Mumkin hai India

  • Gallery

    अररिया: शहरी टीका एक्सप्रेस को सिविल सर्जन ने दिखाई हरी झंडी

    2021-06-04

    अररिया, 04 जून: शहरी इलाकों में बसे 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों को अब उनके घरों के नजदीक टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। इसे लेकर शहरी टीका एक्सप्रेस का संचालन किया जायेगा। जो हर दिन शहरी इलाकों के चिह्नित वार्ड, मुहल्ले में पहुंच कर लोगों को टीकाकृत करने का काम करेगी। स्वास्थ्य विभाग संबंधित नगर निकाय से परस्पर समन्वय स्थापित कर सत्र आयोजन को लेकर विशेष स्थलों का चयन करेगा। ताकि अधिक से अधिक लोगों को अभियान का लाभ पहुंचाया जा सके। शुक्रवार को सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने शहरी टीका एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर क्षेत्र भ्रमण के लिये रवाना किया। इस क्रम में डीआईओ डॉ मोईज, डीपीएम रेहान असरफ, केयर इंडिया की डीटीएल पर्णा चक्रवती, अररिया पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ ओमप्रकाश, बीएचएम प्रेरणा रानी, केयर के बीएम नीतीश कुमार, यूनिसेफ के बीसीएम जय कुमार झा सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे। 

    लाभुक के घरों के पास उपलब्ध होगी टीकाकरण की सुविधा: सिविल सर्जन
    शहरी टीका एक्सप्रेस के संबंध में जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने कहा जिले में 45 साल से अधिक उम्र के अधिकांश लोग अब भी टीकाकरण से वंचित हैं। उन्हें टीकाकरण में विशेष सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से शहरी टीका एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है। ताकि लोगों को टीकाकरण की सुविधा उनके घर के नजदीक उपलब्ध करायी जा सके। उन्होंने कहा ग्रामीण इलाकों में पहले से ही आरबीएसके के माध्यम से टीका एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है। सभी प्रखंड के ग्रामीण इलाकों में इसके माध्यम से टीकाकरण सत्र आयोजित किये जा रहे हैं। शहरी इलाके के लोगों को भी ऐसी सुविधा प्रदान करने के लिये इस नयी पहल पर अमल किया जा रहा है। ताकि अधिक से अधिक लोगों को टीकाकृत करते हुए कोरोना संक्रमण से जुड़ी चुनौतियों को कम किया जा सके। 

    शहरी इलाकों में बसे 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को होगा लाभ: पर्णा चक्रवर्ती
    इस संबंध में केयर की डीटीएल पर्णा चक्रवती ने कहा टीका एक्सप्रेस के माध्यम से टीकाकरण अभियान के संचालन को लेकर विशेष माइक्रोप्लान तैयार किया गया है। इसमें विभिन्न समूह के लोगों को शामिल कर सत्र आयोजन को लेकर विस्तृत रूपरेखा तैयार की गयी है। राज्य सरकार के स्तर से लाभुकों का डेटा निर्धारित पोर्टल पर अपलोड करने के लिये कर्मी उपलब्ध कराये गये हैं। टीकाकरण के लिये कर्मियों की उपलब्धता स्थानीय स्तर पर उपलब्ध करायी गयी।