Mumkin hai India

  • Gallery

    किशनगंज: जिले में 18 से 44 आयुवर्ग के 1839 का हुआ टीकाकरण, सिविल सर्जन ने किया निरीक्षण

    2021-05-12

    किशनगंज , 12 मई: जिले में संक्रमण के नये मामलों का मिलना जारी है। कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग लगातार कदम उठा रहा है। इसी दिशा में सदर अस्पताल टीकाकरण केंद्र को आंबेडकर टाउन हॉल में स्थानान्तरित कर दिया गया है  । दरअसल, जब से 18 साल से अधिक उम्र के युवाओं को कोरोना का टीका देना शुरू किया गया है, तब से सदर अस्पताल स्थित टीकाकरण केंद्रों पर काफी संख्या में भीड़ उमड़ रही थी। इसके अलावा सदर अस्पताल में कोरोना जांच व इलाज भी होता है। इस कारण भी वहां भीड़ उमड़ती है। स्वास्थ्य विभाग ने एहतियातन यह कदम उठाया है।इन बढ़ते मामलों के बीच आंबेडकर टाउन हॉल परिसर में किये जा रहे कोविड टीकाकरण कार्य का निरीक्षण सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन के द्वारा प्रातः 11 बजे किया गया। जहां सुबह से ही जिले के युवा कोविड वैक्सीन की  पहली  डोज ले रहे थे। जिले में पूर्व से 45 या उससे अधिक आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण कई टीकाकरण सत्र स्थलों पर पहले की तरह जारी है। वहीं 10 मई से 09 सत्र स्थ्लों पर 18+ आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण आरंभ कर दिया गया है। आज तक जिले में  82972 व्यक्ति को प्रथम तथा 27955 व्यक्ति को दूसरा डोज दिया गया है| जिसमें  18 से 44 वर्ष के कुल 1839 युवा का टीकाकरण किया गया है |
     
    सिविल सर्जन ने लोगों से प्रतिबंधों का अक्षरशः पालन करने का किया अनुरोध:

    सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने जिले वासियों से जिला प्रशासन द्वारा लगाये गये प्रतिबंधों का अक्षरशः पालन करने का अनुरोध किया है । उन्होंने कहा यह प्रतिबंध आपको कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए लगाये गये हैं। आवश्यक होने पर ही घर से बाहर दोहरा मास्क लगाकर निकलें। बाहर निकलने की स्थिति में संयम बरतें एवं  भी़ड़-भाड़ से बचें। याद रखें आप अपने आवश्यकता का सामान लेने निकलें है न कि कोरोना से संक्रमित होने। आपके द्वारा बरती गई लापरवाही आप पर ही नहीं बल्कि आपके परिवार के अन्य सदस्यों पर भी भारी पड़ेगी। यदि आप परिवार के ऐसे सदस्य हैं जो किसी अन्य रोग से ग्रसित हैं तो बाहर न निकलनें और अनावश्यक भीड़-भाड़ से बचें।

    कोरोना के शुरुआती लक्षण दिखते ही करायें अपना कोविड टेस्ट:

    सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने  अनुरोध किया कि यदि किसी को कोरोना के शुरुआती  लक्षण जैसे- सर्दी, खांसी, बुखार, स्वाद एवं सुगंध कम लगना, अत्यधिक थकान एवं कमजोरी आदि हो तो यथाशीघ्र अपने निकटतम सरकारी स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर अपना कोविड टेस्ट  जरूर करवायें, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि ये लक्षण आपमें कोरोना के हैं अथवा नहीं। ताकि समय रहते आपको उचित चिकित्सीय सुविधा प्रदान करते हुए बचाया जा सके। देर होने पर समस्या की गंभीरता बढ़ सकती है।
    सामाजिक दूरी का किया गया पालनः 
    जिला के सभी  टीकाकरण केंद्रों पर बुधवार  को सामाजिक दूरी का पालन किया गया। लोगों को दो गज की दूरी का पालन कराया गया। कोरोना का टीका लेने के लिए आने वालों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है। इसके अलावा सभी स्वास्थ्यकर्मियों से भी कोरोना की गाइडलाइन का पालन हर हाल में करने के लिए कहा गया है। वे लोग केंद्रों पर ऐसा करते दिखे भी।

    टीकाकरण के बाद 30 मिनट तक की गई निगरानीः 
    सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने बताया  कोरोना टीका लेने वाले लाभुकों की 30 मिनट तक निगरानी की गई। टीका पड़ने के बाद स्वास्थ्यकर्मी 30 मिनट तक स्वास्थ्यकर्मियों की देखरेख में रहे। सभी कुछ सामान्य रहने के बाद लाभुकों को जाने दिया गया। जो टीका का पहला डोज लेने आए थे, उन्हें दूसरे डोज समय पर आकर अवश्य लेने को कहा गया। साथ ही जिन लोगों ने बूस्टर डोज लिया, उनका टीकाकरण पूरा हो गया। सिविल सर्जन डॉ श्री नंदन ने बताया  इस दौरान लाभुकों से  28 से 40 दिन के अन्दर टीका का बूस्टर डोज अवश्य लेने की अपील की गई। जो लोग ऐसा नहीं करेंगे, उनका टीकाकरण पूरा नहीं होगा।  उन्होंने बताया काफी तादाद में युवावर्ग टीकाकरण के लिए आ रहे हैं। आज लगातार तीसरे दिन 1000 से अधिक युवाओं को टीके दिए गए। इसके अलावा 45 से अधिक उम्र के लोगों के अलावा छूटे हुए स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी कोरोना के टीके दिए जा रहे हैं। साथ ही कोरोना का बूस्टर डोज लेने वाले लोगों की संख्या भी काफी रहती है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए टीकाकरण केंद्र को सदर अस्पताल से जिला स्कूल शिफ्ट कर दिया गया है।