहिए। हमेशा मास्क का प्रयोग करें और खुद को सैनिटाइज करते रहें। बाहर निकलने की स्थिति में बाहर से घर आने पर हाथ-पांव अच्छी तरह साफ करने के बाद भी घर में प्रवेश करें। बाहर से पहनकर आए कपड़ों को दुबारा इस्तेमाल करने से पहले सफाई अवश्य करें। 

    कोविड-19 वैक्सीन की दोनों डोज लेना जरूरी :
    सिविल सर्जन डॉ. वर्मा ने कहा संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए लोगों को सरकार द्वारा दी जा रही वैक्सीन जरूर लगवानी चाहिए। लगायी जा रही दोनों वैक्सीन- कोविशील्ड व कोवैक्सीन की दो डोज लिया जाना जरूरी है। कोविशील्ड का दूसरा डोज 84 दिनों के अंतराल पर जबकि कोवैक्सीन का दूसरा डोज 28 दिनों के अंतराल पर दिया जाता है। जिले में 10 जून तक 4 लाख 21 हजार 390 लोगों द्वारा कोविड-19 का टीका लिया गया है जिसमें 3 लाख 56 हजार 529 लोगों द्वारा प्रथम डोज जबकि 64 हजार 861 लोगों द्वारा दोनों डोज लिया जा चुका है। जिले में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोविड-19 टीका लगवाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा टीका एक्सप्रेस भी चलाया गया है जिसके द्वारा लोग अपने स्थानीय क्षेत्रों में ही वैक्सीन लगवा रहे हैं। 18 से 44 वर्ष के लोग अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में कोविड-19 टीका लगवा सकते हैं। सिविल सर्जन डॉ. वर्मा ने बताया जिले में ग्रामीण क्षेत्रों तक स्वास्थ्य अधिकारियों व कर्मियों द्वारा नियमित लोगों को कोविड-19 का टीका लगाने एवं संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी सावधानी बरतने की जानकारी दी जा रही है।