Mumkin hai India

  • Gallery

    सेवानिवृत्त वायु सेना अधिकारी राखी अग्रवाल ने कहा , कोरोना महामारी में हम सबकी जीत निश्चित।

    2021-05-04

    लखनऊ: राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ, राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, क्षेत्रीय केंद्र,लखनऊ एवं एम. एल. के. पी. जी. काॅलेज, बलरामपुर एवं मुख्यमंत्री जन कल्याणकारी प्र‌‌चार-प्रसार योजना (योग एवं चिकित्सा प्रकोष्ठ) उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्वाधान में चल रहे २१ दिवसीय ऑनलाइन विशेष स्वास्थ्य एवं योग शिविर के सोलहवें दिन की मुख्य अतिथि स्कार्डरन लीडर राखी अग्रवाल सेवानिवृत्त वायु सेना अधिकारी ने कहा कि जीत निश्चित है यदि हमने हार नहीं मानी, इस कोरोना महामारी में हम सब को स्वयं की सुरक्षा को सुनिश्चित करते हुए दूसरों की मदद करनी चाहिए, आप जितना ज्यादा हो सके दूसरों की मदद करें, ईश्वर उससे भी ज्यादा आप की मदद करेगा। स्कार्डरन लीडर राखी जी ने सभी प्रतिभागियों से अपने घर के एक निश्चित सीमा में सहयोग अभियान चलाने की अपील की। बेबिनार की अध्यक्षता कर रहे महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ के संस्थापक महानिदेशक प्रो. ग्रुप कैप्टन ओ. पी. शर्मा ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि कोरोना जैसे अज्ञात शत्रु से निपटना हैं तो हमें "एम. डी. एच."(मास्क,सैनेटाइजर एवं हैण्ड वाश) एवं "मैं हूं ना" पर ध्यान देना होगा। ग्रुप कैप्टन शर्मा ने भाग ले रहे सभी प्रतिभागियों को बताया कि सोशल मीडिया के किसी भी संदेश को बिना पुष्टि किए कभी भी अग्रसारित न करें। गलत जानकारी दूसरों के लिए अत्यंत हानिकारक सिद्ध हो सकती है साथ ही २१ दिवसीय बेबिनार की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस प्रकार के बेबिनार इस कोविड की लड़ाई में मील का पत्थर साबित होंगे। इस अवसर पर बेबिनार की ‌विशिष्ट अतिथि श्रीमती ओम सिंह, अध्यक्ष, चैतन्य वेल्फेयर फाउण्डेशन, लखनऊ ने कहा कि कोरोना की इस विश्वव्यापी में हमें प्रकृति संरक्षण पर भी विशेष बल देना होगा, ज्यादा से ज्यादा पेड़-पौधे लगाकर इस धरा को हरियाली से परिपूर्ण करना हम सबका प्रथम कर्तव्य होगा। श्रीमती सिंह ने ऑक्सीजन की समय से आपूर्ति न हो पाना भारत के लिए बहुत दुःखद बताया। योग, प्राणायाम एवं पौष्टिक भोजन के विषय में भी जानकारी दी। श्रीमती कस्तूरी सिंह, विशिष्ट अतिथि एवं सामाजिक कार्यकर्ता ने कहा कि सकारात्मक सोच स्वयं में एक बहुत बड़ी औषधि है, साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में जन जागरुकता पर प्रकाश डाला एवं कहा कि अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। मानसिक स्वास्थ्य को बहुत महत्वपूर्ण बताया। डॉ कीर्ति विक्रम सिंह, सहायक क्षेत्रीय निदेशक, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, लखनऊ ने बेबिनार के शुभारंभ में सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत एवं आभार व्यक्त किया। श्री सपन अस्थाना, आयोजक सचिव एवं अधिष्ठाता शैक्षणिक, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ ने जानकारी देते हुए बताया कि २१ दिवसीय सायं कालीन प्रेरणाप्रद व्याख्यान प्रतिभागियों को बहुत ही लाभदायक सिद्ध हो रहा है। कार्यक्रम के अंत अनन्या परिहार ने जटिल योगासन का प्रदर्शन कर सभी प्रतिभागियों का मन मोह लिया। इस अवसर पर श्रीमती दीपा श्रीवास्तव, डॉ नीरज जैन, डॉ अंकित श्रीवास्तव सहित विभिन्न गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।