Mumkin hai India

  • Gallery

    मेडिकल टीम वाहन को जिलाधिकारी ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

    2021-05-25

    पूर्णिया, 25 मई: वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण को जड़ से मिटाने को लेकर स्थानीय जिला प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से लगा हुआ है। लेकिन इसके बावजूद कोरोना जांच या टीकाकरण को लेकर लोगों के बीच जागरूकता की कमी के कारण कुछ वैसे भी ग्रामीण हैं जो तरह-तरह या किसी के बहकावे में आकर कोरोना जांच या टीकाकरण नही करा रहे हैं। जिसको लेकर ज़िला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से संयुक्त रूप से कोरोना जांच व 45 वर्ष से ऊपर आयुवर्ग के लोगों को कोरोना जांच, टीकाकरण के साथ ही जागरूकता लाने के उद्देश्य से समाहरणालय परिसर से जागरूकता रथ को जिलाधिकारी राहुल कुमार व सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा के द्वारा संयुक्त रूप से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक दया शंकर, डीडीसी मनोज कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ सुरेंद्र दास, डीपीएम ब्रजेश कुमार सिंह, एपिडेमियोलॉजिस्ट नीरज कुमार निराला, डीपीआरओ दीपक चंद्र देव सहित कई कई अन्य अधिकारी मौजूद थे।


    -कोरोना से उबरने के लिए टीकाकरण ही एक मात्र विकल्प: जिलाधिकारी 
    जिलाधिकारी राहुल कुमार ने बताया कोविड-19 संक्रमण से उबरने के लिए टीकाकरण ही एक मात्र विकल्प है। कोरोना जैसी महामारी से स्थायी रूप से मुक्त होने के लिए जिले में लगातार कोरोना जांच एवं टीकाकरण कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। जिसमें तेजी लाने के उद्देश्य से ज़िला प्रशासन द्वारा 45 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों को कोरोना जांच, टीकाकरण के लिए जागरूकता पैदा करने को लेकर जिला मुख्यालय से पांच वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया है। जो जिले के सभी प्रखंडो के विभिन्न गांवों में जाकर लोगों को कोरोना जांच, टीकाकरण कराने का काम करेगी। इसके अलावा लोगों को जागरूक करने का भी काम किया जाएगा। युद्ध स्तर पर टीकाकरण कराने को लेकर स्थानीय प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग भी पूरी तरह से सजग व तत्पर है। टीकाकरण के शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों एवं कर्मियों की छुट्टी रद्द कर दी गई है। ताकि जल्द से जल्द शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण कराया जा सके। जिससे कि जिले के सभी लोग खुद को सुरक्षित रखते हुए परिवार को सुरक्षित रख सकें। राज्य सरकार के दिशा-निर्देश के आलोक में आज से पूरे जिले में कोविड-19 टीकाकरण अब आपके द्वारा अभियान का शुभारंभ किया गया है। जिसके माध्यम से गठित स्वास्थ्य विभाग द्वारा गठित टीम जिले के सभी गांवों में भ्रमण कर लोगों को टीकाकरण के संबंध में जागरूक करने का काम करेगी।


    -मेडिकल वाहन के माध्यम से ग्रामीण स्तर पर लोगों को टीकाकरण के लिए सत्र स्थल पर जाने की नहीं होगी जरूरत: 
    सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा ने बताया जिले में कोविड-19 टीकाकरण अब आपके द्वारा अभियान का शुभारंभ समाहरणालय परिसर से किया गया है। इस अभियान के तहत जिले के सभी अनुमंडल स्तरीय, रेफ़रल अस्पताल, सीएचसी, पीएचसी, एपीएचसी सहित  कई अन्य अस्पतालों से समन्वय स्थापित कर गांव-गांव भ्रमणशील कार्यक्रम के तहत टीकाकरण के लिए जागरूक किया जा रहा है। ताकि ससमय शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा किया जा सके। राज्य सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन के अनुसार इस तरह के अभियान का शुभारंभ किया गया है। समाज के हर तबके के लोगों को टीकाकरण कराने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो।मेडिकल वाहन के माध्यम से ग्रामीण स्तर पर लोगों को टीकाकरण के लिए सत्र स्थल पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। क्योंकि अब आसानी से अपने घर पर ही कोरोना का टीका लगवाया जा सकता है। इससे ना सिर्फ लोगों को वैक्सीन लेने में आसानी होगी बल्कि वैक्सीनेशन अभियान में भी गति आएगी। जिससे  शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा भी किया जा सकता है। इस अभियान के तहत खासकर सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को प्राथमिकता के आधार पर चलंत वैक्सीनेशन शिविर लगाकर लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। क्योंकि अभी भी कुछ वैसे भी लाभुक हैं जो किसी कारणवश टीकाकरण केंद्र पर जाने में असमर्थ हैं या कोई साधन नही है तो उनके लिए यह टीकाकरण वाहन मिल का पत्थर साबित होगा।

    इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर: 
    -मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
    -अपनी बारी आने पर निश्चित रूप से कराएं टीकाकरण।
    -कोरोना से संबंधित लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जांच आवश्य कराएं।
    -अनावश्यक रूप से अपने घरों से बाहर नहीं निकलें और भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
    -सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।
    -कोरोना गाइडलाइन का पालन करें और दूसरों को भी प्रेरित करें।