Mumkin hai India

  • Gallery

    अररिया: स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर संक्रमित मरीजों की कर रहे हैं स्वास्थ्य जांच

    2021-06-02

    अररिया, 02 जून: होम आइसोलेशन में इलाजरत कोरोना मरीजों की ट्रैकिंग के लिहाज से राज्य सरकार द्वारा जारी हिट कोविड एप काफी मददगार साबित हो रहा है। इसकी मदद से संक्रमित मरीजों के शरीर के तापमान व ऑक्सीजन स्तर की नियमित जांच की जा रही है। इसके लिये संबंधित क्षेत्र की आशा व एएनएम संक्रमित मरीजों के घर-घर जाकर मरीजों का नियमित रूप से स्वास्थ्य जांच कर रही है। साथ ही जरूरत के हिसाब से संक्रमित मरीजों को जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करायी जा रही है। 

    एप की मदद से रोगी के शरीर के तापमान व ऑक्सीजन स्तर पर रखी जा रही नजर: सभ्यसाची 
    जिला अनुश्रवण सह मूल्यांकन पदाधिकारी सभ्यसाची पंडित ने बताया कि होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों की ट्रैकिंग के लिहाज से हिट कोविड एप काफी मददगार साबित हो रहा है। इसके सफल संचालन को लेकर जिले की एएनएम, आंगनबाड़ी सेविका व आशा कार्यकताओं को प्रशिक्षित करते हुए प्रखंडवार विशेष टीम का गठन किया गया है। स्वास्थ्य कर्मी संक्रमितों के घर-घर जाकर संक्रमित मरीजों के ऑक्सिजन स्तर (SPO2) व शरीर के तापमान की जांच करते हुए संबंधित डाटा हिट एप पर अपलोड किया जा रहा है। इस कार्य में संबंधित क्षेत्र के स्वास्थ्य कर्मियों को डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ, केयर इंडिया सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य सहयोगी संस्थाओं का उचित सहयोग प्राप्त हो रहा है। 

    कुल संक्रमित 629 में हिट एप पर टैग हैं 617 मरीज:
    जिले में फिलहाल कोरोना के 629 मरीज होम आइसोलेशन में इलाजरत हैं। इसमें 617 मरीज हिट कोविड एप से टैग हैं। हिट कोविड एप पर मरीजों के ट्रैकिंग के मामले में जोकीहाट, अररिया, रानीगंज, भरगामा व सिकटी प्रखंड का प्रदर्शन बेहतर है। जहां कोरोना के शतप्रतिशत एक्टिव मरीज हिट कोविड एप से टैग से हैं। हिट कोविड एप पर कोरोना मरीजों को टैग करने के मामले में जिले की उपलब्धि लगभग 98 फीसदी है। इसे हर दिन अद्यतन करने का प्रयास जारी है। ताकि ज्यादा से ज्यादा मरीजों को इसका लाभ पहुंचाया जा सके। 

    होम आइसोलेशन के मरीजों के लिये वरदान साबित हो रहा हिट एप: डीपीएम
    जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम रेहान असरफ ने बताया कि होम आइसोलेशन में इलाजरत मरीजों के समुचित स्वास्थ्य जांच के लिहाज से हिट कोविड एप एक वरदान साबित हुआ है। एप के माध्यम से क्षेत्र की एएनएम व आशा द्वारा किया जा रहा कार्य सराहनीय है। उनके सामूहिक प्रयास से इस मामले में बेहतर उपलब्धि संभव हो सका है। उन्होंने कहा होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित मरीजों के शरीर का तापमान व ऑक्सीजन स्तर संबंधी डेटा एप पर अपलोड किया जाता है। इसके आधार पर मरीजों तक जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। एप के उपयोग को लेकर सभी एएनएम व यूजर आईडी व पासवार्ड उपलब्ध कराया गया है।