Mumkin hai India

  • Gallery

    हिट एप्प द्वारा की जा रही होम आइसोलेटेड मरीजों की ट्रैकिंग, दी जा रही स्वास्थ्य जानकारी

    2021-06-01

    पूर्णिया, 01 जून: कोरोना से संक्रमितों के ऑक्सीजन लेवल की जांच में सहयोग के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा हिट एप्प जारी किया गया है। जिसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार द्वारा बिहार के सभी सिविल सर्जन को पत्र द्वारा हिट एप्प के सफ़ल संचालन के लिए गाइडलाइन जारी किया गया है जिसके माध्यम से घर में रह रहे कोरोना मरीजों के तापमान एवं ऑक्सीजन लेवल की जांच कर उपचार मि जा रही है। हिट एप्प एक तरह का डिवाइस हैं जिससे शरीर के ऑक्सीजन लेवल का पता चलता है। जिलों में कोरोना संक्रमण से संक्रमित मरीज़ों को होम आइसोलेशन में रहने वालें संक्रमितों का स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हिट एप के माध्यम से ट्रैकिंग की जा रही है। इसी एप्प के माध्यम से उनका हाल चाल भी पूछा जा रहा है। साथ ही आवश्यकतानुसार आवश्यक चिकित्सा सुविधाएं भी उपलब्ध करायी जा रही हैं।

    कोरोना की लड़ाई में स्वास्थ्य विभाग के साथ अन्य सहयोगी संस्थाओं का कार्य सराहनीय: अपर निदेशक

    स्वास्थ्य विभाग के क्षेत्रीय अपर अपर निदेशक डॉ वीर कुंवर सिंह ने बताया विभाग द्वारा होम आइसोलेट कोरोना मरीजों की ट्रैकिंग के लिए हिट (होम आइसोलेशन ट्रेकिंग) एप्प जारी किया गया है। जिसके सफल संचालन को लेकर जिले के एएनएम, आंगनबाड़ी सेविका एवं आशा कार्यकताओं को पंचायतवार एक टीम बनाई गई थी। साथ ही उक्त पंचायत में होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित मरीज़ों का SPO2 एवं शरीर का तापमान जांच कर कर संबंधित डेटा हिट एप पर टैब के माध्यम से संबंधित एएनएम के द्वारा अपलोड किया जा रहा है। वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौर में स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारी व कर्मियों द्वारा अपने-अपने स्तर से संक्रमित मरीज़ों का उपचार किया जा रहा है। हालांकि किसी भी तरह के उपचार या ट्रैकिंग में आईसीडीएस, आशा कार्यकर्ताओं के अलावा डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ, केयर इंडिया सहित कई अन्य सहयोगी संस्थाओं का सहयोग मिल रहा है। जिसका नतीज़ा आपके सामने दिख रहा है। कोरोना संक्रमण से संक्रमित मरीज़ों को स्वेच्छा के अनुसार उन्हें होम आइसोलेशन मे रखा जा रहा है। 

    मरीज़ों की ट्रैकिंग के लिए बहुत कारगर साबित हो रहा है हिट एप्प: आरपीएम

    क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक नजमूल होदा ने बताया प्रमंडल के सभी सदर अस्पताल, अनुमंडलीय अस्पताल, रेफ़रल अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व एपीएचसी सहित अन्य स्वास्थ्य संस्थानों में कार्यरत एएनएम को जिला स्तर पर प्रशिक्षण दिया गया है। जबकिं प्रखंड स्तर पर बीसीएम के माध्यम से यह प्रशिक्षण दिया जा चुका है। उक्त एप्प का बेहतर तरीके से सफ़ल संचालन को लेकर सभी प्रशिक्षणार्थियों ख़ास कर एएनएम को विस्तृत रूप से जानकारी दी गई हैं। ताकि एएनएम उक्त हिट एप्प का बेहतर तरीके से संचालन कर सकें और मरीजों की ट्रैकिंग का कार्य सफलतापूर्वक हो सके। जिससे  इस वैश्विक महामारी पर विजय प्राप्त कर इसे जड़ से मिटाने में हमलोग कामयाब हो जाये। स्वास्थ्य विभाग द्वारा हिट एप के माध्यम से कोरोना संक्रमितों के शरीर का तापमान लेकर बेहतरीन कार्य करने को लेकर पूर्णिया को ओवरऑल रैंकिंग में 84.90 प्रतिशत मिला है। इसमें और तेजी लाने का स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश दिया गया है।

    हिट एप्प द्वारा ट्रैकिंग में लाई जा रही तेजी: डीपीएम 
    डीपीएम ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कोरोना संक्रमित मरीज़ों के शरीर का तापमान लेने के लिए हिट एप्प का उपयोग वरदान साबित हुआ है। इस एप्प माध्यम से एएनएम द्वारा किया गया कार्य बहुत ही सराहनीय है। स्वास्थ्य कर्मियों की मेहनत के फलस्वरूप में ज़िले को ट्रैकिंग में 84.90 प्रतिशत मिला है। इसमी और टीएजी लाई जा रही है जिससे पूर्णिया अपने शत प्रतिशत की सफलता सुनिश्चित कर सके। उन्होंने बताया हिट एप्प के माध्यम से होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित मरीज़ों के शरीर के तापमान को माप करने के बाद अपलोड करना पड़ता हैं। उक्त एप के पेज खोलने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्गत यूजर आईडी व पासवर्ड को लाॅग-इन करना पड़ता हैं। जिले के सभी एएनएम को यूजर आईडी व पासवर्ड उपलब्ध कराया गया है।

    इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर रहें:

    -मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
    -विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करें।
    -गर्म व ताजा खाना का सेवन करें और बासी खाना से बिलकुल दूर रहें।
    -अनावश्यक घरों से बाहर ना निकलें।
    -भीड़-भाड़ वाले स्थलों से परहेज करें।
    -सार्वजनिक समारोह में भाग लेने से बचें।
    -साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करते रहें।