Mumkin hai India

  • Gallery

    मधेपुरा: ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीनेशन के लिए 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कर रही हैं प्रेरि

    2021-06-05

    मधेपुरा, 5 जून: गत 26 मई को मधेपुरा जिले के सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण के लिए जिलाधिकारी श्याम बिहारी मीणा ने जिला समाहरणालय परिसर से हरी झंडी दिखाकर कर टीका एक्सप्रेस को रवाना किया था। यह टीका एक्सप्रेस जिले के सभी प्रखण्डों में अपने कार्यक्रम के अनुसार पंचायत स्तर पर पंचायत के तीन गांवों के आंगनबाड़ी केन्द्रों, विद्यालयों, सामुदायिक भवन या अन्य सार्वजनिक स्थान पर एकत्रित 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण कर रही है। टीकाकरण कार्य में आईसीडीएस की सेविका और सहायिका भी अहम भूमिका निभा रही है। आंगनबाड़ी केंद्र पर टीका एक्सप्रेस के पहुँचने पर वहां काम करने वाली आईसीडीएस की आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका आस-पास के घर-घर में जाकर 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक कर आंगनबाड़ी केंद्र तक लाने का काम कर रही हैं। इसके साथ ही वो लोगों के मन में वैक्सीन को लेकर पनपने वाली भ्रांतियों का वहीं समाधान आशा, ए.एन.एम या टीकाकरण दल के अन्य सदस्य के माध्यम से कराती हैं। टीकाकरण दल के सदस्य यह बताते हैं कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए वैक्सीन ही एक मात्र कारगर और स्थायी उपाय है। भारत सरकार के द्वारा हमलोगों के बीच उपलब्ध कराई गई दोनों वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है। 

    कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सभी लोग कराएँ टीकाकरण, टीका एक्सप्रेस का उठायें लाभ:- मो. कबीर अली
    आईसीडीएस के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी मो. कबीर अली ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोग खुद के साथ-साथ अपने परिवार और समाज को कोरोना संक्रमण से मुक्ति दिलाने के लिए कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक अवश्य लगवाएं। अभी जिले के शहरी वार्ड के साथ साथ सभी प्रखण्डों में टीका एक्सप्रेस के माध्यम से पंचायत स्तर पर 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। सभी लोग अवश्य ही कोरोना का टीका लगवाएं। आईसीडीएस की पूरी टीम गांव-गांव में घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीनेशन के लिए जागरूक कर रही है। डी.पी.वो. खुद भी टीकाकरण कार्यक्रम की मॉनिटरिंग के लिए जगह-जगह भ्रमण करते हैं।

    प्रखण्ड स्तर पर सीडीपीओ और पंचायत स्तर पर महिला पर्यवेक्षिका करती हैं टीकाकरण कार्यक्रम की मॉनिटरिंग: 
    जिले के सभी प्रखंडों में कार्यरत आईसीडीएस की बाल विकास कार्यक्रम पदाधिकारी (सीडीपीओ) और पंचायत स्तर पर महिला पर्यवेक्षिका टीकाकरण कार्यक्रम की लगातार मॉनिटरिंग कर रही हैं। ये लोग यह सुनिश्चित करने का काम कर रही हैं कि तमाम भ्रांतियों को दूर कर अधिक से अधिक संख्या में लोग वैक्सीनेशन सेंटर पर आकर कोरोना की वैक्सीन लगवाने के बाद कोरोना वायरस के संक्रमण से खुद को सुरक्षित करने के साथ ही अपने परिवार और समाज को भी कोरोना महामारी की चपेट में आने से बचा सके।