Mumkin hai India

  • Gallery

    किशनगंज: संक्रमण की स्थिति में हो रहा है सुधार, 09 टीका एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है संचालन

    2021-06-05

    किशनगंज, 05 जून: जिले के नगर परिषद् व शहरी इलाकों में 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों को अब उनके घरों के नजदीक टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से शहरी टीका एक्सप्रेस का संचालन शनिवार से शुरू हुआ। इसके तहत शहर के डे मार्किट स्थित आशालता मध्य विद्यालय एवं जी बी एम स्कूल में वार्ड संख्या 14 एवं 25 के लोगों का टीकाकरण किया गया। टीका एक्सप्रेस का संचालन हर दिन शहरी इलाकों के चिह्नित वार्ड, मुहल्ले में किया जाएगा। जहां पहुंच कर लोगों को टीकाकृत करने का काम किया जाएगा। वहीं  रविवार को टीका एक्सप्रेस मनोरंजन क्लब में टीकाकरण का कार्य करेगी।

    24, 705 युवाओं ने कोविड-19 टीके की पहली डोज ले ली है:
    जिले में संक्रमण की स्थिति में काफी सुधार हो रहा है। इसका श्रेय टीकाकरण एवं लोगों  की जागरूकता को जाता है। कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाव को लेकर लगाए जा रहे कोविड-19 के टीके को लेकर अभी भी लोगों के मन में थोड़ी बहुत असमंजस की स्थिति देखी जा सकती है। जिले में 16 जनवरी से जारी टीकाकरण अभियान में शनिवार तक 114934 लोगों को कोविड-19 टीके की पहली डोज एवं 28784 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है। जिले के सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने बताया खासकर 18 प्लस वाले युवक काफी उत्साहित हैं। शनिवार तक कुल 24, 705 युवाओं ने कोविड-19 टीके की पहली डोज ले ली है। वहीँ 45 वर्ष के ऊपर आयुवर्ग के लगभग 73, 718 लोगों ने पहला डोज लिया हैं। तथा 17322 लोगों ने दूसरी डोज ले ली है। वही टीका एक्सप्रेस के द्वारा कुल 2323 व्यक्ति को टीका दिया गया है।

    जिले में कुल 09 टीका एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है: सिविल सर्जन
    शहरी टीका एक्सप्रेस के संबंध में सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने कहा जिले में सबसे ज्यादा शहर के ही व्यक्ति संक्रमित हुए हैं। यह देखा गया है कि पूर्ण टीकाकरण के बाद संक्रमित हो जाने से ज्यादा तकलीफ नहीं होती है। व्यक्ति जल्द ही ठीक हो जाता है। वहीं शहरी क्षेत्र में 45 साल से अधिक उम्र के अधिकांश लोग अब भी टीकाकरण से वंचित हैं। उन्हें टीकाकरण में विशेष सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से शहरी टीका एक्सप्रेस का संचालन केयर इंडिया की मदद से किया जा रहा है। ताकि लोगों को टीकाकरण की सुविधा उनके घर के नजदीक उपलब्ध करायी जा सके। उन्होंने कहा जिले ग्रामीण इलाकों में पहले से ही आरबीएसके के माध्यम से कुल 07 टीका एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है। सभी प्रखंड के ग्रामीण इलाकों में इसके माध्यम से टीकाकरण सत्र आयोजित किये जा रहे हैं। शहरी इलाके के लोगों को भी ऐसी सुविधा प्रदान करने के लिये इस नयी पहल पर अमल किया जा रहा है। ताकि अधिक से अधिक लोगों को टीकाकृत करते हुए कोरोना संक्रमण से जुड़ी चुनौतियों को कम किया जा सके। 

    शहरी इलाकों में कुल 34 वार्डो में 17 टीकाकरण स्थल का चयन किया गया है: डीटीएल
    इस संबंध में केयर के प्रशान्जित प्रमाणिक ने कहा टीका एक्सप्रेस के माध्यम से टीकाकरण अभियान के संचालन को लेकर विशेष माइक्रोप्लान तैयार किया गया है। जिसके अंतर्गत कुल 34 वार्डो में 17 टीकाकरण स्थल का चयन किया गया है एवं इसमें शहरी क्षेत्रों के अपार्टमेंट, घर, शहरी स्लम बस्ती, सब्जी मंडी, बाजार ,स्ट्रीट वेंडर, महिला आरोग्य समिति, स्वयं सहायता समूह, इत्यादि को सम्मिलित किया गया है।  केयर इन्डिया के आर सी एच कोऑर्डिनेटर सहेली खातून एवं बबलू साह दोनों को टीका एक्सप्रेस में नियुक्त किया गया है। इसके अलावा केयर के डी टी ओ ओन देवाशिष  घोष, नगर परिषद् के पदाधिकारी के संपर्क में हैं। आंगनबाडी सेविका, सहायिका, नगर परिषद् के कर्मचारी सहयोग कर रहे हैं। इसमें विभिन्न समूह के लोगों को शामिल कर सत्र आयोजन को लेकर विस्तृत रूपरेखा तैयार की गयी है। 

    सत्र स्थलों पर आने वाले सभी लाभुकों को किया जा रहा जागरूक एवं टीकाकरण: सीएस
    सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने बताया ज़िले के विभिन्न टीकाकरण केंद्रों पर कोविड-19 वैक्सीन की कमी नहीं है। शहरी क्षेत्रों में टीका एक्सप्रेस वाहन के माध्यम से 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीका लगाया जाएगा। अभी भी कुछ वैसे लाभार्थी हैं जो किसी कारणवश टीकाकरण से वंचित रह गए हैं। ख़ासकर उनलोगों के लिए यह टीका एक्सप्रेस बहुत ज़्यादा कारगर साबित होने वाली है। क्योंकि कोविड-19 वैक्सीनेशन कराने के लिए कुछ खास वर्ग के लोग अभी भी सत्र स्थलों पर जाने से कतरा रहे हैं। जिस कारण शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा नहीं हो रहा है। संक्रमण को कम करने के प्रयासों में जिला प्रशासन लगातार प्रयासरत है। टीका एक्सप्रेस के संचालन को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा माइक्रोप्लान व रूट चार्ट तैयार कर लिया गया है। टीकाकरण सत्र स्थलों पर लाभार्थियों की अधिकाधिक संख्या को लेकर नगर परिषद, समेकित बाल विकास योजना से जुड़े कार्यकर्ता, सामुदायिक कार्यकर्ता, धार्मिक संस्थान एवं अन्य हितधारकों का सहयोग लिया जा रहा है। नगर परिषद द्वारा संचालित कूड़ा उठाव वाहन एवं अन्य माध्यमों से एक दिन पूर्व सत्र स्थलों पर टीकाकरण की जानकारी के लिए माइकिंग सुनिश्चित की जा रही है । टीकाकरण सत्र स्थलों पर सुरक्षा कवच जैसे- मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स की उपलब्धता अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। प्रत्येक टीका एक्सप्रेस का अपेक्षित लक्ष्य प्रतिदिन न्यूनतम 100 लाभार्थी रखा गया है।