Mumkin hai India

  • Gallery

    विशेष सत्र आयोजित कर मंडल कारा के विचाराधीन कैदियों को लगाया गया कोरोना का टीका

    2021-05-30

    अररिया, 30 मई: मंडल कारा अररिया में बंद सभी विचाराधीन कैदियों का टीकाकारण सम्पन्न हो चुका है। बीते कुछ दिनों से इसके लिये कारा परिसर में ही विशेष सत्र का संचालन किया जा रहा था। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसके लिये विशेष टीम गठित की गई थी। विशेष अभियान के तहत मंडल कारा के लगभग 1100 कैदियों को कोरोना का टीका का पहला डोज लगाया गया। टीकाकारण के कैदियों के जेल प्रशासन द्वारा विशेष पहचान पत्र जारी किया गया था। कुछ के पास आधार कार्ड भी उपलब्ध थे। टीकाकारण अभियान के दौरान किसी स्वास्थ्य कर्मी व कैदी को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिये जेल अधीक्षक जवाहर लाल प्रभाकर लगातार अभियान की मॉनिटरिंग कर रहे थे। 

    विशेष मेडिकल टीम पर था टीकाकरण का जिम्मा: 
    मंडल कारा में आयोजित टीकाकारण अभियान की सफलता का लेकर स्वास्थ्य विभाग के वरीय अधिकारियों द्वारा विशेष मेडिकल टीम का गठन किया गया था। मेडिकल टीम में डॉ नीरज कुमार, मुकेश कुमार मंगेशकर, फार्मासिस्ट सत्येंद्र कुमार, डाटा इंट्री ऑपरेटर हेमंत कुमार हीरा, कक्षपाल गौतम, राम बच्चन दास, धर्मेंद्र सिंह शामिल थे। मेडिकल टीम में शामिल डाटा एंट्री ऑपरेटर हेमंत कुमार ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा प्रभारी डॉ आशुतोष व प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक प्रेरणा रानी वर्मा के निर्देशन में टीम द्वारा मंडल कारा में सफलता पूर्वक टीकाकारण अभियान का संचालन किया गया। 

    संक्रमण से बचाव के लिये टीकाकारण जरूरी: शत्रुघ्न मंडल
    जेलर शत्रुघ्न मंडल ने बताया वरीय अधिकारियों के निर्देश पर मंडल कारा में टीकाकारण अभियान का संचालन किया गया। उन्होनें कहा कोरोना काल में जिंदगी बचाने की जारी जंग में वैक्सीन कारगर हथियार है. वैक्सीन से प्रतिरक्षित लोगों में संक्रमण के गंभीर प्रभाव का खतरा कम होता है। टीका लेने से शरीर में रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता का विकास होता है। जो हमें कोरोना संक्रमण के खतरों से बचाता है। इसलिये टीका के महत्व को देखते हुए सभी कैदियों को टीका लगाया गया है।

     निर्धारित समय पर दिया जाएगा टीका का दूसरा डोज: जेल अधीक्षक
    जेल अधीक्षक जवाहरलाल प्रभाकर ने कहा कि टीका का पहला डोज ले चुके कैदियों को निर्धारित समय पर वैक्सीन का दूसरा डोज भी लगाया जायेगा। उन्होंने कहा की कैदियों के स्वास्थ्य को लेकर जेल प्रशासन बेहद गंभीर है। शुरू से ही मंडल कारा में कोरोना गाइड लाइन का सख्ती पूर्वक अनुपालन किया जाता है। सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान रखा जाता है। कारा के सभी कैदी संक्रमण के खतरों के प्रति सजग हैं। टीकाकारण के बाद भी उन्हें जरूरी सावधानी रखने के लिये सचेत किया गया है।